breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराज्यों की खबरें

जम्मू-कश्मीर में होने वाला है कुछ बड़ा..? जानियें सब कुछ-अब तक

अफवाहों-अटकलों का बाजार है गर्म, जम्मू-कश्मीर में पहले हजारों अतिरिक्त जवानों की तैनाती... कुछ है फिशी

rumours-in-jammu-kashmir-something-big-has-to-be-happen

जम्मू-कश्मीर, 3 अगस्त (समयधारा) l इस समय जम्मू-कश्मीर के हालात पर तमाम तरह की अटकलों के बाजार गर्म है l

हो भी क्यों नहीं l एक तरफ साल भर की सबसे बड़ी अमरनाथ यात्रा को जल्द से जल्द खत्म करने की एडवाइसरी केंद्र सरकार ने जारी की है l

वही दूसरी तरफ 35000 और सैनिकों की तैनाती वहां की गयी है l

इस पर सभी सेलानियों को जल्द से जल्द राज्य छोड़ने को कहा गया है l विपक्ष तमाम तरह के आरोप पर आरोप लगा रहा है l

लोगों को कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है l 

सबसे पहले,  जम्मू-कश्मीर में और खासकर घाटी में ज्यादातर लोग मान रहे हैं कि संविधान का अनुच्छेद 35-A समाप्त होने जा रहा है।

दूसरी तरफ यह भी कयास लगायें जा रहे है की  राज्य में जम्मू,

घाटी और लद्दाख को तीन केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के विचार पर भी काम किया जा रहा है।  

इस समय आम कश्मीरियों की चिंता राशन, दवाइयां, खाद्य तेल, नमक, चाय,

दालें और सब्जियां जैसी रोजमर्रा की जरूरत की चीजों को इकट्ठा करना हैl 

वही दूसरी और भाजपा की जम्मू कश्मीर इकाई ने शनिवार को नेशनल कान्फ्रेंस,

पीडीपी और कांग्रेस के नेताओं पर आरोप लगाया कि वे लोगों के बीच जानबूझकर घबराहट उत्पन्न करने का प्रयास कर रहे हैं

क्योंकि वे स्वयं डरे हुए हैं। भाजपा ने कहा कि सामान्य व्यक्ति को कोई डर नहीं है।

भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष रवींद्र रैना ने कहा कि देश का प्रत्येक सामान्य नागरिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन में सुरक्षित है।

खुद गवर्नर सत्यपाल मलिक ने पिछले 24 घंटों में 2 बार कश्मीरियों से अपील की है कि वे अफवाहों पर ध्यान न दें।

शनिवार को राजभवन ने स्पष्ट किया कि जवानों की तैनाती पूरी तरह सुरक्षा उद्देश्य से की गई है,

संवैधानिक प्रावधानों में बदलाव जैसी कोई बात नहीं है। पर फिर भी इस समय कश्मीर के हालात काफी खराब है l 

rumours-in-jammu-kashmir-something-big-has-to-be-happen

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: