breaking_news Home slider अन्य ताजा खबरें

नर्मदा के नाम पर पर्यटन स्थल का ठेका अंबानी को सौंपने के लिए यह सब हो रहा है : मेधा

भोपाल, 16 दिसंबर:  नर्मदा बचाओ आंदोलन की प्रमुख मेधा पाटकर ने यहां गुरुवार को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा नर्मदा शुरू की गई नर्मदा सेवा यात्रा पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह यात्रा अंबानी को पर्यटन का ठेका सौंपने के लिए रची गई साजिश का हिस्सा है। मेधा पाटकर ने अन्य पर्यावरण प्रेमियों की मौजूदगी में यहां संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा, “यह ऐसी सरकार है, जिसने नदी को बांधकर तालाबों में तब्दील किया है, 30 बड़े और 135 मझौले बांध बनाकर नर्मदा को बर्बाद कर दिया है और दूसरी ओर नर्मदा सेवा यात्रा निकालकर दिखावा किया जा रहा है।”

उन्होंने कहा कि नर्मदा को प्रदूषण से बचाने की बात सराहनीय हो सकती है, मगर सरकार पर सवाल इसलिए उठते हैं कि वह जो कहती है, उसके विपरीत करती है। अगर सरकार नर्मदा को बचाना चाहती है, तो नर्मदा के हर जलाशय के इर्द-गिर्द ताप व परमाणु बिजली परियोजनाएं क्यों बनवा रही है? उसके संरक्षण में रेत का खनन क्यों जारी है?

मेधा ने कहा कि दरअसल सरकार की योजना नर्मदा के किनारे लगभग आठ मीटर चौड़ा वाहन परिक्रमा पथ बनाने की है। इस पर 1600 करोड़ रुपये खर्च किए जाने हैं और पर्यटकों के लिए अन्य जरूरी सुविधाएं जुटाई जानी हैं। पर्यटन स्थल बनाने का ठेका अंबानी को सौंपने के लिए यह सब हो रहा है।

उन्होंेने कहा कि नदी के सभी संसाधन कंपनियों को सौंपने के लिए एक तरफ जहां सेवा यात्रा हो रही है, वहीं दूसरी ओर खंडवा में हनुवंतिया टापू बनाकर वहां जल महोत्सव कराया रहा है।

मुख्यमंत्री चौहान ने नदी के दोनों ओर एक-एक किलोमीटर में फलदार वृक्ष के पौधे लगाने की बात कही है। इस पर मेधा पाटकर का कहना है कि जो फलदार वृक्ष मिट्टी के क्षरण को रोकने में सक्षम नहीं होते। नदी के किनारे नीम जैसे पेड़ लगाने होंगे, जिनकी जड़ें गहराई तक जाती हैं।

मुख्यमंत्री चौहान ने ऐलान किया है कि अमरकंटक में सोना के लिए भी खनन नहीं होने दिया जाएगा। इस पर कटाक्ष करते हुए मेधा ने कहा कि शिवा कंस्ट्रक्शन जैसी कंपनियां नर्मदा नदी से रेत का खनन कर रही हैं और उन्हें सरकार का संरक्षण प्राप्त है। वहीं बड़े पैमाने पर गंदा पानी नदी में मिल रहा है।

इस मौके पर एकता परिषद के अनीस, पर्यावरणविद सुभाष पांडे, कैलाश अवास्था, अमूल्य निधि व अन्य मौजूद थे।

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment

अन्य ताजा खबरें