breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीतिराज्यों की खबरें

BREAKING महाराष्ट्र महासंग्राम पर सुप्रीम कोर्ट कल 10.30am बजे फैसला देगा

मुकुल रोहतगी : एक पवार हमारे पास है और एक पवार कोर्ट गए, पवार परिवार में जो हो रहा है उनसे हमें लेना-देना नहीं

breaking-news-ncp-shivsena-congress-plea-hearing-supreme-court-decision-tomorrow

नई दिल्ली,(समयधारा) : सुप्रीम कोर्ट ने फ्लोर टेस्ट के लिए समय दिया l 

अजीत पवार के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में कहा की मैं ही एनसीपी हूँ, मेरे पास सभी विधायको के हस्ताक्षर l

उन्होंने आगे कहा की कोर्ट को राज्यपाल को निर्देश नहीं करना चाहियें l

राज्यपाल ने संविधान के अनुसार ही काम किया l वही तुषार मेहता ने कहा कि विधायक होटल में बंद है फैसला जल्द हो l 

सुप्रीम कोर्ट ने कहा की बहुत से ऐसे मामलों में 24 घंटों के अन्दर बहुमत परिक्षण होता है l

पर SG और रोहतगी फ्लोर टेस्ट के लिए राज्यपाल व स्पीकर का काम l क्या सुप्रीम कोर्ट राज्यपाल को आदेश देगाl 

आज सुप्रीम कोर्ट में SG ने वो सभी डाक्यूमेंट्स रख दिए जिसमे राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए बीजेपी को आमंत्रित किया l

SG ने 170 विधायकों के समर्थन पत्र की चिट्ठी भेजी l राज्यपाल की चिट्ठी में बहुमत परिक्षण की बात l 

मुकुल रोहतगी ने कोर्ट में कहा की उन्हें एनसीपी के अजित पवार ने 53 विधायकों की लिस्ट दी l एनसीपी के समर्थन का पत्र हमारे पास l 

हमारा कोई भी दस्तावेज फर्जी नहीं l मुकुल रोहतगी ने आगे कहा एक पवार हमारे पास है,और एक पवार कोर्ट गए l 

पवार परिवार में जो हो रहा है उनसे हमें लेना-देना नहीं l यह मामला कर्नाटक जैसा मामला नहीं l

breaking-news-ncp-shivsena-congress-plea-hearing-supreme-court-decision-tomorrow

फ्लोर टेस्ट करवाना स्पीकर का काम है l फ्लोर टेस्ट कब हो इससे क्या फर्क पड़ता है l राज्यपाल पर हमला करना गलत l  

इससे पहले क्या-क्या  हुआ

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के महासंग्राम पर आज फैसला लेते हुए SC ने सभी पक्षों को नोटिस जारी किया है l

उन्होंने सभी दस्तावेज को कोर्ट में पेश करने के लिए कहा l 

इसका मतलव बीजेपी सरकार को बह्मुत साबित करने के लिए वक्त मिल गया l 

जस्टिस जे रमन्ना ने कहा कि सदन में बहुमत साबित करना होगा l हर प्रकिया के लिए नियम तय है l 

मुकुल रोहतगी ने अभिषेक मनु सिंघवी के दलील पर कहा की फ्लोर टेस्ट की इतनी जल्दबाजी क्यों..?

सरकार की जल्दबाजी थी तो पहले सरकार क्यों नहीं बनाई l आप 17 दिन तक क्या कर रहे थे l 3 हफ्ते तक आप लोग सोते रहे l 

breaking-news-ncp-shivsena-congress-plea-hearing-supreme-court-decision-tomorrow

राज्यपाल ने जो भी फैसला लिया वो संवैधानिक तरीके से लिया था l राज्यपाल कोर्ट के प्रति जवाबदेह नहीं l 

यह गवर्नर का फैसला है कि वो राष्ट्रपति शासन हटायें या नहीं l 

यह राज्यपाल का अधिकार वो किसको CM चुनें l राजय्पाल के फैसले कोर्ट में रिव्यु नहीं होते l 

एनसीपी का पक्ष रखते हुए अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा की सोमवार सुबह प्रोटेम स्पीकर चुना जाए l

सीनियर विधायक को स्पीकर बनाया जाए l विधायकों की शपथ के बाद बहुमत परिक्षण हो सकता है l

कोर्ट आज या कल फ्लोर टेस्ट कराएं l  हमारे पास 54 विधायक है, व बहुमत भी है l हमारे पास 41 विधायकों की सिग्नेचर है l 

बीजेपी ने राज्यपाल के साथ मिलकर लोकतंत्र की ह्त्या की l जोड़तोड़ की राजनीति को रोकना जरुरी l

सिंघवी ने गोवा और कर्नाटक के मामले का जिक्र किया l  

breaking-news-ncp-shivsena-congress-plea-hearing-supreme-court-decision-tomorrow

एक रात में कैसे फैसला ले सकते है राज्यपाल l  फडणवीस और पवार ने कैसे शपथ ली l 

मुकुल रोहतगी ने कहा की मैं बीजेपी के कुछ विधायकों की तरफ से बात कर रहा हूं l

रोहतगी ने आगे कहा की इस मामले की रविवार को सुनवाई की जरुरत नहीं थी l 

इससे पहले,

सुप्रीम कोर्ट में अभिषेक मनु संघवी ने कहा की बिना कैबिनेट मीटिंग राष्ट्रपति शासन हटा दिया गया l

राज्यपाल का हर कदम न्याय संगत नहीं है l  

सुप्रीम कोर्ट में कपिल सिब्बल ने दलील रखी और कहा कि बीजेपी-शिवसेना-एनसीपी को सरकार बनाने का न्यौता दिया गया l

breaking-news-ncp-shivsena-congress-plea-hearing-supreme-court-decision-tomorrow

उसके बाद राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया l एक तरह से यह नेशनल इमरजेंसी की वजह बन गयी l 

उन्होंने कोर्ट में पूरी स्थिति का ब्यौरा दिया l उन्होंने कहा की अगर इनके पास बहुमत है तो साबित करें l

राज्यपाल केंद्र के इशारे पर काम कर रहे है l आधी रात को सब कुछ हुआ l  उन्होंने कर्नाटक सरकार का उदहारण पेश किया l

फ्लोर टेस्ट के लिए राज्यपाल ने कोई समय नहीं दिया l 

इससे पहले,

महाराष्ट्र का महाड्रामा सरकार बनने के बाद भी थमने का नाम ही नहीं ले रहा।

अब महाराष्ट्र सरकार गठन (Maharashtra Govt formation) के खिलाफ एनसीपी,शिवसेना और कांग्रेस ने,

सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दी है

और आज इस मामले पर सुनवाई होनी है। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में आज इस मसले पर सुनवाई सुबह 11:30 बजे होनी है।

सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में शिवसेना (Shiv Sena) ने मांग की है कि राज्यपाल के उस आदेश को निरस्त किया जाए 

जिसके तहत उन्होंने भाजपा के देवेंद्र फडणवीस को महाराष्ट्र में सरकार बनाने का न्यौता दिया था।इस याचिका में आरोप लगाएं गए है

कि महाराष्ट्र के राज्यपाल (Maharashtra Governor) का यह निर्णय पूरी तरह असंवैधानिक,मनमाना,गैरकानूनी और बराबरी के अधिकार के उल्लंघन से परिपूर्ण है।

अब आज रविवार, सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर सुनवाई करने जा रहा (NCP-ShivSena-Congress plea hearing in Supreme court today)है।

बकौल शिवसेना याचिका में यह भी मांग की गई है कि सुप्रीम कोर्ट महाराष्ट्र के गवर्नर को आदेश दें

कि वे एनसीपी, शिवेसना और कांग्रेस के गठबंधन (NCP-ShivSena-Congress alliance) को राज्य में सरकार बनाने का न्यौता दें।

सूत्रों की मानें, तो दावा किया गया है कि उद्धव ठाकरे (Uddhav thackeray) के नेतृत्व में इस गठबंधन के पास पूरे नंबर है यानि 144 से भी ज्यादा विधायकों का सपोर्ट उपलब्ध है।

breaking-news-ncp-shivsena-congress-plea-hearing-supreme-court-decision-tomorrow

इस याचिका के साथ लगाई गई एक अर्जी में शिवसेना(Shiv sena),एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) ने 154 विधायकों के समर्थन का दावा किया है।

महाराष्ट्र सदन में 288 विधानसभा सदस्य है। याचिका में सुप्रीम कोर्ट से अपील की गई है कि रविवार, 24 नवंबर को ही विधानसभा का स्पेशल सत्र बुलाकर फ्लोर टेस्ट का निर्देश दें।

जिससे की स्पष्ट हो सकें कि बहुमत उद्धव ठाकरे के पास है या फिर देवेंद्र फडणवीस को प्राप्त है।

शीर्ष अदालत में दायर याचिका में मांग की गई है कि कर्नाटक के मामले की ही तरह महाराष्ट्र के राज्यपाल से भी देवेंद्र फडवीस को न्यौता देने और राज्याल को दिए गए समर्थन पत्र सहित पूरा ब्यौरा कोर्ट के सामने रखा जाए।

प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति पर तुरंत फ्लोर टेस्ट हो और इसकी वीडियोग्राफी हो। फ्लोर टेस्ट डिवीजन ऑफ वोट के माध्यम से हो।

 तीनों दलों ने सुप्रीम कोर्ट से इस मुद्दे पर जल्द से जल्द सुनवाई की मांग की है।

स्मरण रहे कि महाराष्ट्र (Maharashtra) में शनिवार का दिन खासा सियासी उठापटक भरा रहा। बहुत ही ड्रामेटिक अंदाज में खबर आ गई कि भाजपा और एनसीपी (BJP-NCP) के गठबंधन की सरकार महाराष्ट्र में बन गई हैl 

breaking-news-ncp-shivsena-congress-plea-hearing-supreme-court-decision-tomorrow

और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) एक बार फिर महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री बन गए है। उन्होंने सीएम पोस्ट की शपथ भी ले ली है।

इतना ही नहीं, एनसीपी के अजित पवार ने उन्हें समर्थन दे दिया है और अजित पवार (Ajit Pawar) महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री बन गए है।

सुबह तकरीबन 8 बजे महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने राजभवन में दोनों नेताओं को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई है।

अजित पवार के भाजपा समर्थन को एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने व्यक्तिगत निर्णय करार दिया है।

हालांकि इससे पहले शुक्रवार रात तक की हेडलाइन यही थी कि शिवेसना-एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन की सरकार महाराष्ट्र में शनिवार को बनना लगभग तय है

लेकिन शनिवार की सुबह ने महाराष्ट्र में सारे सियासी समीकरणों को बदलकर रख दिया।

breaking-news-ncp-shivsena-congress-plea-hearing-supreme-court-decision-tomorrow

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: