breaking_newsअन्य ताजा खबरेंलाइफस्टाइलवैलेंटाइन डे
Trending

क्या आपको किसी ने बनाया है अपना वैलेंटाइन(Valentine)..? अगर नहीं तो जरुर पढ़े यह खबर

नई दिल्ली,5 फरवरी : 14 फरवरी  वैलेंटाइन डे है यानि प्यार का दिन

मूल रूप से तो इसे प्रेमी-युगल का दिन माना जाता है लेकिन बदलते वक्त के साथ अब वैलेंटाइन डे 

अपनी जिंदगी के प्रत्येक प्रियवर चाहे-मां,बाप,भाई-बहन या फ्रेंड ही क्यों न हो,समर्पित करके मनाया जाने लगा है,

लेकिन फिर भी जितना क्रेज प्रेमी जोड़ों के बीच वैलेंटाइन डे का होता है, उतना शायद ही किन्हीं के बीच होता हो।

अक्सर वैलेंटाइनड डे पर वह लोग मायूस रहते है जो चाहकर भी एक सच्चा प्यार या एक बेस्ट गर्लफ्रेंड अपने लिए नहीं पा सकते।

ऐसा नहीं कि इनमें कोई कमी होती है बल्कि कई लोगों की शिकायत रहती है यार…आखिर इन लड़कियों को चाहिए क्या होता है?

सब तो करता हूं फिर भी कोई लड़की ‘हां’ नहीं करती।

इतना ही नहीं, आप लोगों में से कई लड़कों ने अपनी गर्लफ्रेंड पर या एक्स पर ढ़ेरों पैसा खर्च किया होगा,

ढ़ेरों गिफ्ट या टाइम दिया होगा,लेकिन फिर भी वह आपकी लाइफ-टाइम वैलेंटाइन बन न सकी।

कभी सोचा है क्यों? आज इसी क्यों का जवाब समयधारा आपको देता है

ताकि इस वैलेंटाइन आप अपनी सच्ची प्रेमिका या जीवनसाथी को पा सकें और मना सकें हैप्पी वैलेंटाइन डे:

गुड लिसनर-अक्सर लड़कों को लगता है कि गर्ल्स केवल मनी-माइंडेड होती है

और सिर्फ उन्हीं लड़कों को हां करती है जो फाइनेंशियल स्ट्रॉंन्ग साउंड करें, ये पूरी तरह सच नहीं है।

ये सच है कि कुछ लड़कियां ऐसा सोचती है लेकिन 95% लड़कियां आज के टाइम में केवल फाइनेंशियल स्ट्रांग बॉयज ही नहीं ढूंढ़ती

बल्कि एक सबसे अहम चीज लड़कियों को लड़कों में पसंद होती है

और उसी के चलते वह किसी लड़के की ओर आकर्षित भी होती है और वह चीज है- गुड लिसनर।

जी हां! चौंक गए न,लेकिन एक्सपर्ट्स ने यह  माना है कि लड़कियों को सबसे ज्यादा वह लड़कें पसंद आते है

जो उनकी बात सुनें। इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं कि वह उनकी हां में हां मिलाएं या फिर वह बोलती रहें

और लड़का उनकी बात बीच में न काटे। गुड लिसनर यानि अच्छा श्रोता वह लड़का होता है

जो अपनी फीमेल पार्टनर की परेशानियां, खुशियां या उनकी लाइफ से जुड़ी बातें,

जब वह डिस्कस करती है तो न केवल अच्छे से सुनता है बल्कि बीच-बीच में जहां उसे लगता है कि

उसे अड्वाइस देना चाहिए, वह दें। लड़कियां बहुत छोटी-छोटी लेकिन महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान देती है।

यकीन मानिए अगली बार आप जब उनकी बात अच्छी तरह सुनकर साथ में जवाब देंगे

तो उन्हें यकीन हो जाएगा कि आपसे बेहतर पार्टनर उनके लिए कोई नही है।

खूबसूरती- अगर आपको लगता है कि आप लंबे, फिटेड बॉडी है और बस इसलिए आपको गर्लफ्रेंड मिल जाएगी तो ऐसा बिल्कुल नहीं है।

बाहरी व्यक्तित्व लड़कियों का ध्यान आपकी ओर खींचता जरूर है लेकिन लाइफ-टाइम के लिए अगर गर्ल्स अपना पार्टनर ढूंढ़ती है तो

ये चीज बहुत पीछे हो जाती है। लड़कियां ऐसे बॉयज को पसंद करती है जिनका सेंस ऑफ ह्यूमर बहुत अच्छा होता है।

जी हां, अगर आपके अंदर उन्हें हंसाने की कला है , उनका बिगड़ा मूड अच्छा करने की स्किल है तो समझ लीजिए आपका काम हो गया।

फिर आप भले ही दिखने में कैसे भी हो,वह आपके साथ ही टाइम स्पेंड करना पसंद करेंगी।

सम्मान- आज के टाइम में लड़कियों को वह लड़के ज्यादा पसंद आते है जो उनका सम्मान करें यानि

अगर गर्ल इंटेलिजेंट है तो उसे वही लड़का अच्छा लगेगा

जो उसकी इस इंटेलिजेंसी को सम्मान दें, वह नहीं जो उसके आगे अपना पुरुष अंहकार दिखाएं।

आत्मविश्वास- भले ही आपकी जॉब प्राइवेट हो या आप बिजनेसमैन हो, गर्ल्स केवल

तभी आपकी ओर आकर्षित होती है जब वह आपके अंदर गजब का आत्मविश्वास देखती है।

आप खुद को बनाने  के लिए संघर्ष कर रहे है और आपको अपने प्रयासों पर भरोसा है,

आपकी भी लाइफ में परेशानियां है लेकिन मुश्किलों से डटकर सामना करने का माद्दा है

तो कोई लड़की आपका साथ दिए बिना नहीं रह सकेगी। ये सच है कि लड़का हो या लड़की अपवाद हर जगह होते है,

इसलिए कुछ लड़कियां केवल लड़कों का आत्मविश्वास ही नहीं देखती बल्कि देखती है कि बैंक बैलेंस कितन है।

लेकिन जैसा कि अभी बताया कि अपवाद हर जगह होते है वर्ना अमूमन ज्यादातर लड़कियां देखती है कि

उनका पार्टनर अपने रिश्ते, अपने सपनों को लेकर कितना आत्मविश्वासी है

और फिर ऐसे लड़कों का साथ वह खुद कभी नहीं छोड़ना चाहती।

ईमानदारी- ये एक ऐसा फैक्टर है जो दोनों पर अप्लाई होता है।

अगर लड़का आर्थिक रूप से कमजोर है लेकिन अपनी गर्लफ्रेंड के प्रति पूरी तरह ईमानदार है

तो भी वह आपको अपनी जिंदगी से आसानी से जाने न देंगी क्योंकि उन्हें पता है कि

पैसा तो वह खुद भी कमा सकती है लेकिन आदमी के अंदर ईमानदारी नहीं कमाकर डाल सकती।

आर्थिक मजबूती- यह फैक्टर भी लड़कियों के लिए महत्व रखता है लेकिन यहां पर भी आजकल गर्ल्स की सोच बदल रही है।

अब लड़कियां चूंकि खुद वर्किंग होती है तो उन्हें ऐसा लड़का पसंद आता है जो उनके सपनों

और उनके करियर को भी प्यार करें फिर भले ही वह लड़का उनसे कम क्यों न कमाता हो।

जब आप दोनों साथ होते है तो आप पैसा खर्च करते है और उस समय वह आपको रोकती नहीं,

तो इसका मतलब यह नहीं कि वह मनी-माइंडेड है बल्कि इसका मतलब यह है कि आपके अंदर वह देखना चाहती है कि

आप कितने खुद्दार है और आपको आर्थिक रूप से मजबूत बने रहना कितना पसंद है।

ऐसा एक बार उन्हें दिख जाता है तो यकीन मानिए आपकी आर्थिक कमजोरी को नजरअंदाज करके

वह खुद उसे मजबूत बनाने के लिए आपको उत्साहित करेंगी और आपका साथ निभाएंगी।

गुस्सा अगर आपको बहुत गुस्सा आता है तो समझ लें कि लड़की जितना भी आपसे प्यार करती हो,

आपका गुस्सा उन्हें कमजोर कर रहा है। अक्सर कुछ लड़कें पब्लिक प्लेस पर अपनी गर्लफ्रेंड पर चिल्ला देते है।

ऐसा करना निहायत ही अशोभनीय होता है और लड़कियां ऐसे लड़कों को बिल्कुल पसंद नहीं करती।

बिन बोले समझे- लड़कियां अक्सर ऐसे लड़कों को बेहद पसंद करती है जो उनके बोले बिना उनकी मन की बात समझ लें।

मसलन अगर वह कोई नई ड्रेस पहनकर आपके सामने आई है और आपने ये बात नोटिस कर ली

और उनकी तारीफ कर दी तो समझ लें कि आप दिल की बाजी जीत गए।

इतना ही नहीं, अगर वह किसी और के बॉयफ्रेंड की किसी खास आदत की आपके सामने तारीफ कर रही है

तो गुस्सा होने की जगह समझ लें कि ऐसी आदत या ऐसी दिवानगी वह आपके अंदर खुद के लिए भी देखना चाहती है।

जो लड़कें अपनी पार्टनर के सपनों और उनकी खुशी का ख्याल, किन छोटी-छोटी बातों में है,

इस बात को बिना कहें समझते है लड़कियां उन्हें बेस्ट पार्टनर मानती है।

केयरिंग नेचर- इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं कि आप कामधाम छोड़कर बस पूरा दिन उन्हें केयर करते रहें

और वह आपकी बन जाएंगी बल्कि इससे तो उन्हें आप फालतू नजर आएंगे।

केयरिंग नेचर का मतलब है कि आप जब ऑफिस ऑवर या वर्किंग ऑवर में हो और अचानक से उन्हें मिस यू,

लव यू का मैसेज कर दें…तो यकीन मानिएं वह आपकी और सिर्फ आपकी ही रहेंगी

क्योंकि लड़कियों को यह बात बहुत अच्छी लगती है कि

उनका पार्टनर अपने बिजी वर्क शेड्यूल के बीच में भी कहीं न कहीं उनके लिए सोच रहा है।

इसके उल्ट अगर आप बस पूरा दिन टेक्स्ट में इतना लिखते है- खाना खा लिया, ऑफिस से निकल गई…

तो यह उनके लिए इतना महत्व नहीं रखता क्योंकि लड़कियां भी स्मार्ट है

वह केयरिंग नेचर और केयरिंग होने का दिखावा के बीच का फर्क समझती है।

सफाई- अगर आप साफ-सुथरे बने रहते है, मुंह से बदबू नहीं आती और  स्टाइलिश है तो भी लड़कियां आपकी ओर आकर्षित होती है।

इंटेलिजेंट- यह फैक्टर बहुत इम्पॉर्टेंट है। लड़कियों को भोंदू लड़के बिल्कुल पसंद नहीं आते।

आपकी बातचीत में व्यवहार कुशलता या कम्युनिकेशन स्किल अच्छा होना चाहिए।

जिन लड़कों का कम्युनिकेशन स्किल अच्छा होता है

और जिन्हें लगभग हर विषय की जानकारी होती है, ऐसे पार्टनर की लड़कियों को तलाश रहती है।

दिखावा न हो- लड़कियों को वह लड़के बिल्कुल पसंद नहीं होते जो दोस्तों या सोसाइटी के सामने

अपने प्यार का दिखावा करें बल्कि इसके उल्ट वह उन लड़कों को पसंद करती है

जो उनके लिए कुछ भी करें और दिखाएं कि उनके (लड़कियों के)प्यार के आगे उनका (लड़कों का) कुछ भी करना मामूली है।

इससे उन्हें आपकी डाउन-टू-अर्थ नेचर का एहसास होता है और वह आपके अंदर सच्चा प्रेमी देख लेती है।

अगर आपके अंदर उपरोक्त गुण नहीं है तो टेंशन न लें क्योंकि इन्हें आसानी से आप अपने व्यक्तित्व के अंदर पैदा कर सकते है

और फिर देखिएं लगभग हर लड़की सिर्फ आपकी ही वैलेंटाइन पार्टनर बनना चाहेगी।

समयधारा की ओर से हैप्पी वैलेंटाइन डे!

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: