breaking_newshindiदेशराजनीतिराज्यों की खबरें

Breaking- अशोक गहलोत बनेंगे राजस्थान के नए मुख्यमंत्री,पायलट होंगे उपमुख्यमंत्री

नई दिल्ली, 14 दिसम्बर:Ashok Gehlot will be new CM of Rajasthan,Sachin Pilot to be deputy CM-तीन दिनों की रस्साकशी के बाद आखिरकार राजस्थान को उसके नए मुख्यमंत्री का नाम मिल ही गया। कांग्रेस ने अशोक गहलोत को राजस्थान का नया मुख्यमंत्री घोषित कर दिया है और सचिन पायलट राजस्थान के उपमुख्यमंत्री होंगे कांग्रेस प्रदेश राजस्थान के अध्यक्ष भी है और आगे भी वे इस पदभार को निभाएंगे। कांग्रेस ने अभी इसका औपचारिक एलान कर दिया है।

इसके बाद अशोक गहलोत राजस्थान गवर्नर से मिलने जाएंगे और फिर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत को शुक्रवार को कांग्रेस की पसंद के तौर पर राजस्थान के मुख्यमंत्री पद के लिए चुना गया और मुख्यमंत्री पद की दौड़ में उनके प्रतिद्वंद्वी सचिन पायलट उप मुख्यमंत्री बने हैं। माना जा रहा है कि नेतृत्व के सवाल को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सुलझा लिया है। राहुल गांधी ने शुक्रवार को दोनों दावेदारों से मुलाकात की। यह उनकी दो दिनों में इस तरह की तीसरी मुलाकात थी।

पार्टी सूत्रों ने कहा कि सचिन पायलट ने गहलोत के सहायक (उप मुख्यमंत्री) बनने पर सहमति जताई है। ऐसा कांग्रेस पार्टी ने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर गुर्जर समुदाय को लुभाने के लिए किया है।

गुर्जर समुदाय राजस्थान के प्रभावशाली समुदायों में से एक है और यह चुनावी लड़ाई में काफी महत्वपूर्ण है।

राजस्थान में नेतृत्व का सवाल सुलझा लिया गया है। इसका संकेत राहुल गांधी ने शुक्रवार को अशोक गहलोत व सचिन पायलट के साथ अपनी तस्वीर पोस्ट कर दे दिया था।

तस्वीर के साथ उन्होंने लिखा था, “यूनाइटेड कलर्स ऑफ राजस्थान।”

राहुल गांधी के ट्वीट ने गहलोतपायलट के साथ परामर्श की बैठकों पर विराम लगा दिया। सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री के लिए अपनी दावेदारी को पुख्ता तरीके से पेश किया था।

यहां तक कि गुर्जर समुदाय के लोग गुरुवार व शुक्रवार को पायलट को मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग को लेकर सड़कों पर उतर आए।

राहुल से मुलाकात से पहले गहलोत ने कहा कि पार्टी की इकाई ने पहले ही फैसला लेने का जिम्मा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंप दिया है और यह खुद की पसंद जाहिर करने का समय नहीं है।

गहलोत ने कहा, “हमने यह कार्य आलाकमान को सौंप दिया है। अब उन्हें फैसला करना है कि किसे कौन-सी जिम्मेदारी दी जाए। अगर मैं यह कहूं कि यह मेरी पसंद है तो उसके लिए यह समय नहीं है। यह समय कांग्रेस को मजबूत करने का है, देखिए कैसे इसका ग्राफ ऊपर जा रहा है।” 

उन्होंने कहा कि आलाकमान को फैसले के लिए अधिकृत करते हुए राजस्थान के नवनिर्वाचित विधायकों ने प्रस्ताव पारित कर दिया है।

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: