breaking_newsअन्य ताजा खबरेंराजनीति
Trending

Breaking News: महाराष्ट्र मे लगेगा राष्ट्रपति शासन, गर्वनर ने राष्ट्रपति से सिफारिश की, शिवसेना पहुंची SC

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है।

मुंबई,(समयधारा) : Presidents rule in Maharashtra governor recommended to president- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश महाराष्ट्र के राज्यपाल ने कर दी है।

महाराष्ट्र के तीसरे सबसे बड़े दल एनसीपी (NCP) ने राज्यपाल से सरकार बनाने के लिए थोड़ा और वक्त मांगा था लेकिन राज्यपाल ने इसे नहीं माना। 

गौरतलब है कि महाराष्ट्र (Maharashtra) के राज्यपाल ने एनसीपी को आज रात 8:30 बजे तक का वक्त दिया था लेकिन एनसीपी ने तकरीबन 11:30 बजे पत्र लिखकर स्पष्ट कर किया कि उन्हें थोड़ा और समय चाहिए।

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) पहुंच गई है।

शिवसेना का कहना है कि राज्यपाल ने जब भाजपा को 48 घंटे का वक्त दिया तो हमें 48 घंटे का समय क्यों नहीं दिया। इसके साथ ही ट्विवटर पर हैशटैग #MaharashtraGovtFormation ट्रेंड करने लगा है।

हालांकि तकनीकी तौर पर एनसीपी के पास आज रात साढ़े आठ बजे तक का वक्त है फिर भी इसे इतना जल्दबाजी में क्यों लिया गया। इसकी जानकारी नहीं है।

हालांकि सूत्रों के अनुसार, एनसीपी ने चूंकि और वक्त मांगा इसलिए राज्यपाल को लगा है कि वे भी महाराष्ट्र में सरकार नहीं बना पायेंगे।

इसलिए राज्यपाल ने राष्ट्रपति को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश कर दी है। गृहमंत्री ने इस समय पीएम आवास पर केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक भी की है।

अब संभव है कि शाम तक महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लग जाएगा।

तेजी से बदलते घटनाक्रम में राज्यपाल ने एनसीपी को कल तक ,

सत्ता बनाने के लिए जरुरी समर्थन पत्र देने को कहा l इससे पहले आज पूरे दिन शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस आदि में बातचीत का लंबा दौर चालू रहा l

शिवसेना को आज  सरकार बनाने के लिए समर्थन पत्र सौपना था l पर वह राज्यपाल के पास समर्थन पत्र सौप नहीं पायी l

वही राज्यपाल ने शिवसेना को और समय देने से साफ़ इंकार कर दिया, और फिर उन्होंने एनसीपी को सरकार बनाने के लिए न्यौता दिया l 

गौरतलब है की महाराष्ट्र में सरकार बनाने पर पेंच फंसा हुआ है l 

महाराष्ट्र में तेजी से बदलते घटना चक्र में शिवसेना के केंद्रीय मंत्री अरविंद सावंत ने इस्तीफा दे दिया है,

और अब यह बात आईने की तरह साफ़ हो चूकी है कि शिवसेना अब NDA का हिस्सा नहीं रही l

इस बीच मुंबई में शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और एनसीपी के बीच लगातार बातचीत जारी है l

ऐसे संकेत मिल रहे है की शिवसेना एनसीपी-कांग्रेस के समर्थन से सरकार बना लेगीl

ncp-gets-invitation-to-form-government-in-maharashtra-shivsena-n-ghar-ki-n-ghat-ki

वही मुंबई में शिवसेना के नेता संजय राउत अस्पताल में भर्ती हो गए l

कहा जा रहा है की सीने में बैचेनी की शिकायत के कारण उन्हें  अस्पताल में भर्ती होना पड़ा l 

गौरतलब है की कल बीजेपी के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य में मुख्यमंत्री नहीं बनाने को राज्यपाल से कहा l

तब राज्यपाल ने शिवसेना को चिट्ठी लिख बहुमत साबित करने के लिए आमंत्रित किया l

जिस पर अब राज्य में यह नया घटनाक्रम शुरू है l NCP पूरी तरह से शिवसेना को समर्थन देने को तैयार है l

वह बस कांग्रेस के इशारे का इंतजार कर रही है l अगर शिवसेना राज्य में कांग्रेस के समर्थन से सरकार बना लेती है,

तो यह एक तरह से वह बीजेपी पर हावी हो जायेगी l अभी भी कांग्रेस या एनसीपी की तरफ से खुलकर समर्थन देने की बात नहीं की है l

ncp-gets-invitation-to-form-government-in-maharashtra-shivsena-n-ghar-ki-n-ghat-ki

बस एनसीपी की तरफ से यह बयान आया है की जब तक शिवसेना NDA से अलग नहीं होती तब तक वह समर्थन पर विचार नहीं करेंगी l

इसी वजह से NDA में शामिल शिवसेना ने अपनी पार्टी के अरविंद सावंत को इस्तीफा देने को कहा l

अब उनके इस्तीफे के बाद यह बात साफ़ हो जाती है कि शिवसेना बीजेपी के साथ सख्ती से पेश आ रही है l

वही अब वह राज्य सहित केंद्र में भी बीजेपी के खिलाफ अपना मौर्चा खोल दिया है l 

महाराष्ट्र: भाजपा का इंकार,क्या अब शिवसेना सरकार बनाना करेगी स्वीकार? 

इससे पहले,   

17 दिन बाद भी महाराष्ट्र (में सरकार बनाने का संकट अब भी बरकरार है।

भाजपा ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने से इंकार कर दिया है और अब राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने रविवार

देर शाम को दूसरी सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते शिवसेना को महाराष्ट्र में सरकार बनाने का न्यौता दिया  है।

Presidents rule in Maharashtra governor recommended to president

राज्यपाल से न्यौता मिलने के बाद शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार (Shivsena to form government) बनाने की कवायद में जुट गई है।

इसके लिए शिवसेना (Shivsena) एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) से समर्थन मांग सकती है

हालांकि एनसीपी ने स्पष्ट कर दिया है कि अगर शिवसेना एनडीए (NDA) से अलग हो जाती है तो हम उसे समर्थन देने पर विचार कर सकते है।

पहले शिवसेना को केंद्र से एनडीए से अलग होना होगा। इन हालातों में सोमवार का दिन शिवसेना के लिए बहुत अहम होने जा रहा है।

संभव है कि सोमवार को ही शिवसेना केंद्र में अपने एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत के इस्तीफे की घोषणा कर दें।

ncp-gets-invitation-to-form-government-in-maharashtra-shivsena-n-ghar-ki-n-ghat-ki

गौरतलब है कि शिवसेना के स्पीकर संजय राउत सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मिलने दिल्ली आ रहे है,

और वे एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) के भी संपर्क में है।

ध्यान दें कि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भाजपा की बैठक के बाद,

राजभवन पहुंचे और राज्यपाल को सूचित किया कि वे महाराष्ट्र में सरकार बनाने में असमर्थ है

इस बाबत महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने प्रेस कांफ्रेस करके शिवसेना पर तंज कसा।

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने महायुति (भाजपा+शिवसेना+अन्य दल) को सरकार बनाने का जनादेश दिया था

लेकिन शिवसेना ने इस जनादेश का अपमान करके महाराष्ट्र की जनता के साथ धोखा किया है।

इसलिए हमने राज्यपाल से मिलकर इस बात की जानकारी दे दी है कि हम सरकार नहीं बना पायेंगे।

उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने हमे सरकार बनाने का आमंत्रण भेजा था l 

Presidents rule in Maharashtra governor recommended to president

लेकिन बहुमत की संख्या नहीं होने की वजह से हम सरकार नहीं बनाएंगे (BJP refuse to form govt in Maharashtra, Gov calls Shivsena)

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों (Maharashtra assembly election 2019) में भाजपा (BJP) 105 सीटों पर जीत दर्ज करके सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी

और शिवसेना (Shivsena) को 56 सीटें के साथ नंबर दो पार्टी के पद पर काबिज हुई थी।

 चुनावों में भाजपा-शिवसेना गठबंधन (BJP-Shivsena alliance) को स्पष्ट बहुमत मिला था

लेकिन चुनाव उपरांत शिवसेना ने भाजपा को उससे चुनाव पूर्व किया कथित वादा याद दिलाया कि विधानसभा चुनावों के बाद 50-50 के फॉर्मूले पर मुख्यमंत्री पद के दावेदारी की बात हुई थी।

हालांकि शिवसेना के इन आरोपों को महाराष्ट्र भाजपा ने सिरे से नकार दिया है और कहा है कि ऐसा कभी नहीं कहा गया था।

दोनों गठबंधन सहयोगियों के बीच तल्खी इतनी बढ़ गई कि आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल निकला। नतीजतन महाराष्ट्र में सरकार गठन का संकट अब भी चल रहा है।

Presidents rule in Maharashtra governor recommended to president

राज्यपाल ने सबसे बड़ा दल होने के नाते पहले भाजपा मौका दिया था जिसके लिए उसने महाराष्ट्र में सरकार (Maharashtra Government) बनाने में अपनी असमर्थता जता दी है

तो अब गेंद शिवसेना के पाले में चली गई है और उसे भी सरकार बनाने के लिए एनसीपी व कांग्रेस का साथ चाहिए (BJP refuse to form govt in Maharashtra, Gov calls Shivsena)

शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने रविवार को स्पष्ट कर दिया है कि उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा है

कि महाराष्ट्र में शिवसेना का ही मुख्यमंत्री बनेगा और यदि उन्होंने कहा है तो हर कीमत पर महाराष्ट्र में शिवसेना का ही मुख्यमंत्री होगा।

हालांकि कांग्रेस ने अभी अपने पत्ते पूरी तरह नहीं खोले है l वह कल एनसीपी से बात कर अपना पक्ष रखेंगी l 

Presidents rule in Maharashtra governor recommended to president

Tags

Reena Arya

रीना आर्य एक ज्वलंत और साहसी पत्रकार व लेखिका है। वे समयधारा.कॉम की एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर भी है। लेखन के प्रति अपने जुनून की बदौलत रीना आर्य ने न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपने काम के बल पर अपनी पहचान बनाई बल्कि अपनी काबलियत को प्रूव करते हुए पत्रकारिता के पांच से छह साल के सफर में ही अपने बल खुद एक नए ब्रैंड www.samaydhara.com की नींव रखी।रीना आर्य हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने पर विश्वास करती है और अपने लेखन को लगभग हर विधा में आजमा चुकी है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: