breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीतिलोकसभा चुनाव 2019
Trending

BIMSTEC के राष्ट्राध्यक्षों समेत 8 देशों के नेता शामिल होंगे मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में

पाकिस्तान को नहीं किया आमंत्रित, पुलवामा हमला है बड़ा कारण

नई दिल्ली,27 मई (समयधारा) : एक बार फिर मोदी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में 8 पड़ोसी देश के नेताओं को आमंत्रित किया गया है l 

पीएम नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में BIMSTEC के राष्ट्राध्यक्षों समेत 8 देशों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है। 

बिम्सटेक में भारत समेत दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया के वे 7 देश शामिल हैं, जो बंगाल की खाड़ी से जुड़े हुए हैं।

इन देशों में भारत के अलावा बांग्लादेश, म्यांमार, श्री लंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं l 

इनके अलावा भारत ने किर्गिस्तान के राष्ट्रपति और मॉरीशस के प्रधानमंत्री को भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता दिया गया है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान से भारत ने इस बार दूरी बना ली है l पुलवामा हमले के बाद बालाकोट स्ट्राइक के बाद

पाकिस्तान से हालात पहले जैसे नहीं रहे है l वही मोदी ने इस बार अपना चुनाव देशभक्ति को रखकर लड़ा था l

अगर पाकिस्तान को इनवाइट किया तो मोदी सरकार की नीतियों पर फिर सवाल उठने लगेगे l 

पीएम मोदी ने 2014 में अपने पहले कार्यकाल के लिए शपथ लेने के दौरान सार्क देशों के नेताओं को आमंत्रित किया था।

इसमें पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भी शामिल थे।

इस साल प्रवासी भारतीय दिवस के मौके पर भी मॉरीशस के प्रधानमंत्री चीफ गेस्ट के तौर पर शामिल हुए थे।  

बिम्सटेक देशों के नेताओं को आमंत्रण के संबंध में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि

‘पड़ोसी प्रथम’ की नीति के तहत यह न्योता दिया गया है। हालांकि इस बार पाकिस्तान को दूर रखने का फैसला लिया गया है।

पीएम मोदी दूसरे कार्यकाल के लिए 30 मई को शाम 7 बजे शपथ लेने वाले हैं।

इस दौरान उनके साथ कई मंत्रियों को भी शपथ दिलाई जाएगी। हालांकि किसे कौन सा मंत्रालय मिलने वाला है।

इस संबंध में अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं हुआ है l  गौरतलब है कि पाकिस्तान को शपथ ग्रहण समारोह में नहीं बुलाना

एक तरह से पाकिस्तान को सबक सिखाने जैसा है l  जो भी  हो पर इस बार भी मोदी सरकार का शपथ ग्रहण समारोह शानदार रहने वाला है l 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: