breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

अयोध्या केस 28वां दिन : देशभर में माहौल बनाकर मस्जिद को गिराया गया

ayodhya-case-hearing-in-supreme-court-news-updates-in-hindi-on-28th-days

नई दिल्ली (समयधारा), अयोध्या केस 28वां दिन : देशभर में माहौल बनाकर मस्जिद को गिराया गया l 

अयोध्या मामले में सुनवाई जारी है l इस सुनवाई का आज 28वां दिन था l अब अगली सुनवाई सोमवार को होगी l

मुस्लिम पक्षकार के वकील राजीव धवन ने आज कोर्ट में कहा की 1985 में एक न्यास बनाया गया l

फिर देश भर में कार सेवकों द्वारा आंदोलन चलाया गया और विश्व हिंदू परिषद ने आंदोलन को संगठित कर गति दी

और फिर देश भर में मस्जिद के खिलाफ माहौल बनाया गया और 1992 में बाबरी मस्जिद को गिराया गया

ताकि हकीकत को मिटाया जा सके और मंदिर बनाया जा सके। 

बाबरनामा में इस बात का जिक्र है कि बाबरी मस्जिद बाबर ने बनवाई थी। अभिलेखों से साफ है कि मस्जिद बाबर ने बनवाई थी।

अभिलेखों में साफ है कि बाबर ने ही मस्जिद बनवाई थी। जफरयाब जिलानी ने पहले ही दलील दी है कि 1855 से पहले वहां कुछ नहीं था। 

मुस्लिम पक्षकारों का पक्ष रखते हुए राजीव धवन ने एक के बाद एक दलीलें दी,

जिसमें उन्होंने शूट नंबर पांच के वादी यानी रामलला की दलीलों पर पक्ष रखा और कहा की दलील दी जा रही है कि,

राम जन्मभूमि न्यायिक व्यक्ति हैं इसका मकसद ये है कि वहां से उन्हें न हटाया जाए।

जन्मभूमि को कानूनी व्यक्ति बनाने के संदर्भ में मकसद ये है कि जन्मभूमि को कहीं और शिफ्ट नहीं किया जा सकता।

ayodhya-case-hearing-in-supreme-court-news-updates-in-hindi-on-28th-days

भगवान विष्णु स्वयंभू हैं। वहीं यहां पर भगवान राम के स्वयंभू होने की दलील पेश की जा रही है और कहा जा रहा है

कि भगवान राम सपने में आए थे और बताया कि उनका जन्मस्थान कौन सा है। ये विश्वास के लायक बातें हैं क्या?

जब जस्टिस एसए बोबडे ने मस्जिद में मिलें  संस्कृत में लिखे शिलालेख और अभिलेख के बारें में  मुस्लिम पक्षधार राजीव धवन से पूछा तो

राजीव धवन ने इस पर पक्ष रखते हुए कहा कि मस्जिद हिंदुओं और मुस्लिम दोनों ही श्रमिक ने बनाए थे।

ऐसे में ऐसा हो सकता है काम खत्म होने के बाद वह खुद संस्मरण के तौर पर संस्कृत में लिखकर जाते हों।

लेकिन पारसी और अरबी में वहां ढांचे में अल्लाह भी लिखा हुआ था। बाबरनामा के तमाम संस्करण में कहा गया है 

कि मस्जिद बाबर ने ही बनवाया था और ढांचा में कई जगहों पर अल्लाह लिखा था।

अभी तक अयोध्या मामले में 28 दिन तक बहस हो चुकी है, और अब इस पर जल्द ही सुनवाई ख़त्म होने वाले है l

व इसपर फैसला नवंबर तक आने की उम्मीद है l 

ayodhya-case-hearing-in-supreme-court-news-updates-in-hindi-on-28th-days

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: