breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूज
Trending

सोने पर हॉलमार्किंग हुआ जरुरी, सभी कारोबारियों को 1 वर्ष का कार्यान्वयन का समय

hallmarking-on-gold-is-necessary-1-year-implementation-time-for-all-traders

नई दिल्ली, (समयधारा) : सोने पर हॉलमार्किंग करना हुआ जरुरी l 

सभी आभूषण निर्माताओं और ज्वैलर को एक वर्ष का कार्यान्वयन का समय देते हुए 15 जनवरी 2020 तक अधिसूचना जारी कर दी जाएगी।

आज केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने एक बड़ी घोषणा की l

15 जनवरी 2020 से अब बिना हॉलमार्किंग की कोई भी दुकानदार सोना बेच नहीं सकता l

उन्होंने ज्वेलर्स को एक साल की मोहल्लत दी है l उन्हें एक साल के अंदर-अंदर इसे लागू करने को कहा है l

जो दुकानदार ऐसा नहीं करेगा उसे जुर्माने के साथ-साथ एक साल का सजा का प्रावधान भी हो सकता है l

उन्होंने कहा

हॉलमार्क लगे सोने के गहनों में शुद्धता की पूरी गारंटी होती है। हर गहने पर हॉलमार्क का निशान,

कैरेट में सोने की शुद्धता और निर्माता का नाम अंकित होगा। BIS द्वारा प्रमाणित किसी हॉलमार्क जांच केन्द्र पर

इसकी शुद्धता की जांच हो सकेगी और स्वर्णाभूषण कारोबार में पारदर्शिता बढ़ेगी।

हॉलमार्किंग अनिवार्य होने के बाद सभी ज्वैलर्स को

के साथ पंजीकरण अनिवार्य होगा और केवल हॉलमार्क वाले सोने के आभूषण और कलाकृतियां ही बेची जा सकेंगी।

इससे ग्रामीण और गरीब ठगी से बचेंगे और ग्राहकों द्वारा खरीदे गये गहनों की सही गुणवत्ता और शुद्धता सुनिश्चित होगी।

आज मैंने सोने के गहनों और शिल्पकृतियों पर सम्पूर्ण भारत में अनिवार्य हॉलमार्किंग लागू करने के लिए रोल आउट योजना की घोषणा की।

इसके तहत सभी आभूषण निर्माताओं और ज्वैलर को एक वर्ष का कार्यान्वयन का समय देते हुए

15 जनवरी 2020 तक अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। 1/3

यह रहा उनका ट्वीट
https://twitter.com/irvpaswan/status/1200399591314616321
इसी के साथ अब सोना बिना हॉलमार्किंग के नहीं मिलेगा l इससे सोने की ब्लैक मार्केटिंग काफी हद तक रुकने की बात की जा रही है l
hallmarking-on-gold-is-necessary-1-year-implementation-time-for-all-traders
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: