breaking_newsHome sliderदेशदेश की अन्य ताजा खबरें

Breaking News: सुप्रीम कोर्ट ने तीस्ता सीतलवाड़ के खाते सील करने पर फैसला सुरक्षित रखा

नई दिल्ली, 5 जुलाई:  सुप्रीम कोर्ट ने तीस्ता सीतलवाड़ और गुजरात सरकार से जवाब मांगा। तीस्ता सीतलवाड़ ने पुलिस और गुजरात सरकार पर दबाव बनाने का आरोप लगया है। गुजरात सरकार ने कोर्ट से कहा था कि तीस्ता ने फंड के पैसों में हेराफेरी की है। इसलिए उसके खाते सील कर दिए जाए लेकिन तीस्ता आ आरोप है कि गुजरात सरकार पैसा बढ़ाचढ़ाकर बता रही है। दोनों पक्षों को सुनने के बाद देश की सर्वोच्च अदालत ने तीस्ता सीतलवाड़ के खाते सील किए जाए या नहीं, इस पर अपना फैसला फिलहाल सुरक्षित रख लिया है और गुजरात पुलिस व तीस्ता सीतलवाड़ दोनों से एक हफ्ते के अंदर जवाब देने को कहा है।

गौरतलब है कि तीस्ता सीतलवाड़ एक मानवअधिकार कार्यकर्ता है। वह अकेली ऐसी महिला है जो 2002 के दंगों के अपराधियों के खिलाफ अदालत तक गई और इन आरोपियों में उन्होंने वर्तमान में देश के प्रधानमंत्री और तत्कालीन गुजरात के सीएम नरेन्द्र मोदी को आरोपी बनाया। साथ ही मोदी के राइट हैंड और बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह को भी उन्होंने गुजरात में 2002 के दंगों का आरोपी करार देते हुए अदालत में इन शक्तिशाली लोगों के खिलाफ जाने की हिम्मत जुटाई। तब से अब तक तीस्ता सीतलवाड़ पर गबन और देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए वह खतरा है…सरीखे आरोप लगाकर गुजरात सरकार ने उनके खिलाफ नौ मुकदमें दर्ज किए हुए है और नौ बार कोर्ट से तीस्ता को जमानत मिल चुकी है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close