breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंफैशनलाइफस्टाइल
Trending

जानें कब है हरतालिका तीज, आज या 2 सितंबर को? हरतालिका तीज का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

know-the-date-of-hartalika-teej-shubh-muhurat-and-puja-vidhi

नई दिल्ली, 1 सितंबर (समयधारा) :  हर साल हिंदू धर्म में हरियाली तीज, कजरी तीज और हरतालिका तीज (Hartalika Teej) मनाई जाती है।

तीज को सुहागिनों का त्योहार माना जाता है। इस दिन सुहागिनें शिव-पार्वती की पूजा करते हुए निर्जल व्रत रखती हैं।

इस दिन महिलाएं सुबह सवेरे नित्य कर्म निपटाकर नहा-धोकर पूरे विधि विधान से भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करती हैं।

साथ ही इस दिन भोग के लिए कई व्यंजन बनाएं जाते हैं। करवाचौथ की ही तरह हरतालिका तीज (Hartalika Teej) भी बहुत कठोर उपवास होता है।

ये उपवास सुहागिनें पति की लंबी आयु के लिए करती हैं। पति की दीर्घायु और रक्षा के लिए किए जाने वाले

हरतालिका व्रत (Hartalika Teej) का हिंदु धर्म में बहुत महत्‍व हैं। चलिए जानते हैं हरतालिका तीज कब है, हरतालिका तीज का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि क्या है।

know-the-date-of-hartalika-teej-shubh-muhurat-and-puja-vidhi

हरतालिका तीज की तिथि-When Hartalika Teej

हिन्दू कैलेंडर के मुताबिक, हरतालिका तीज हर साल गणेश चतुर्थी से पहले मनाई जाती है।

ये तीज हस्त नक्षत्र के समय भाद्रपद की शुक्ल पक्ष तृतीया को मनाई जाती है।

आज 1 सितंबर को देशभर में हरतालिका तीज मनाई जाएगी। लेकिन ग्रह और नक्षत्रों की बदलती चाल के कारण

इस बार हरतालिका तीज के त्योहार को लेकर ज्योतिषों में मतभेद है। कुछ का कहना है कि 1 सितंबर को ही हरतालिका तीज है

क्योंकि 2 सितंबर को गणेश चतुर्थी है लेकिन 2 सितंबर को भी तृतीया है और बाद में चतुर्थी शुरू होगी।

ऐसे में ज्योतिषों को मानना है कि जिस दिन तृतीया-चतुर्थी दोनों का योग हो उस दिन व्रत रखा जाता है।

चतुर्थी के दिन तृतीया का होना शुभ होता है। साथ ही हस्त नक्षत्र 2 सितंबर को है। ऐसे में महिलाओं को व्रत 2 सितंबर को रखना चाहिए।

ज्योतिषों का ये भी कहना है कि 1 सितंबर को द्वितीया-तृतीया का योग है जो कि शुभ नहीं है।

आपको व्रत करने से पहले अपने पंडित जी से बात करनी चाहिए।

जानें कब है हरतालिका तीज, कल या 2 सितंबर को? हरतालिका तीज का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
जानें कब है हरतालिका तीज, कल या 2 सितंबर को? हरतालिका तीज का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

हरतालिका तीज पर पूजा का शुभ मुहूर्त – (Hartalika Teej Shubh Muhurat)

01 सितंबर –  सुबह 08 बजकर 27 मिनट से 08 बजकर 35 मिनट।

02 सितंबर – सुबह 4 बजकर 57 मिनट से 08 बजकर 58 मिनट।

know-the-date-of-hartalika-teej-shubh-muhurat-and-puja-vidhi

हरतालिका तीज का व्रत – 

हरतालिका तीज का व्रत निर्जल किया जाता है। दिनभर एक बूंद भी पानी का नहीं पीना होता।

हरतालिका तीज के दिन सूरज उगने से पहले शिवजी और पार्वती जी की सच्चे मन से पूजा की जाती है।

शाम को भी सुहागिनें नए कपड़े पहन कर 16 श्रृंगार करके पूजा-अर्चना करती हैं। यदि आप हरतालिका तीज का व्रत कर रही हैं

तो “उमामहेश्वरसायुज्य सिद्धये हरितालिका व्रतमहं करिष्ये” मंत्र का जाप करते हुए इस व्रत की और पूजा की शुरूआत करें।

हरतालिका तीज के लिए पूजन सामग्री –

हरतालिका तीज की पूजन सामग्री अन्य पूजाओं से थोड़ी भिन्न होती है। आप इस सामग्री को पूजा से पहले एक जगह एकत्रि‍त कर लें-

बेल पत्र, केले का पत्ता, गीली मिट्टी, धतूरे का फल, तुलसी, जनेऊ, 5 तरह के फल, नारियल, शिवजी और पार्वती जी के वस्त्र्,

कलश, चंदन, कपूर, दीपक और बाती, शहद, दूध, दही, चीनी, घी और सुहाग की सभी चीजें सिंदुर, बिंदी, कुमकुम, चूडिंया, मेंहदी, कंघी, काजल, बिछुए इत्यादि।

हरतालिका तीज की पूजा विधि -(Hartalika Teej puja vidhi)

शिवजी और पार्वती जी पर गीली मिट्टी का लेप लगाए और फिर उन्हें गंगाजल, शहद, दूध, दही, चीनी, घी से स्नान करवाएं।

इसके बाद शिवजी और पार्वती जी को वस्त्र धारण करवाएं। पार्वती जी को 16 श्रृंगार करवाएं।

फिर हरतालिका तीज की कथा सुनें। अंत में भूल के लिए माफी मांगते हुए,

सभी देवी-देवताओं को याद करते हुए शिवजी और पार्वती जी की आरती करें और भोग लगाएं। 

know-the-date-of-hartalika-teej-shubh-muhurat-and-puja-vidhi

जानियें Ganesh Chaturthi की पूजा का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

Ganesh Chaturthi :  जानें, गणेश उत्सव में गणपति की स्थापना क्यों की जाती है?

गणेश चतुर्थी : जानें, आखिर क्यों मनाया जाता है गणेश उत्सव

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: