breaking_newsHome sliderदेशराज्यों की खबरें

बिहार में हर रोज 20,85,000 लीटर दूध का कलेक्शन होता है,सुधा ब्रांड पर भरोसा बढ़ा : नीतीश कुमार

पटना, 19 अप्रैल : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यहां बुधवार को बिहार स्टेट मिल्क कोऑपरेटिव फेडरेशन लिमिटेड (कॉम्फेड) के 35 वें स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर उन्होंने कहा, “जब मैंने मुख्यमंत्री का कार्यभार संभाला था, उस समय यहां चार लाख लीटर दूध का संग्रहण होता था और आज प्रतिदिन 20 लाख 85 हजार लीटर दूध का संग्रहण हो रहा है।

आज दूध ब्रांड सुधा की विश्वसनीयता काफी बढ़ गई है। इसकी प्रतिष्ठा एक ब्रांडनेम के रुप में स्थापित हो चुकी है।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “आज सुधा उत्पादन की बाहरी राज्यों में खपत बढ़ी है और लोगों के बीच इसकी मांग में बढ़ोत्तरी हुई है।”

इसकी विश्वसनीयता बनाए रखने के लिए गुणवत्ता से किसी प्रकार का समझौता नहीं करने की नसीहत देते हुए उन्होंने कहा कि दुग्ध का संग्रहण एवं वितरण में आज काफी सुधार हुआ है।

उन्होंने दुग्घ उत्पादन के क्षेत्र में विकास का दावा करते हुए कहा, “राज्य में वर्ष 2017-18 में प्रतिदिन 14 लाख 55 हजार लीटर दुग्ध का व्यापार हुआ है। टेट्रा पैक दुग्ध का विपणन 24 लाख 45 हजार लीटर हुआ है। सुधा अल्ट्राहीट ट्रीटमेंट (यू0एच0टी0) का विपणन बिहार राज्य के अतिरिक्त झारखंड, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, त्रिपुरा, मिजोरम, नागालैंड एवं अरुणाचल प्रदेश में हो रहा है।”

पशुपालन एवं दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में महिलाओं को आगे आने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए नीतीश ने कहा, “मुझे खुशी है कि कम्फेड के माध्यम से 2653 महिला सहकारी समितियों का गठन किया जा चुका है। इससे न सिर्फ महिलाओं में आत्मविश्वास बढ़ेगा बल्कि परिवार की आमदनी बढ़ेगी और समाज में महिलाओं का महत्व भी बढ़ेगा। इस तरह के प्रोत्साहन से महिलाओं का सशक्तिकरण होगा।”

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कम्फेड की छह नई परियोजनाओं का उद्घाटन भी किया।

इस मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, ऊर्जा, निबंधन, उत्पाद एवं मद्य निषेध मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव, पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस तथा सहकारिता मंत्री राणा रणधीर सिंह ने भी लोगों को संबोधित किया।

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: