breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूज

ऑस्ट्रेलिया-जापान सहित 13 देशों के साथ अन्तराष्ट्रीय उड़ाने हो सकती है शुरू : हरदीप सिंह पुरी

ऑस्ट्रेलिया (Australia), इटली (Italy), जापान (Japan), न्यूजीलैंड (New Zealand), नाइजीरिया (Nigeria), बहरीन (Bahrain), इजरायल (Israel), केन्या (Kenya), फिलीपींस (Philippines), रूस (Russia), सिंगापुर (Singapore), दक्षिण कोरिया (South Korea) और थाईलैंड (Thailand) देशों के साथ शुरू हो सकती है फ्लाइट सर्विस

international-flying-may-begin-with-13-countries including-australia-japan hardeep-singh-puri

नई दिल्ली (समयधारा) : एक तरफ समस्त विश्व में कोरोना का जाल फैला हुआ है l

तो दूसरी तरफ इससे उबरने और अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने का काम हर देश में जोरों-शोरों से जारी है l

भारत भी अपने देशवासियों के लिए खासकर वह जो कोरोना के कारण विदेशों में फंसे है,

उन्हें अपने यहाँ लाने के लिए सभी मुमकिन कोशिश कर रहा है l  

भारत के कई नागरिक कोरोना के कारण विदेशों के कई देशो में फंसे है l 

इसी कड़ी में केंद्र सरकार ने इंटरनेशनल फ्लाइट शुरू करने के लिए कुछ देशों से बातचीत भी शुरू कर दी है।

सिविल एविएशन मिनिस्टर (Civil Aviation Minister) हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने कहा कि,

इंटरनेशनल फ्लाइट सर्विस शुरू करने के लिए द्विपक्षीय एयर बबल (bilateral air bubble) व्यवस्था बनाने के लिए 13 देशों के साथ बातचीत शुरू कर दी गई है।

international-flying-may-begin-with-13-countries including-australia-japan hardeep-singh-puri

इन 13 देशों में ऑस्ट्रेलिया (Australia), इटली (Italy), जापान (Japan), न्यूजीलैंड (New Zealand), नाइजीरिया (Nigeria),

बहरीन (Bahrain), इजरायल (Israel), केन्या (Kenya), फिलीपींस (Philippines), रूस (Russia),

सिंगापुर (Singapore), दक्षिण कोरिया (South Korea) और थाईलैंड (Thailand) शामिल हैं।

पुरी ने कहा कि बातचीत जारी रहने से इन देशों में फंसे हुए भारतीय नागरिकों को फायदा होगा।

उन्होंने कहा कि 5 अन्य देशों के साथ एयर बबल का प्रस्ताव भेजा गया है। इन 5 देशों में श्रीलंका (Sri Lanka),

बांग्लादेश (Bangladesh), अफगानिस्तान (Afghanistan), नेपाल (Nepal) और भूटान (Bhutan) शामिल हैं।

international-flying-may-begin-with-13-countries including-australia-japan hardeep-singh-puri

पुरी ने कहा कि उनका मंत्रालय वंदे भारत की मिशन (Vande Bharat Mission) की पहुंच और दायरे को और ज्यादा मजबूत बनाए रखने के लिए जारी रखेगा।

अमेरिका (USA), ब्रिटेन (UK), फ्रांस (France), जर्मनी (Germany), यूएई (UAE) कतर (Qatar)

और मालदीव (Maldives) के साथ एयर बबल समझौता पहले से ही है। 

पुरी ने कहा कि भारत अन्य देशों के साथ भी द्विपक्षीय व्यवस्था (bilateral arrangements) पर विचार करेगा।

अपने हर फंसे हुए नागरिक तक पहुंचने की हमारी हमेशा कोशिश रही है। कोई भी भारतीय छोड़ा नहीं जाएगा।

भारत में इंटरनेशनल फ्लाइट्स की आवाजही कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत के बाद 23 मार्च से ही बंद कर दी गई थी।

करीब दो महीने बाद 25 मई से अपनी डोमेस्टिक सर्विस शुरू कर दी गई।

हालांकि दोबारा चालू होने के बाद से इंडियन डोमेस्टिक फ्लाइट सर्विस में यात्री दर (occupancy rate) 50-60 फीसदी के आसपास रही है।

international-flying-may-begin-with-13-countries including-australia-japan hardeep-singh-puri

फिलहाल भारत में सभी एयरलाइंस को कोरोना वायरस से पहले चल रही डोमेस्टिक सर्विस के 45 फीसदी हिस्से को ही शुरू करने की इजाजत मिली है।

कोरोना महामारी के दौरान सामने आए नए शब्दों में से एयर बबल (air bubble) भी एक है।

इसके तहत दो देशों के वैलिड वीजा वाले यात्री एक-दूसरे के यहां कुछ पाबंदियों का पालन करते हुए बिना परेशानी के यात्रा कर सकते हैं।

यह यात्राएं बिजनेस और पर्यटन, दोनों के लिए हो सकती हैं।

इसका सबसे बड़ा फायदा यात्रियों को यह होता है कि उन्हें डेस्टिनेशन पर पहुंचने के बाद 14 दिन के लिए क्वारंटीन नहीं होना पड़ता है।

हालांकि एयरपोर्ट पर उतरने के बाद उनकी सभी जांच की जाती हैं और पूरा ब्योरा लिया जाता है ताकि आवश्यकता पड़ते ही उन्हें ट्रैक किया जा सके।

international-flying-may-begin-with-13-countries including-australia-japan hardeep-singh-puri

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 − ten =

Back to top button