breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराज्यों की खबरें
Trending

J&K से अनुच्छेद 370 हटने के बाद नजरबंद रहे NC नेता फारुक अब्दुल्ला पहली बार दिखें, Photos

10  नेताओं का प्रतिनिधिमंडल कल पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती से मिलेगा।

नई दिल्ली: J&K National conference leader Farooq Abdullah first image- केंद्र सरकार के फैसले से जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा ली गई और तभी से तकरीबन दो महीने तक अपने ही घर में नजरबंद कर दिए गए नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) और उमर अब्दुल्ला पहली बार सामने आएं (J&K National conference leader Farooq Abdullah first image)

आज पहली बार उन्हें अपनी पार्टी के नेताओं के प्रतिनिधिमंडल से मिलने की इजाजत दी गई।

गौरतलब है कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू है और इसी के चलते जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से धारा 370 (Article 370) हटा ली गई।

केंद्र सरकार ने इस फैसले को लेने से पहले ही किसी भी तरह के भड़काऊ भाषण या बगावत की आशंका के चलते जम्मू-कश्मीर के स्थानीय नेताओं को पिछले दो महीने से नजरबंद किया हुआ है।

नजरबंद नेताओं में नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला और उनके पुत्र उमर अब्दुल्ला, पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती व हुर्रियत के नेता शामिल है।

तकरीबन दो महीने तक अपने ही घर में नजरबंद नेता फारुक अब्दुल्ला की फोटोज दो महीने बाद पहली बार अब सामने आई है

इनमें वे अपनी पत्नी के साथ दिख रहे  है और अपनी पार्टी के प्रतिनिधि मंडल से मिलने की खुशी उनके चेहरे पर साफ दिख रही है।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से अनुच्छेद 370 (articel 370) हटाए जाने से पहले ही जब फारुक अब्दुल्ला को उनके ही घर में नजरबंद कर दिया गया था तो वे काफी निराश और हताश थे।

यहां तक की एक राष्ट्रीय चैनल से बातचीत में उनकी आंखों में आंसू भी दिख रहे थे।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला ने राज्य से अनुच्छेद 370 हटाये जाने के फैसले की खिलाफत की थी।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसदों ने अपने नेता फारुक अब्दुल्ला से मिलने के बाद एलान किया है कि उनकी पार्टी स्थानीय मतदान का बहिष्कार करेगी चूंकि उनके सम्मानीय नेता जेल में बंद है।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के पूर्व मुख्यमंत्रियों और स्थानीय नेताओं क्रमश: फारुक़,उमर,महबूबा मुफ्ती, सज्जाद लोन को उनके ही घर में नजरबंद किए जाने के खिलाफ विपक्षी दलों ने आवाज उठाई थी

और उनकी रिहाई की मांग की थी। इसकी खिलाफत में मुखर रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुवाई में विपक्ष का एक प्रतिनिधिमंडल जब जम्मू-कश्मीर हालात का जायजा लेने जा रहा था तो उन्हें श्रीनगर एयरपोर्ट पर ही रोक लिया गया था।

 

10  नेताओं का प्रतिनिधिमंडल कल पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती से मिलेगा।

J&K- National conference leader Farooq Abdullah first image after house arrest

Tags

Reena Arya

रीना आर्य एक ज्वलंत और साहसी पत्रकार व लेखिका है। वे समयधारा.कॉम की एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर भी है। लेखन के प्रति अपने जुनून की बदौलत रीना आर्य ने न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपने काम के बल पर अपनी पहचान बनाई बल्कि अपनी काबलियत को प्रूव करते हुए पत्रकारिता के पांच से छह साल के सफर में ही अपने बल खुद एक नए ब्रैंड www.samaydhara.com की नींव रखी।रीना आर्य हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने पर विश्वास करती है और अपने लेखन को लगभग हर विधा में आजमा चुकी है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: