breaking_newsअन्य ताजा खबरेंचटपट चुटकले और शायरीदिल की बात
Trending

दोस्ती शायरी : लिखा था राशी में आज खजाना मिलेगा…

....गुजरे एक गली से और दोस्त पुराना मिल गया

Dosti Shayari – Friendship Shayari

लिखा था राशी में आज खजाना मिलेगा,

गुजरे एक गली से और दोस्त पुराना मिल गया।

मुद्दत बाद जब उसने मेरी खामोश आँखें देखी तो..!!

ये कहकर फिर रुला गया कि लगता है अब सम्भल गए हो..!! 

यह शायरी भी पढ़े :

हिंदी शायरी : कितना था नादान मैं हकीकत से अनजान था….

Happy Mother’s Day 2018: सब कुछ मिल जाता है लेकिन “माँ” नहीं मिलती…

शायरी : न चादर बड़ी कीजिये, न ख्वाहिशे दफन कीजिये…!

शायरी : नफरतों में क्या रखा हैं .., मोहब्बत से जीना सीखो.., 

दिलवालों की शायरी : नजरअंदाजी शौक बडा़ था उनको हमने भी तोहफे में उनको..

मोहब्बत शायरी : ऐ मोहब्बत… तुम्हारे मुस्कुराने का असर मेरी सेहत

जिंदगी-शायरी : मिलो किसी से ऐसे कि ज़िन्दगी भर की पहचान बन जाये…..

शायरी : कल शीशा था, सब देख-देख कर जाते थे….

मोहब्बत-शायरी : कुछ इस अदा से निभाना है किरदार मेरा मुझको….

शायरी : जाने कौन सी शौहरत पर आदमी को नाज़ है….! जो खुद, आखरी सफर के लिए भी औरों का मोहताज़ है…!!

Dosti Shayari – Friendship Shayari

( इनपुट सोशल मीडिया से )

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: