breaking_news Home slider देश राजनीति

नोटबंदी के विरोध में विपक्ष की आज ‘देशभर’ में ‘आक्रोश रैली’; भारत बंद का आह्वान

साभार- गूगल

नई दिल्ली, 28 नवंबर: संसद में लगातार पीएम मोदी के नोटबंदी वाले फैसले पर विरोध करने के बाद अंतत: आज यानि सोमवार को देशभर में आक्रोश रैली निकालने की योजना की गई है।

गौरतलब है कि पहले विपक्ष इसे भारत बंद का नाम दे रहा था वहीं अब सभी अलग-अलग सुरर अलाप रहे है। कांग्रेस, टीएमसी और आम आदमी पार्टी ने कहा है कि वह भारत बंद नहीं करना चाहते, इसलिए देशभर में आज विरोध प्रदर्शन करके आक्रोश रैली निकाली जाएगी। कांग्रेस ने अपने विरोध प्रदर्शन को जन आक्रोश दिवस के रूप में मनाने का एलान किया है।

दूसरी ओर टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकाता में दिन में 1 बजे नोटबंदी के खिलाफ मार्च निकालेंगी। प्राप्त खबरों के अनुसार इसमें लगभग तकरीबन एक लाख लोग शामिल हो सकते है,  दूसरी ओर दिल्ली की आप सरकार सेंट्रल पार्क में विरोध करेगी।

जहां एक ओर वामपंथी दल नोटबंदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे है वहीं जेडीयू ने एक अलग सुर छेड़ा है। अपनी सहयोगियों से अलग जेडीयू के मुखिया और बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार की पार्टी नोटबंदी के खिलाफ किए जा रहे जन आक्रोश बंद में शामिल नहीं होगी बल्कि नीतिश कुमार ने कहा है कि वह नोटबंदी का समर्थन करते है। बीजू जनता दल (बीजद) भी विरोध के पक्ष में नहीं है। राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने नोटबंदी के फैसले को सही बताया है।

पिछले सप्ताह विपक्ष ने संसद में नोटबंदी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान की मांग करते पूरे हफ्ते कार्यवाही बाधित रखी. लोकसभा में विपक्ष ने बहस के साथ वोटिंग की मांग भी रखी. लेकिन सरकार ने उनकी सारी मांगें ठुकरा दी. विपक्ष का कहना है कि कालेधन को बाहर निकालने के लिए नोटबंदी के फैसले का वे समर्थन करते हैं, लेकिन सरकार ने बिना तैयारी के यह कदम उठाया, जिससे आम नागरिकों को भारी परेशानी हो रही है।

ध्यान दें कि नोटबंदी के मुद्दे पर संसद में पिछले सप्ताह कार्रवाही बाधित रही है क्योंकि विपक्ष प्रधानमंत्री से सदन में बयान देने को कहता रहा लेकिन पीएम मोदी ने हमेशा जनता के बीच सदन के बाहर ही बयानबाजी की। विपक्ष का कहना है कि उसका विरोध बिना तैयारी के नोटबंदी का फैसला जल्दबाजी में लेने पर है क्योंकि जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, वर्ना नोटबंदी के फैसले का वे समर्थन करते है। कांग्रेस के जयराम रमेश ने आरोप यह फैसला राजनीतिक कदम है, लेकिन भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के रूप में इसे सरकार द्वारा भुनाया जा रहा है।

 

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment