breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

Kerala Assembly Elections : लेफ्ट-कांग्रेस को पटखनी दे पाना बीजेपी के लिए असंभव

केरल में 6 अप्रैल को विधानसभा चुनाव होने हैं, केरल में महज एक चरण में मतदान होगा, मतगणना/नतीजे  2 मई को आयेंगे

kerala assembly elections 2021 updates in hindi, assembly elections 2021 live updates dates announcement in hindi

नई दिल्ली (समयधारा) : चुनाव आयोग ने देश भर में 5 राज्यों में होनेवाले चुनाव की आज तारीख घोषणा कर दीl

सभी राज्यों के चुनाव के नतीजे 2 मई को आएंगे l  इन्ही में से केरल विधानसभा के चुनावों की तारीखों का भी ऐलान किया गया l

केरल में 6 अप्रैल को विधानसभा चुनाव होने हैं l केरल में महज एक चरण में मतदान होगा l मतगणना/नतीजे  2 मई को आयेंगेl  

  • चुनाव की अधिसूचनाः 12 मार्च 2021
  • नामांकन की आखिरी तिथिः 19 मार्च 2021
  • नाम वापसी की तिथिः 22 मार्च 2021
  • नामांकन पत्रों की जांचः 28 मार्च 2021
  • मतदान की तिथिः 6 अप्रैल 2021
  • मतगणना/नतीजे – 2 मई को आएंगे 2021  

केरल में कुल 140 विधानसभा सीटें हैं l साल 2016 में हुए केरल विधानसभा चुनावों में CPIM के नेतृत्व वाले गठबंधन LDF ने 91 सीटों पर जीत दर्ज की थी और सरकार बनाई l 

West Bengal Assembly Election : 27 मार्च से 29 अप्रैल तक, 8 चरणों में चुनाव 

kerala assembly elections 2021 updates in hindi

इसी प्रकार कांग्रेस के नेतृत्व में UDF गठबंधन को केरल विधानसभा 2016 के चुनावों में 47 सीटें मिलीं थीं l

भाजपा के लिए केरल में मुश्किल होने के कई कारण हैं, एक ये कि केरल में 45 प्रतिशत जनसंख्या मुस्लिम और ईसाईयों की है l 

करीब 55 प्रतिशत जनसंख्या हिन्दुओं की है l हिन्दुओं के बल पर केंद्र में सरकार बना लेने वाली भाजपा को केरल के हिन्दुओं से वोट नहीं मिल पाता l 

केरल का हिन्दू वर्ग सीपीआई, सीपीआई(एम), कांग्रेस के खाते में चला जाता है l 

दूसरी तरफ मुस्लिम भाजपा को लेकर अच्छी राय नहीं रखते हैं, यही हाल कमोबेश ईसाईयों का है l 

यही कारण है कि भाजपा के लिए केरल में बहुमत ला पाना असंभव सा लगता है l

kerala assembly elections 2021 updates in hindi

साल 2016 के केरल विधानसभा चुनाव के परिणामों को पार्टी-वाइज देखें तो लेफ्ट गठबंधन (LDF) वाली सीपीआई (एम) को 56 सीटें मिलीं थीं,

सीपीआई को 19 सीटें मिली थीं, जनता दल (सेक्युलर) पार्टी को 3 सीटें मिली थीं और एनसीपी को 2 सीटें मिलीं थीं l 

वहीं UDF गठबंधन वाली कांग्रेस को 22 सीटें मिलीं थीं, IUML (Indian Union Muslim League) को 18 सीटें मिलीं थीं,

केरल कांग्रेस (एम) को 6 सीटें मिलीं थीं. इनके इतर तीसरा गठबंधन भाजपा का भी था,

लेकिन उसमें से किसी भी पार्टी को एक भी सीट नहीं मिली थी, बस भाजपा को ही वहां एक सीट मिल सकी थी. 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − 10 =

Back to top button