breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंफैशनलाइफस्टाइल
Trending

न हो कंफ्यूज..? जानें Janmashtami 2019 की पूजा का सही समय

नई दिल्ली, 24 अगस्त : Janmashtami 2019 puja vidhi shubh muhurat

जन्माष्टमी (Janmashtami) यानि श्रीकृष्ण का जन्मदिन भाद्रपद की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को पूरे देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है।

जन्माष्टमी के दूसरें दिन गोविंदा के रूप में मनाया जाता है l इस दिन गोपालों की टीम मटकी फोडती है l 

एक रस्सी के सहारे एक मटकी बाँधी जाती है, जिसे गोपालों की एक टीम फोड़ने आती है l  

प्राय: जन्माष्टमी (Janmashtami) दो दिन पड़ती है और इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ है।

कई राज्यों में दो दिन पड़ने वाली जन्माष्टमी को छोटी जन्माष्टमी और बड़ी जन्माष्टमी भी कहा जाता है।

इस बार कृष्णजन्माष्टमी (Krishna Janmashtami) 23 और 24 अगस्त को पड़ रही है।

दो अलग दिन जन्माष्टमी (Janmashtami) को दो अलग संप्रदाय के लोग मनाते है।

मसलन जो लोग साधु-संत होते है उन्हें स्मार्त संप्रदाय कहा जाता है,

और ऐसे लोगों के लिए जन्माष्टमी 23 अगस्त 2019 (Janmashtami 2019 date), शुक्रवार को मनाई जाएगी।

दूसरा संप्रदाय वैष्णवों का है। ये वो लोग होते है जो गृहस्थ जीवन जीते है।

इनके लिए जन्माष्टमी 24 अगस्त  2019, (Janmashtami 2019 date)शनिवार  को मनाई जाएगी।

इस हिसाब से देश के कई राज्यों में जन्माष्टमी 23 अगस्त भी मनाई जाएगी और 24 अगस्त भी।

क्या है नियम

स्मार्त संप्रदाय यानि साधु-संतों के लिए हिंदू ग्रंथों में धर्मसिंधु,

निर्णयसिंधु में जन्माष्टमी (Janmashtami 2019 ),

को लेकर कुछ नियम निर्धारित किए गए है।

इन लोगों को हिंदू ग्रंथों के अनुसार ही जन्माष्टमी का निर्धारण करना चाहिए।

हिंदू धर्म ग्रंथों के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि,

रोहिणी नक्षत्र में आधी रात को बुधवार को हुआ था। इसी कारण प्रत्येक साल इसी तिथि,

पर और इस ही नक्षत्र में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी को सेलिब्रेट किया जाता है। किंतु कई बार ऐसा होता है कि,

अष्टमी तिथि रात में नहीं मिल पाती या फिर रोहिणी नक्षत्र नहीं लग पाता।

 कब है जन्माष्टमी (Janmashtami 2019 date)

जन्‍माष्‍टमी की तिथि और शुभ मुहूर्त 

जन्‍माष्‍टमी की तिथि: 23 अगस्‍त और 24 अगस्‍त.
अष्‍टमी तिथि प्रारंभ: 23 अगस्‍त 2019 को सुबह 08 बजकर 09 मिनट से.
अष्‍टमी तिथि समाप्‍त: 24 अगस्‍त 2019 को सुबह 08 बजकर 32 मिनट तक.

रोहिणी नक्षत्र प्रारंभ: 24 अगस्‍त 2019 की सुबह 03 बजकर 48 मिनट से.
रोहिणी नक्षत्र समाप्‍त: 25 अगस्‍त 2019 को सुबह 04 बजकर 17 मिनट तक

जानें क्या है जन्माष्टमी पूजन का शुभ मुहूर्त : (Janmashtami 2019 puja vidhi shubh muhurat)

जन्माष्टमी  (Janmashtami ) में कृष्ण जी की पूजा निशीथ समय पर ही की जाती है।

निशीथ समय मध्यरात्रि का समय होता है।

स्मार्त हो या वैष्णव दोनों संप्रदाय निशीथ मुहूर्त में ही कृष्ण जन्माष्टमी  का पूजन पूरे विधि-विधान से करते है।

यह भी पढ़े: जन्माष्टमी के दिन करें यह अचूक उपाय बन जायेंगे धनवान

यह भी पढ़े: Stock Market : बाजार ने मनाई कृष्ण जन्माष्टमी, सेंसेक्स और निफ्टी में तेज़ी

यह भी पढ़े: कृष्ण जन्माष्टमी : अगर होना हो ‘धनवान-रईस-मालदार’ तो जरुर करना ‘दही-हंडी’ पर यह काम

Janmashtami 2019 puja vidhi shubh muhurat

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: