breaking_news Home slider देश देश की अन्य ताजा खबरें

अगर आपने भी नकली कास्ट सर्टिफिकेट बनाया है, तो अब खोनी पड़ेगी नौकरी, रद्द होगा दाखिला : सुप्रीम कोर्ट

collegium agrees to reiterate Justice Joseph's name for elevation to top court
Collegium, Justice Joseph, Chief Justice of Uttarakhand, Chief Justice K.M. Joseph, Collegiate Calcutta, Rajasthan, Telangana and Andhra Pradesh High Court, Chief Justice Deepak Mishra, Justice J. Chellameshwar, Justice Ranjan Gogoi, Justice Madan B.Lokur, Justice Kurien Joseph, Supreme Court,कॉलेजियम,न्यायमूर्ति जोसेफ,सर्वोच्च न्यायालय,उत्तराखंड के मुख्य न्यायाधीश के.एम. जोसेफ,कॉलेजियम कलकत्ता, राजस्थान, तेलंगाना और आंध्रप्रदेश उच्च न्यायालय, प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति जे. चेलामेश्वर, न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति मदन बी.लोकुर, न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ,सुप्रीम कोर्ट,

नई दिल्ली, 6 जुलाई : सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को कहा कि फर्जी जाति प्रमाणपत्र के आधार पर जो लोग आरक्षित श्रेणी में सरकारी नौकरियां या शैक्षिक संस्थानों में सीटें पा रहे हैं, उन्हें इसे खोना होगा। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर, न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ व न्यायमूर्ति एन.वी. रमन की पीठ ने कहा कि फर्जी जाति प्रमाणपत्र के आधार पर सरकारी नौकरी हासिल करना या शैक्षिक संस्थान में आरक्षित श्रेणी में दाखिला पा लेने से वह लंबा समय गुजर जाने की वजह से बच नहीं सकते।

सर्वोच्च न्यायालय की पीठ ने अपना आदेश बंबई उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ के फैसले को पलटते हुए दिया है। बंबई उच्च न्यायालय ने कहा था कि यदि एक व्यक्ति लंबे समय से सेवा में है और बाद में यह सामने आता है कि इस नौकरी को उसने फर्जी जाति प्रमाणपत्र के आधार पर पाया है, तो उसे सेवा को जारी रखने की अनुमति दी जा सकती है। 

सर्वोच्च अदालत का यह फैसला महाराष्ट्र सरकार व भारत खाद्य निगम के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक सहित याचिकाओं के समूह पर विचार के बाद आया है।

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment