breaking_newshindiदेशराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

Rajasthan election result2018: राजस्थान में ‘कांग्रेस’ ने उखाड़ा ‘भाजपा’ का ‘अंगद’ का पैर,ये बन सकते है मुख्यमंत्री

कांग्रेस की राजस्थान में जीत ने अमित शाह के उस दावे को फुस्स कर दिया है कि राजस्थान में ‘भाजपा’ सरकार ‘अंगद’ का पैर है, जिसे कोई उखाड़ नहीं सकता

जयपुर, 12 दिसंबर: Rajasthan assembly election result 2018– राजस्थान विधानसभा चुनाव परिणामों में कांग्रेस 99 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। राजस्थान में कांग्रेस बहुमत से बस एक कदम ही दूर है।

इसलिए राजस्थान की जनता ने हर बार की तरह इस बार भी अपना जनादेश बदल दिया है और इस तरह अमित शाह के उस दावे को फुस्स कर दिया है कि राजस्थान में ‘भाजपा’ सरकार ‘अंगद’ का पैर है, जिसे कोई उखाड़ नहीं सकता।

राजस्थान की मुख्यमंत्री रही वसुंधरा राजे ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है और कांग्रेस को इस जीत पर बधाई देते हुए कहा है कि वे जनता के आदेश को सिर-आंखों पर लेती है।

वसुंधरा ने कहा कि उनके नेतृत्व में भाजपा सरकार ने पांच सालों में अभूतपूर्व काम किए है और उन्हें उम्मीद है कि आने वाली सरकार उनके कार्यों को आगे भी जारी रखेगी। राजस्थान में भाजपा को 73 सीटें मिली है और बसपा को 6 व अन्य को 21 सीटें मिली है। इस तरह कांग्रेस राजस्थान में आसानी से सरकार बनाने जा रही है।

राजस्थान में कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में अशोक गहलोत और सचिन पायलट है। दोनों के समर्थक इन्हीं दोनों में से किसी एक को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते है।

इससे पहले,

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को विश्वास व्यक्त किया कि राज्य में कांग्रेस सत्ता में काबिज होगी और कहा कि उनकी पार्टी राज्य में निर्दलियों के साथ सहयोग करने के लिए तैयार है। यह स्थिति होने पर कि 200 सदस्यीय विधानसभा के लिए बहुमत में कांग्रेस को एक या दो सीटें कम पड़ सकती हैं, गहलोत ने मीडिया से कहा, “कांग्रेस निर्दलीय उम्मीदवारों के साथ सरकार बनाने के लिए तैयार है।”

ताजा सूचना तक कांग्रेस उम्मीदवार 199 निर्वाचन क्षेत्रों में से 99 में अपने प्रतिद्वंद्वियों से आगे चल रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) 73 सीटों पर आगे है।

इसका मतलब यह है कि दो दर्जन सीटें छोटी पार्टियों और निर्दलीयों को मिल सकती है, जिसने उन्हें सरकार संगठन में एक महत्वपूर्ण कारक बना दिया है।

भाजपा ने पांच साल पहले निर्णायक बहुमत के साथ राजस्थान में सत्ता संभाली था। 

गहलोत ने पार्टी के पुनरुत्थान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की प्रशंसा की।

उन्होंने कहा, “गुजरात चुनावों के बाद से, राहुल गांधी ने मोदीजी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) और अमित शाह (भाजपा अध्यक्ष) को घेर लिया है। तब से, वे दोनों चाहे कर्नाटक हो या राजस्थान हो, प्रभाव बनाने में सक्षम नहीं हुए हैं।”

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा, “कांग्रेस बहुमत वाली सरकार का गठन करेगी, लेकिन हमें अंतिम परिणाम आने तक इंतजार करना चाहिए।”

इस बीच, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे मंगलवार सुबह बांसवाड़ा जिले के त्रिपुरासुंदरी मंदिर गईं। वह जयपुर में भाजपा कार्यालय लौट आईं हैं, लेकिन उन्होंने मीडिया से बात नहीं की।

उन्होंने भाजपा कार्यालय में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की, जहां सन्नाटा सा पसरा हुआ था। 

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: