breaking_newsHome sliderदेशराजनीति

यूपी चुनाव: अखिलेश ने ठुकराया,मायावती ने अपनाया;बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी परिवार समेत बीएसपी में शामिल

लखनऊ, 27 जनवरी:  राजनीति में ऊंट किस करवट बैठेगा कोई नहीं कह सकता। यही हाल है राजनेताओं का। इस समय उत्तर प्रदेश की राजनीति उफान पर है और इसी उफान के चलते बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी ने बीएसपी के हाथी पर सवारी कर ली है यानि अंसारी परिवार अब बीएसपी में शामिल हो गया है। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमों मायावती ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित करके इस बात की सूचना दी। बीएसपी के साथ विलय करके अंसारी परिवार को कुछ सीटों पर टिकट मिल गया है। मुख्तार अंसारी जोकि जेल में बंद है, मऊ सीट से चुनाव लड़ेंगे, मोहम्मदाबाद से मुख्तार के भाई को टिकट दिया गया है, घोसी से अब्बास अंसारी को टिकट मिला है। ध्यान दें कि अंसारी परिवार ने कौमी एकता दल नामक पार्टी का गठन किया था और बाद में यह पार्टी समाजवादी पार्टी में शामिल हो गई थी।

कौमी एकता दल को सपा में विलय करने का अखिलेश यादव ने पुरजोर विरोध किया था,लेकिन तब मुलायम सिंह ने उनके विरोध को तवज्जों नहीं दी थी। इसके बाद सपा की कलह सबके सामने जब जाहिर हुई तो इस कलह की अन्य वजहों में एक वजह अंसारी परिवार का विलय भी माना गया। असल में अखिलेश यादव का गुट मुख्तार अंसारी की आपराधिक छवि के कारण सपा में उन्हें नहीं चाहता था और टिकट देने के खिलाफ था। फिर अखिलेश-मुलायम का कलह और सुलह के बाद अखिलेश का सपा अध्यक्ष बनना, संकेत दे गया कि अब अंसारी भाइयों को टिकट मिलने से रहा।

गौरतलब है कि मुख्तार के भाई शिबगतुल्लाह अंसारी ने बताया कि जब अखिलेश ने बाकी लोगों को उनकी सीट से टिकट देना शुरू किया तो उन्हें पता चल गया कि सपा में अब अंसारी बंधुओं के लिए जगह नहीं है जबकि उन्हें आश्वासन दिया गया था कि उन्हें टिकट दिया जाएगा। अंसारी बंधुओं का पूर्वांचल की कुछ सीटों पर खासा प्रभाव है और अब वह सपा से इसका बदला लेंगे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: