breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

बिहार में NRC का सवाल ही नहीं, CAA पर हो चर्चा : नीतीश कुमार

गौरतलब है कि संसद में नीतीश कुमार नित जडीयू ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का समर्थन किया था

पटना: Bihar Chief minister Nitish Kumar remark on NRC and CAA- बिहार (Bihar) विधानसभा के एक विशेष सत्र में आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Bihar Chief minister Nitish Kumar) ने एनआरसी (NRC) के मुद्दे पर अपनी पार्टी का रुख साफ कर दिया है।

सोमवार को नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार में एनआरसी का सवाल ही नहीं और न ही इसका कोई औचित्य (Bihar Chief minister Nitish Kumar remark on NRC and CAA) है।

नागरिकता संशोधन कानून (Citizen amendment Bill) को लेकर नीतीश कुमार ने कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून पर सदन में बहस होनी चाहिए।

गौरतलब है कि संसद में नीतीश कुमार नित जडीयू ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का समर्थन किया था।

सोमवार को ही विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार से एनआरसी (NRC), एनपीआर (NPR) और सीएए (CAA) पर आधिकारिक बयान देने को कहा था।

हालांकि जडीयू (JDU) के नेता प्रशांत किशोर ने रविवार को ही ट्विट करके स्पष्ट किया था कि नीतीश कुमार न नागरिकता कानून, न एनपीआर और न ही एनआरसी को लागू करेंगे।

लेकिन फिर बाद में CAA के सवाल पर नीतीश कुमार ने स्पष्ट कर दिया था कि राज्य सरकारों का इससे कोई लेना-देना नहीं है।

जो कुछ भी करन है संसद को करना है और इस बाबत जो भी बोलना है 19 जनवरी के बाद ही बोलूंगा।

एनपीआर (NPR) को लेकर नीतीश कुमार ने कहा कि इसके विषय में और जानकारी मांगी जा रही है और एनआरसी (NRC) लागू करने का कोई सवाल ही पैदा नहीं (Bihar Chief minister Nitish Kumar remark on NRC and CAA) होता।

जदयू (JDU) एनडीए (NDA) की सहयोगी पार्टी है और अब इसके मुखिया नीतीश कुमार ने पहली बार खुलकर कहा है कि CAA पर सदन में खुलकर चर्चा होनी चाहिए।

बिहार विधानसभा में कांग्रेस (Congress) और आरजेडी (RJD) ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर एनआरसी (NRC) और सीएए (CAA) को लेकर हमला बोला था।

जिसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज अपना रुख स्पष्ट किया है कि बिहार में एनआरसी का सवाल ही पैदा नहीं होता और न ही इसका कोई औचित्य (Bihar Chief minister Nitish Kumar remark on NRC and CAA)है।

खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने भी इसे असम के संदर्भ में ही बताया है।

 

 

 

Tags

Reena Arya

रीना आर्य एक ज्वलंत और साहसी पत्रकार व लेखिका है। वे समयधारा.कॉम की एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर भी है। लेखन के प्रति अपने जुनून की बदौलत रीना आर्य ने न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपने काम के बल पर अपनी पहचान बनाई बल्कि अपनी काबलियत को प्रूव करते हुए पत्रकारिता के पांच से छह साल के सफर में ही अपने बल खुद एक नए ब्रैंड www.samaydhara.com की नींव रखी।रीना आर्य हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने पर विश्वास करती है और अपने लेखन को लगभग हर विधा में आजमा चुकी है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: