breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेश
Trending

Nirbhaya Case: दोषियों से पूछी गई अंतिम इच्छा,3 दोषी दया याचिका लगाने की जुगत में

निर्भया केस के चारों आरोपियों के वकील एपी सिंह अभी भी चारों दोषियों की फांसी टलवाने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे है

नई दिल्ली:Nirbhaya Case:Convicts last wish ask by Tihar Jail administration : 16 दिसंबर 2012 को पूरे देश को हिलाकर रख देने वाले निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस (Nirbhaya Case) में दोषियों के लिए 1 फरवरी फांसी की सजा नियत हो चुकी है और तिहाड़ जेल (Tihar Jail) प्रशासन ने दोषियों से उनकी अंतिम इच्छा और परिजनों से अंतिम मुलाकात के विषय में पूछा (Nirbhaya Case:Convicts last wish ask by Tihar Jail administration) है।

वहीं दूसरी ओर निर्भया केस के चारों आरोपियों के वकील एपी सिंह अभी भी चारों दोषियों की फांसी टलवाने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे है।

नए घटनाक्रम के अनुसार, शुक्रवार को तीन दोषियों विनय कुमार शर्मा, पवन कुमार गुप्ता और अक्षय सिंह ठाकुर के वकील एपी सिंह (AP Singh) ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में नई याचिका दायर की है।

और कहा है कि तिहाड़ जेल प्रशासन ने अभी तक दया याचिका और क्यूरेटिव पिटिशन दायर करने संबंधित पेपर उपलब्ध नहीं कराए हैं।

अब अगर इन तीनों दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में अपनी सुधारात्मक याचिका फाइल कर दी तो फिर 1 फरवरी को मिलने वाली फांसी की सजा भी टल जाएगी।

Nirbhaya Case:Convicts last wish ask by Tihar Jail administration

इतना ही नहीं, अगर यह याचिका खारिज हो भी गई तो भी तीनों दोषी राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर करके अपनी फांसी की सजा फिर टलवाने में कामयाब हो सकते है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इससे पूर्व तिहाड़ जेल प्रशासन ने चारों दोषियों के परिवारवालों को पत्र लिखकर स्पष्ट कर दिया है कि 1 फरवरी की सुबह 6 बजे दोषियों को फांसी दी जाएगी और परिजन आकर उनसे अंतिम मुलाकात कर सकते है।

हालांकि अभी तक किसी भी दोषी के रिश्तेदार की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है और न ही खुद दोषियों ने अपनी अंतिम इच्छा और वसीयत बनाने से संबंधित सवालों के जवाब ही दिए है।

 

Nirbhaya Case:Convicts last wish ask by Tihar Jail administration

 

 

Tags

Reena Arya

रीना आर्य एक ज्वलंत और साहसी पत्रकार व लेखिका है। वे समयधारा.कॉम की एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर भी है। लेखन के प्रति अपने जुनून की बदौलत रीना आर्य ने न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपने काम के बल पर अपनी पहचान बनाई बल्कि अपनी काबलियत को प्रूव करते हुए पत्रकारिता के पांच से छह साल के सफर में ही अपने बल खुद एक नए ब्रैंड www.samaydhara.com की नींव रखी।रीना आर्य हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने पर विश्वास करती है और अपने लेखन को लगभग हर विधा में आजमा चुकी है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: