breaking_news Home slider देश राजनीति

राबड़ी का मोदी पर आपत्तिजनक बयान, कहा-मोदी जी नीतीश कुमार को उठाकर ले जाएं और अपनी बहन से शादी करा दें

लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी(साभार-गूगल)

पटना, 29 नवंबर:  राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद की पत्नी और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर एक आपत्तिजनक बयान दिया है। बयान के तूल पकड़ लेने के बद उन्होंने सफाई दी है। इस बीच भाजपा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जवाब मांगा है। बिहार विधानमंडल परिसर में पत्रकारों द्वारा नीतीश और उनके राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल होने की खबर के विषय में पूछे जाने पर राबड़ी ने कहा, “मोदी जी नीतीश कुमार को उठाकर ले जाएं और अपनी बहन से शादी करा दें।”

वैसे यह कोई पहला मामला नहीं है, जब राबड़ी ने ऐसा आपत्तिजनक बयान दिया है। इसके पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जद (यू) नेता ललन सिंह को लेकर भी पूर्व मुख्यमंत्री आपत्तिजनक बयान दे चुके हैं। यह मामला अदालत तक भी पहुंचा था।

इस मामले ने जब तूल पकड़ा तब राबड़ी देवी ने सफाई दी और कहा कि वह तो मजाक कर रही थीं। उन्होंने कहा, “मुझसे मीडिया वालों ने कहा कि सुशील मोदी कह रहे हैं कि नीतीश कुमार राजद से संबंध तोड़कर भाजपा में आ जाएं, तो हमने कहा कि मोदी जी नीतीश को गोदी में उठा लिजिए, तो इसमें कौन-सी आपत्ति है? थोड़ा हंसी-मजाक कर लिया, बस। सभी करते हैं न।”

भाजपा के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राबड़ी देवी के इस बयान को नीतीश कुमार के चरित्र से जोड़कर देखा है।

उन्होंने कहा, “इस बयान के द्वारा मुख्यमंत्री के चरित्र पर प्रश्न उठाया गया है। ऐसे में मुख्यमंत्री को खुद इस बयान पर जवाब देना चाहिए।”

उन्होंने कहा, “वैसे पूर्व मुख्यमंत्री के लिए यह कोई पहला मामला नहीं है। इसके पूर्व भी वह नीतीश कुमार और ललन सिंह के रिश्ते के लेकर आपत्तिजनक बयान दे चुकी हैं। यह मामला अदालत में भी पहुंचा था। बाद में मंत्री ललन सिंह ने मामले को वापस ले लिया।”

सत्ताधारी महागठबंधन में शामिल जनता दल (युनाइटेड) के नेता श्याम रजक ने कहा कि सार्वजनिक जीवन में संयम, अनुशासन में रहना चाहिए। ऐसा नहीं करने वालों को जनता भी नकार देती है।

–आईएएनएस

 

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment

अन्य ताजा खबरें