Trending

शायरी : मैं खुश हूँ कि कोई, मेरी बात तो करता है!! बुरा कहता है तो क्या हुआ, वो याद तो करता है ..!!

(1) मैं खुश हूँ कि कोई, मेरी बात तो करता है!!
बुरा कहता है तो क्या हुआ, वो याद तो करता है ..!!
कौन कहता हैं की,
नेचर और सिग्नेचर कभी बदलता नही
बस एक चोट की दरकार हैं!!
अगर ऊँगली पे लगी तो सिग्नेचर, बदल जाएगा!और..
दिल पे लगी तो नेचर बदल जाएगा!!

(2) हथेली पर रखकर नसीब..
“तु क्यों अपना
मुकद्दर ढूँढ़ता है..”

सीख उस समन्दर से..
“जो टकराने के लिए
पत्थर ढूँढ़ता है..” 

यह भी पढ़े : हिंदी शायरी : कितना था नादान मैं हकीकत से अनजान था….

इसे भी पढ़े : Happy Mother’s Day 2018: सब कुछ मिल जाता है लेकिन “माँ” नहीं मिलती…

यह भी पढ़े : शायरी : न चादर बड़ी कीजिये, न ख्वाहिशे दफन कीजिये…!

इसे भी पढ़े : शायरी : नफरतों में क्या रखा हैं .., मोहब्बत से जीना सीखो..,

(इनपुट सोशल मीडिया से) 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close