breaking_newsअन्य ताजा खबरेंफैशनलाइफस्टाइल
Trending

Rang Panchami 2022:आज रंगपंचमी की पूजा का क्या है शुभ मुहूर्त,विधि,जानें क्यों मनाई जाती है?

चैत्र माह की पंचमी तिथि तक होली मनाई जाती है और पंचमी यानि पांचवे दिन पर रंगपंचमी पूरे हर्षोउल्लास के साथ सेलिब्रेट की जाती है।रंग पंचमी पर भक्तगण राधा जी और श्री कृष्ण की पूरे विधि-विधआन से पूजा-अराधना करते है

Rang-Panchami-2022-puja-shubh-muhurat-and-vidhi-why-celebrate-Rang-Panchami

रंग पंचमी(Rang Panchami)एक ऐसा त्यौहार है जिसे होली(Holi) के पांच दिन बाद मनाया जाता है।

चैत्र माह की पंचमी तिथि यानि होलिका दहन(Holika Dahan)के पांचवे दिन पर रंगपंचमी का पावन पर्व धूमधाम से मनाया जाता है।

इस त्यौहार की गूंज महाराष्ट्र,मध्यप्रदेश,गुजरात और राजस्थान सहित उत्तर भारत के कई राज्यों में सुनाई पड़ती है।लेकिन सबसे ज्यादा रंगपंचमी की धूम मध्यप्रदेश में लोकप्रिय है।

इस वर्ष होलिका दहन 17 मार्च 2022(Holika Dahan 2022)को था,इसके कारण इस वर्ष रंगपंचमी,22 मार्च,2022(Rang Panchami 2022) मंगलवार यानि आज मनाई जा रही है।

चैत्र माह की पंचमी तिथि तक होली मनाई जाती है और पंचमी यानि पांचवे दिन पर रंगपंचमी पूरे हर्षोउल्लास के साथ सेलिब्रेट की जाती है।

रंग पंचमी पर भक्तगण राधा जी और श्री कृष्ण की पूरे विधि-विधान से पूजा-अराधना करते है।राधा-कृष्ण को गुलाल लगाकर उनकी आरती करते है।

Holi 2022: होली पर बालों और त्वचा को नुकसान से बचाने के लिए अपनाएं ये टिप्स

Rang-Panchami-2022-puja-shubh-muhurat-and-vidhi-why-celebrate-Rang-Panchami

 

 

रंग पंचमी 2022 की पूजा का शुभ मुहूर्त । Rang Panchami 2022 puja shubh muhurat

 

रंगपंचमी (22 मार्च, मंगलवार 2022) शुभ मुहूर्त

पंचमी प्रारंभ प्रात: 06:24 बजे (22 मार्च, मंगलवार 2022)
पंचमी समाप्त प्रात: 04:21 बजे (23 मार्च। बुधवार, 2022)

इस शुभ मुहूर्त में ही रंगपंचमी मनाई जाएगी।

Rang-Panchami-2022-puja-shubh-muhurat-and-vidhi-why-celebrate-Rang-Panchami

 

 

रंगपंचमी पूजा विधि । Rang Panchami 2022 Puja Vidhi

-मान्यता है कि रंगपंचमी के दिन स्वयं देवलोक से देवता धरती पर आकर रंग खेलते हैं।

-कहा जाता है कि रंगपंचमी के दिन माता लक्ष्मी (Goddess Lakshmi) का भी पूजन होता है।

-सुबह स्नान करके मां लक्ष्मी को पूजा जाता है और कलश में रखे पानी को घर में छिड़का जाता है।

-इसके पश्चात नारियल पर सिंदूर लगाकर महादेव को अर्पित किया जाता है।

-मान्यता के मुताबिक, भगवान कृष्ण और राधा रानी की आरती कर उन्हें पीला, मां लक्ष्मी को लाल और शनि देव को नीला रंग लगाया जाता है

– इस दिन राधा-कृष्ण को भी अबीर-गुलाल अर्पित किया जाता है।

-इस दिन लोग एक-दूसरे को अबीर-गुलाल लगाकर रंग पंचमी की बधाई देते हैं।

-इस दिन शोभा यात्रा निकाली जाती है।

Rang-Panchami-2022-puja-shubh-muhurat-and-vidhi-why-celebrate-Rang-Panchami

holi 2021: बढ़ा कोरोना का खतरा,होली पर गलती से भी ये सब न करना

क्यों मनाते है रंगपंचमी का त्यौहार? why celebrate Rang Panchami

माना जाता है कि रंगपंचमी (Rang Panchami) के दिन भगवान कृष्ण ने राधा रानी के संग होली खेली थी।

इसी चलते इस इन भक्त राधा रानी और भगवान श्रीक़ृष्ण की पूरे विधि-विधान से पूजा करते हैं, उन्हें गुलाल लगाते हैं और राधे-कृष्ण आरती गाते हैं।

वहीं, एक और पौराणिक कथा के अनुसार रंगपंचमी इसलिए मनाई जाती है क्योंकि देवलोक में इसका आरंभ हुआ था।

असल में कथा के अनुसार कामदेव से क्रोधित होकर महादेव ने उन्हें भस्म कर दिया था जिस चलते देवलोक को निराशा ने घेर लिया था।

भोलेनाथ ने देवताओं की प्रार्थना पर कामदेव को जीवित कर दिया था जिसके बाद देवलोक में रंग-गुलाल उड़ाकर रंगपंचमी मनाई गई।

 

 

Rang-Panchami-2022-puja-shubh-muhurat-and-vidhi-why-celebrate-Rang-Panchami

(नोट:ऊपर दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और पंरपराओं के अनुसार लिखी गई है।समयधारा इसकी सटिकता की पुष्टि नहीं करता)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button