breaking_newsअन्य ताजा खबरेंफैशनफैशनलाइफस्टाइल
Trending

Thoughts : शुद्ध का अर्थ है स्वभाव में होना, अशुद्ध का अर्थ है प्रभाव में होना

#Wednesday Thought : मिठास रिश्तों कि बढाए तो कोई बात बने.....

शुद्ध का अर्थ है स्वभाव में होना,

अशुद्ध का अर्थ है प्रभाव में होना

मिठास रिश्तों कि बढाए तो कोई बात बने…

मिठाईयाँ तो हर साल मीठी ही बनती है..

और भी सुविचार पढ़े : 

Thoughts : हौसले के तरकश में, “कोशिश” का वो तीर जिंदा रखो, हार जाओ… 

Thoughts : “हमेशा शांत रहे” जीवन में खुद को बहुत *मजबूत पायेंगे…..

Thought : समय और जिन्दगी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ शिक्षक हैं… 

#Thought : दुनिया का सबसे अच्छा तोहफा “वक्त” है..!! क्योंकी…?

Friday Thoughts : बस एक तज़ुर्बा लिया है ज़िन्दगी से.. अपनो के नज़दीक रहना है..

Wednesday Thoughts : डाली से टूटा फूल फिर से लग नहीं सकता है मगर…

Tuesday Thoughts : किसी भी रिश्ते को बनाए रखने के लिए गिड़गिड़ाने की जरुरत नहीं

Sunday Thoughts : असफल होना बुरा है लेकिन प्रयास ही ना करना महाबुरा है

Friday Thoughts : मैं उन लोगों का आभारी हूं जिन्होंने मुझे छोड़ दिया…..

गुरुवार सुविचार : हम आ जाते हैं बहुत जल्दी दुनियां की बातों में गुरु की बातों में  

Tags

समयधारा

समयधारा एक तेजी से उभरती हिंदी न्यूज पोर्टल है। जिसका उद्देश्य सटीक, सच्ची और प्रामाणिक खबरों व लेखों को जनता तक पहुंचाना है। समयधारा ने अपने लगभग महज चार साल के सफर में बिना मूल्यों से समझौता किए क्वांटिटी से ज्यादा क्वालिटी कंटेंट पर हमेशा ज़ोर दिया है। एक आम मध्मय वर्गीय परिवार से निकली लड़की रीना आर्य के सपनों की साकार डिजिटल मूर्ति है- समयधारा। रीना आर्य समयधारा की फाउंडर, एडिटर-इन-चीफ और डायरेक्टर भी है। उनके साथ समयधारा को संपूर्ण बनाने में अहम भूमिका निभाई है समयधारा के को-फाउंडर-धर्मेश जैन ने। एक आम मध्यमवर्गीय परिवार में जन्में धर्मेश जैन पेशे से बिजनेसमैन रहे है और लेखन में अपने जुनूूून के प्रति उन्होंने समयधारा की नींव रखने में अहम रोल अदा किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: