breaking_newsHome sliderदेशराज्यों की खबरें

BHU में धरना-प्रदर्शन कर रहें छात्र-छात्राओं पर पुलिस का लाठीचार्ज; कुलपति ने कहा-यूनिवर्सिटी को बदनाम करने के लिए षड्यंत्र

वाराणसी/लखनऊ, 24 सितम्बर : वाराणसी के काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के सिंहद्वार पर छेड़छाड़ के खिलाफ दो दिनों से चल रहे छात्राओं के धरना-प्रदर्शन पर पहली बार बीएचयू के कुलपति प्रोफेसर गिरिश चंद्र त्रिपाठी ने घटना को दुखद बताया और कहा कि यह असामाजिक तत्वों का पूर्व नियोजित षड्यंत्र था।  

ये है मामला-

बीएचयू में धरना-प्रदर्शन के उग्र होने की वजह क्या है आपको बताते है कि आखिर मामला है क्या- दरअसल, 21 सितंबर को कुछ फाइन आर्ट्स की छात्राओं के साथ आर्ट्स फैकल्टी के सामने कुछ मनचलों ने छेड़छाड़ की। जब छात्राओं ने इसकी शिकायत यूनिवर्सिटी के एडमिनिस्ट्रेशन से की तो छात्राओं के अनुसार, उन्हें कहा गया कि तुम लोग इतनी देर शाम तक घूम ही क्यों रही हो। क्या तुम लोग रेप होने का इंतजार कर रही हो? बस इसके बाद से इन पीड़ित छात्राओं ने यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और कुलपति से मिलने की मांग की।

पुलिस का लाठीचार्ज बीएचयू की छात्राओं पर (तस्वीर,साभार-गूगल सर्च)
पुलिस का लाठीचार्ज बीएचयू की छात्राओं पर (तस्वीर,साभार-गूगल सर्च)

कुलपति से मिलने की मांग को लेकर ही पीड़ित छात्राएं सिंहद्वार पर धरने पर बैठ गई और पिछले दो दिन से कुलपति से मिलने की मांग को लेकर ये छात्र-छात्राएं प्रदर्शन कर रहे थे। इस प्रदर्शन को उग्र होता देख आज कुलपति ने कहा कि “हमें पता चला है कि बड़ी मात्रा में बाहर से आए लोग इस आंदोलन को हवा देने की कोशिश कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हमें सूचना मिली है कि कुछ असामाजिक तत्व विश्वविद्यालय के माहौल को बदनाम करने का षड्यंत्र रच रहे हैं।” लेकिन इस बीच धरने पर बैठी लड़कियों पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया।

त्रिपाठी ने मीडिया से बातचीत में कहा, “हमारे एक विद्यार्थी के साथ दुर्भाग्यपूर्ण घटना घटी, जिसके बाद हमने सुरक्षा को और सख्त बनाना तय कर लिया और इसके लिए प्रयास भी हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि कैंपस में छात्राओं की सुरक्षा के लिए जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कैंपस को सुरक्षित बनाने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है।” 

उधर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पूरे मामले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है। मुख्यमंत्री के आधिकारिक ट्विटर एकाउंट पर ट्वीट किया गया कि मुख्यमंत्री ने वाराणसी के कमिश्नर से बीएचयू के पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट मांगी है। साथ ही पत्रकारों के साथ हुई घटना को गंभीरता से लेते हुए कमिश्नर वाराणसी से रिपोर्ट देने को कहा गया है।

— आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: