breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

भारत को मिला अपना पहला Rafale विमान, इन विशेषताओं से है लैस

36 राफेल जेट विमान वर्ष 2022 तक भारत पहुंच सकते है।

नई दिल्ली: India gets first Rafale Fighter Jet – दशहरा (Dussehra) और एयरफोर्स डे (Air Force Day) के अवसर पर भारत को उसका पहला राफेल लड़ाकू विमान (India gets first Rafale Fighter Jet) मिल गया है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने राफेल लड़ाकू विमान (Rafale Fighter Jet) की डिलीवरी लेकर उनकी शस्त्र पूजा (Shastra Puja) की।

गौरतलब है कि फ्रांस (France) में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बोर्दो में दसॉल्ट एविएशन (Dassault Aviation)

के संयंत्र में पहुंचकर राफेल विमान की डिलीवरी (India gets first Rafale Fighter Jet) ली है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने राफेल लड़ाकू विमान को लेते हुए कहा कि ‘यह एक ऐतिहासिक दिन है।

राफेल विमान भारतीय वायुसेना के लिए बहुत उपयोगी है चूंकि ये लड़ाकू विमान हाई टेक्नोलॉजी से लैस है।

इस विमान की डिलीवरी भारत (India) और फ्रांस (France) के मध्य गहन संबंध दिखाता है।

राजनाथ ने कहा कि भारतीय वायुसेना की क्षमता में राफेल विमान (Rafale Jet) के शामिल होने से और बढ़ोतरी होगी।

ध्यान दें कि भारत और फ्रांस की दसॉल्ट एविएशन के बीच 36 राफेल लड़ाकू विमानों को लेकर डील हुई है।

इनमे से दशहरा के अवसर पर भारत को उसका पहला राफेल विमान (Rafale Jet) मंगलवार को ही मिलेगा।

किंतु चार लड़ाकू विमानों की पहली खेप भारत को अगले वर्ष मई तक मिलेगी।

36 राफेल जेट विमान वर्ष 2022 तक भारत पहुंच सकते (India gets first Rafale Fighter Jet)है।

RafaleFighterJet,RajnathSinghperformShastraPuja_optimized
image credit: Twitter

इसके लिए इंडियन एयरफोर्स (Indian AirForce)जरूरी बुनियादी ढांचा तैयार करने और अपने पायलटों को ट्रेनिंग देने सरीखी जरूरी तैयारियों में कथि रूप से जुटा है।

भारत को आधिकारिक रूप से पहला राफेल फाइटर विमान सौंपे जानने के समारोह में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस पहुंचे

और उन्होंने फ्रांस के राष्ट्रपति एमेनुअल मैक्रों से भी मुलाकात की और दोनों देशों के मध्य डिफेंस और स्ट्रैटजिक रिलेशनशिप को और स्ट्रॉन्ग बनाने जैसे मुद्दों पर चर्चा की।

राफेल विमानों का इस्तेमाल करने वाला भारत चौथा देश बन गया है। उससे पूर्व फ्रांस, मिस्र और कतर के पास भी राफेल है।

राफेल लड़ाकू विमान की विशेषताएं-Features of Rafael Fighter Aircraft

1.राफेल अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगा, प्लेन के साथ मिटिओर मिसाइल भी है।

2.यह विमान दो इंजन से लैस है, जिसे हर प्रकार के मिशन में भेजा जा सकता है।

3.स्कैल्प मिसाइल की रेंज 300 किमी, हथियारों के स्टोरेज के लिए 6 महीने की गारंटी है।

4.150 किमी की बियोंड विजुअल रेंज मिसाइल और हवा से जमीन पर मार वाली स्कैल्प मिसाइल से भी यह लैस होगा ।

5. ज्यादातर स्पीड 2,130 किमी/घंटा और 3700 किमी. तक मारक क्षमता.

6.यह 60 घंटे अतिरिक्त उड़ान की गारंटी देता है और 24,500 किलो भार उठाकर ले जाने में सक्षम है।

7.एक मिनट में 60,000 फ़ुट की ऊंचाई और 4.5 जेनरेशन के ट्विन इंजन से लैस है।

8.राफेल विमान परमाणु हथियार ले जान में समर्थ है। 75% विमान हमेशा ऑपरेशन के लिए तैयार रह सकते हैं

9.इंडियन एयरफोर्स के अनुसार इस विमान में कई फेरबदल किए गए हैं।

गौरतलब है कि भारत ने फ्रांस के साथ तकरीबन 59 हजार करोड़ रुपये कीमत पर 36 राफेल लड़ाकू जेट विमान खरीदने के लिए सितंबर, 2016 में अंतर-सरकारी समझौता किया था।

राफेल में राडार से बच निकलने की युक्ति है चूंकि यह 4.5वीं पीढ़ी का विमान है।

India gets first Rafale Fighter Jet

(इनपुट एजेंसी से भी)

Tags

Reena Arya

रीना आर्य एक ज्वलंत और साहसी पत्रकार व लेखिका है। वे समयधारा.कॉम की एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर भी है। लेखन के प्रति अपने जुनून की बदौलत रीना आर्य ने न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपने काम के बल पर अपनी पहचान बनाई बल्कि अपनी काबलियत को प्रूव करते हुए पत्रकारिता के पांच से छह साल के सफर में ही अपने बल खुद एक नए ब्रैंड www.samaydhara.com की नींव रखी।रीना आर्य हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने पर विश्वास करती है और अपने लेखन को लगभग हर विधा में आजमा चुकी है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: