breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति

अर्थव्यवस्था को लेकर विपक्ष का मोदी सरकार पर चौतरफा हमला

बुरे फंसे संतोष गंगवार - उनके बयान पर विपक्ष ने माफ़ी की मांग की

opposition-attack-santosh-gangwar-comments-on-economics

नई दिल्ली : भारतीय अर्थव्यवस्था (Economics) में आई मंदी को लेकर विपक्ष ने मोदी सरकार को घेर रखा है l

विपक्ष अब थोड़ा और आक्रमक हो कर मोदी सरकार के कामकाज पर ऊँगली उठा रहा है l 

सपा के अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बीजेपी के मंत्री संतोष गंगवार के बयान को लेकर मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोला l उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा  

भाजपा के मंत्री जी ने ये कहकर युवाओं का मनोबल तोड़ा है कि देश में रोज़गार की नहीं बल्कि क़ाबिल युवाओं की कमी है. अगर एक क्षण को ये झूठी बात मान भी लें तो क्या युवाओं को क़ाबिल बनाने का दायित्व सरकार का नहीं है. दरअसल कमी क़ाबिल युवाओं की नहीं; देश-प्रदेश में क़ाबिल सरकार की है.

दो दिन पहले ही उन्होंने अर्थव्यवस्था के खस्ता हाल को नोटबंदी से जोड़ा था और एक ट्वीट किया था l 

नोटबंदी के बाद के दो सालों में जाली नोटों की संख्या का दस गुना बढ़ जाना बेहद चिंताजनक विषय है. नोटबंदी के समय जाली नोटों का जो तर्क दिया गया था वो भी अब जाली साबित हो गया है. अब भाजपा का सच सामने आने लगा है.

वही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी मोदी सरकार पर जोरदार हमला किया l उन्होंने भी एक ट्वीट किया l 

opposition-attack-santosh-gangwar-comments-on-economics

मंत्रीजी, 5 साल से ज्यादा आपकी सरकार है। नौकरियाँ पैदा नहीं हुईं। जो नौकरियाँ थीं वो सरकार द्वारा लाई आर्थिक मंदी के चलते छिन रही हैं। नौजवान रास्ता देख रहे हैं कि सरकार कुछ अच्छा करे। आप उत्तर भारतीयों का अपमान करके बच निकलना चाहते हैं। ये नहीं चलेगा।

उन्होंने कुछ दिन पहले ही भारतीय अर्थव्यवस्था को क्रिकेट से जोड़कर मोदी सरकार पर हमला किया था l

सही कैच पकड़ने के लिए अंत तक गेंद पर नजर और खेल की सच्ची भावना होनी जरुरी है। वरना आप सारा दोष #gravity, गणित, ओला-उबर और इधर-उधर की बातों पर मढ़ते रहेंगे। भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए जनहित में जारी।

उत्तर प्रदेश की कद्दावर नेता व बसपा सुप्रीमों मायावती ने भी संतोष गंगवार के बयान को आड़े हातो लिया व ट्वीट किया 

देश में छाई आर्थिक मंदी आदि की गंभीर समस्या के सम्बंध में केन्द्रीय मंत्रियों के अलग-अलग हास्यास्पद बयानों के बाद अब देश व खासकर उत्तर भारतीयों की बेरोजगारी दूर करने के बजाए यह कहना कि रोजगार की कमी नहीं बल्कि योग्यता की कमी है, अति-शर्मनाक है जिसके लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।

वही आप के संजय सिंह ने अजित त्यागी के ट्वीट को रीट्वीट किया –   भाजपा सरकार के मंत्री संतोष गंगवार का ये कहना के हमारे युवा इसलिए बेरोज़गार है क्योंकि उनमें योग्यता नही है ये सिर्फ अपनी सरकार की कमियां छुपाने का तरीका है अगर योग्यता नही है तो वो भाजपा सरकार में योग्यता नही है। 

संतोष गंगवार के इस बयान को लेकर विपक्ष ने काफी हंगामा बरसाया है और उनके इस बयान को लेकर उनसे माफ़ी की मांग की है l 

opposition-attack-santosh-gangwar-comments-on-economics

शेयर बाजार में जोरदार गिरावट, सेंसेक्स 210 व निफ्टी 67 अंक नीचे (9.50am)

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: