breaking_newsअन्य ताजा खबरेंकानून की कलम सेकानूनी सलाहदेशराज्यों की खबरें
Trending

पुलिस बाल भी बांका नहीं कर सकेगी,अगर आपने जान लिए अपने ये अधिकार

पुलिस बिना कारण बताए किसी को भी गिरफ्तार नहीं कर सकती हैl

Indian citizen legal rights- दिल्ली में पुलिस और वकीलों (Lawyers Vs Police) की भिडंत का विवाद गहरा चला है।

अक्सर पुलिस पर क्रूरता और ज्यादती के आरोप लगते रहे है और ऐसा देश में पहली बार हो रहा है जब खुद पुलिसवाले अपने ही मुख्यालय के बाहर खुद के साथ हो रही कथित ज्यादती के खिलाफ लामबंद है।

लेकिन जो भी हो देश का आम नागरिक अक्सर जिंदगी के किसी न किसी मोड़ पर पुलिस के हाथ चढ़ता ही है। ऐसे में जरुरी है कि आपको अपने कानूनी अधिकार पता हो (Indian citizen legal rights)।

भारत का संविधान सभी नागरिकों को उनका अधिकार (rights) देता हैl

मानव अधिकार (human rights) भी इन्हीं अधिकारों में से एक हैl अक्सर देखा जाता है कि थाने, पुलिस के मामलों में मानवाधिकारों का हनन होता हैl

पुलिस (Police) लोगों के साथ अभद्र व्यवहार करती है, मारपीट करती है और गाली गलौज की भाषा का इस्तेमाल करती हैl

हम बिना कुछ कहे, सुने पुलिस के इस दुर्व्यवहार को सहन करते रहते हैं, पर क्या आप जानते हैं कि

पुलिस को किसी के भी साथ गाली, गलौज, मारपीट या अमानवीय व्यवहार करने का अधिकार नहीं (Indian citizen legal rights) हैl

अगर पुलिस किसी के साथ ऐसा सलूक करती है तो आप उनके विरुद्ध कोर्ट (court) जा सकते हैंl

आज हम आपको पुलिस से संबंधित कुछ ऐसे ही अधिकारों से आपको अवगत कराने जा रहे हैंl

नहीं कर सकते मारपीट : सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का यह स्पष्ट आदेश है कि आप पुलिस थाने में पकड़ कर लाए गए

किसी भी व्यक्ति से पूछताछ कर सकते हैं लेकिन पूछताछ के नाम पर पुलिस किसी के साथ

मारपीट, गाली गलौज या अमानवीय व्यवहार नहीं कर सकती है (common man legal rights in police custody)l

अगर कोई पुलिसकर्मी चाहे वो कितना ही बड़ा अफसर क्यों ने हो, अगर ऐसा करता है तो आप उसके विरुद्ध कोर्ट की शरण में जा सकते हैंl 

नहीं रख सकते हिरासत में :common man legal rights in police custody

भारतीय दंड संहिता की धारा 167 के अनुसार पुलिस को

किसी भी व्यक्ति को 24 घंटे से ज्यादा हिरासत में रखने का अधिकार नहीं हैl

हर हाल में गिरफ्तार किए गए व्यक्ति को 24 घंटे के अंदर लोकल कोर्ट में पेश करना होता हैl

बिना कारण बताए नहीं हो सकती गिरफ्तारी : भारतीय दंड संहिता की धारा 150 के तहत पुलिस बिना कारण बताए

किसी को भी गिरफ्तार नहीं कर सकती हैl अगर किसी मामले में पुलिस आपको गिरफ्तार (police arrest) करने आती है

तो आप बेझिझक इसके पीछे की वजह पूछ सकते हैंl हर हाल में पुलिस को गिरफ्तारी की वजह बतानी होगीl

भूखा नहीं रह सकती पुलिस : कानून के मुताबिक अगर पुलिस ने किसी भी व्यक्ति को हिरासत में लिया है

या लॉकअप में रखा हो तो वह उसे भूखा नहीं रख सकतीl उसे भोजन कराना पुलिस का दायित्व होता हैl

इसके लिए थाने को बाकायदा अलग से बजट दिया जाता हैl

Indian citizen legal rights

नहीं लगा सकते हथकड़ी :

माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशों के अनुसार पुलिस की हिरासत में गए

किसी भी व्यक्ति अथवा विचाराधीन कैदी को थाने से कोर्ट ले जाने के क्रम में अथवा

एक जेल से दूसरे जेल ले जाते समय पुलिस हथकड़ी नहीं पहना सकतीl

किसी भी विचाराधीन कैदी को हथकड़ी लगाने के लिए कोर्ट से अनुमति लेनी पड़ती हैl

परिजनों को देनी होती है सूचना : अगर किसी व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है तो उसे इस बात का पूरा अधिकार मिला है कि

वह अपने परिजनों को इसकी जानकारी दे सकेl अगर किसी कारणवश वहां टेलीफोन या मोबाइल की व्यवस्था नहीं है

तो पुलिस का दायित्व बनता है कि इसकी सूचना उनके परिवार वालों तक पहुंचाएl

अगर इनमें से किसी भी अधिकारों का हनन पुलिस वालों द्वारा किसी के साथ भी किया जाता है

तो वरिष्ठ अधिकारियों के यहां इसकी शिकायत दर्ज करा सकते हैं अथवा सुनवाई नहीं होने पर कोर्ट की शरण भी ले सकते हैंl

Indian citizen legal rights

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: