होम > चटपट चुटकले और शायरी > दिल की बात > शायरी : होकर मायूस न यूँ… शाम की तरह ढलते रहिये, जिंदगी एक भोर है……
breaking_newsअन्य ताजा खबरेंचटपट चुटकले और शायरीदिल की बात
Trending

शायरी : होकर मायूस न यूँ… शाम की तरह ढलते रहिये, जिंदगी एक भोर है……

love shayari izzat shayari latest hindi trending shayari gazal

होकर मायूस न यूँ
शाम की तरह ढलते रहिये
जिंदगी एक भोर है
सूरज की तरह निकलते रहिये
ठहरोगे एक पाँव पर तो थक जाओगे
धीरे धीरे ही सही मगर
लक्ष्य की ओर चलते रहिये।

“हँसते रहिये हंसाते रहिये”

चलो फ़िर से….
हौले से मुस्कुराते हैं…

बिना माचिस के ही….
लोगों को जलाते हैं….

ये शायरियां भी पढ़े : 

दिलवालों की शायरी : नजरअंदाजी शौक बडा़ था उनको हमने भी तोहफे में उनको..

मोहब्बत शायरी : ऐ मोहब्बत… तुम्हारे मुस्कुराने का असर मेरी सेहत

जिंदगी-शायरी : मिलो किसी से ऐसे कि ज़िन्दगी भर की पहचान बन जाये…..

शायरी : कल शीशा था, सब देख-देख कर जाते थे….

मोहब्बत-शायरी : कुछ इस अदा से निभाना है किरदार मेरा मुझको….

जिंदगी शायरी : अपने वजूद पे इतना तो यकीन है हमें कि 

मोहब्बते शायरी : हर तमन्ना जब दिल से रुख्सत हो गई..

love shayari izzat shayari latest hindi trending shayari gazal

शायरी : “हाथ” होता तो…”कब” का…”छुड़ा” लेते……पकड़े बैठे हैं “वो”….

दर्दे दिल शायरी : आस एक झूठी ही दे जाओ कि बहला सकूँ उसे….

( इनपुट सोशल मीडिया से )

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error:
Close