breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

Breaking अयोध्या विवाद : SC की 5 दिन की सुनवाई पर मुस्लिम पक्ष का विरोध

नई दिल्ली, 9 अगस्त (समयधारा) : 6 अगस्त से सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि को लेकर रोज सुनवाई जारी है l

पहले यह सुनवाई हफ्ते में 3 दिन चलने वाली थी ,पर अब सुप्रीम कोर्ट में यह सुनवाई 5 दिन चलेगी l

जहाँ हिंदू पक्ष इस फैसले से खुश नजर आ रहा है l वही मुस्लिम पक्ष इस फैसले से खुश नजर नहीं आ रहा l 

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने इसका विरोध किया है।

सुनवाई के दौरान धवन ने कहा कि ऐसी खबरें हैं कि कोर्ट सभी पांच दिन इस केस की सुनवाई करेगा।

राजीव धवन ने इसे लेकर कोर्ट ने अपना विरोध दर्ज कराया। मुस्लिम पक्ष के वकील रजीव धवन ने कहा,

‘ऐसी अफवाह है कि कोर्ट इस केस की सुनवाई के लिए सभी पांच दिन बैठेगी।

यदि सप्ताह के पांच दिन केस की सुनवाई चलती है तो यह अमानवीय होगा और इससे कोर्ट को कोई मदद नहीं मिलेगी।

मुझ पर केस छोड़ने का दबाव बढ़ेगा।’ धवन के इस विरोध पर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने कहा,

‘हमने आपकी चिंताओं को दर्ज कर लिया है, हम आपको जल्द जानकारी देंगे।’ 

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले में रोजाना सुनवाई का फैसला लिया था।

breaking-all-the-updates-of-fourth-day-under-day-to-day-hearing-on-ayodhya-case-in-supreme-court-in-hindi

इसके मुताबिक हफ्ते के मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को सुनवाई के लिए तय किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट में सोमवार और शुक्रवार को नए मामलों की सुनवाई होती है।

परंपरा के मुताबिक संवैधानिक बेंच सप्ताह में तीन दिन मंगलवार, बुधवार एवं गुरुवार को सुनवाई करती है।

हालांकि अब सुप्रीम कोर्ट ने इस केस की हर वर्किंग डे पर सुनवाई की बात कही है। 

लेकिन गुरुवार को हुई सुनवाई के दौरान कोर्ट ने तय किया कि इस केस की सुनवाई हफ्ते के पांचों दिन होगी। 

ऐसा पहली बार हो रहा है, जब संवैधानिक बेंच किसी केस की सप्ताह में 5 दिन सुनवाई करेगी।

कोर्ट का मानना है कि इससे दोनों पक्षों के वकीलों को अपनी दलीलें पेश करने का वक्त मिलेगा,

और जल्द ही इस पर फैसला आ सकेगा। गुरुवार को केस की सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई,

जस्टिस एसए बोबडे, डीवाई चंद्रचूड़, अशोक भूषण और एस. अब्दुल नजीर की बेंच ने वकीलों को हैरान कर दिया,

जब उन्होंने कहा कि वे इस केस की रोजाना सुनवाई करेंगे। संवैधानिक बेंच इस मामले को प्राथमिकता में रख रही है।

breaking-all-the-updates-of-fourth-day-under-day-to-day-hearing-on-ayodhya-case-in-supreme-court-in-hindi

जजों ने फैसला लिया है कि उन्हें केस पर फोकस बनाए रखना चाहिए, जिसका रिकॉर्ड 20,000 पेजों में दर्ज है।

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का एक और हिन्दू पक्ष ने स्वागत किया है वही मुस्लिम पक्ष इसका विरोध कर रहा है l

देखते है सुप्रीम कोर्ट आगे इस पर क्या फैसला लेता है l अभी तक तीन दिन की सुनवाई में हिंदू पक्ष ने अपना पक्ष रखा है l 

इससे पहले गुरुवार की सुनवाई के दौरान ऋग्वेद, श्लोक, नदी तक का जिक्र आया।

तब कोर्ट निर्मोही अखाड़ा और रामलला विराजमान के वकीलों को सुन रहे थे।

 ‘रामलला विराजमान’ का पक्ष सीनियर वकील के परासरन, निर्मोही अखाड़े का पक्ष सुशील जैन रख रहे हैं।

वहीं मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन हैं।

अभी तीन दिनों में मंगलवार – बुधवार व गुरूवार को निर्मोही अखाड़ा ने रामजन्मभूमि पर अपना दावा पेश किया l

निर्मोही अखाड़ा के वकील सुशिल जैन ने कहा की  विवादित भूमि 2.77 एकड़ पर सैकड़ों साल से निर्मोही अखाड़ा का पजेशन रहा है।

साथ ही रामजन्म स्थान का पजेशन भी निर्मोही अखाड़ा के पास रहा है। अंदर का बरामदा निर्मोही अखाड़ा के पास था।

बाहरी बरामंदा भी निर्मोही अखाड़ा के पास था। वह विवाद की जगह नहीं है।  आज भी इस पर बहस सुप्रीम कोर्ट में जारी है l 

breaking-all-the-updates-of-fourth-day-under-day-to-day-hearing-on-ayodhya-case-in-supreme-court-in-hindi

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: