breaking_news Home slider अन्य ताजा खबरें

लालू,केजरीवाल,ममता ने मोदी पर साधा निशाना, मोदी पर लगे 40 करोड़ की रिश्वत के आरोप की हो जांच

पटना,दिल्ली 22 दिसंबर:  राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा नरेंद्र मोदी को लेकर किए गए भ्रष्टाचार के खुलासे को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा है। उन्होंने प्रधानमंत्री पर खुद को ‘फकीर’ बताए जाने पर तंज कसते हुए कहा कि फकीर कुछ नहीं छिपाते हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद ने बुधवार देर शाम लगातार चार ट्वीट कर प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए लिखा, “प्रधानमंत्री अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर स्पष्टीकरण दें तथा सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश से इस भ्रष्टाचार की जांच कराएं। चुप्पी न खींचे।”

उन्होंने राुहल गांधी द्वारा लगाए गए आरोप को मामूली नहीं बताते हुए आगे लिखा, “राहुल गांधी ने गुजरात में छाती पर चढ़कर तथ्यों के साथ प्रधानमंत्री पर 40 करोड़ के भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। ये मामूली बात नहीं है।”

खुद के ‘फकीर’ कहे जाने पर प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए एक अन्य ट्वीट में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने लिखा, “फकीर कुछ छिपाते नहीं, पारदर्शी जीवन जीते हैं। फकीर साहब 40 करोड़ का हिसाब-किताब बताएं अन्यथा फकीर और फकीरी से दुनिया का विश्वास उठ जाएगा।”

राजद अध्यक्ष यहीं नहीं रुके। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “तथाकथित ईमानदार प्रधानमंत्री पर कोई गंभीर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए और वो चुप रहे। विदेशों में भारत की छवि खराब हो रही है।”

गौरतलब है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को गुजरात के मेहसाना में एक रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए सहारा समूह से भारी रकम दी गई थी। राहुल ने कहा कि मोदी को सहारा समूह से करोड़ों रुपये मिले। उन्होंने कहा कि इस मामले की स्वतंत्र जांच होनी चाहिए।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को प्रधानमंत्री के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच सर्वोच्च न्यायालय की देखरेख में कराने की मांग की। आम आदमी पार्टी नेता केजरीवाल ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने जिस तरह 1990 के दशक में किया था, उसी तरह जांच में बेदाग साबित होने तक मोदी से भी पद छोड़ने की मांग की।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात में एक जनसभा में कहा कि मोदी ने दो कॉरपोरेट घरानों से रिश्वत के रूप में तब बहुत बड़ी राशि ली जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे। इसके थोड़ी ही देर बाद केजरीवाल ने मीडिया को संबोधित किया।

केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने दिल्ली विधानसभा में इस वर्ष 15 नवंबर को इस घूसखोरी का खुलासा किया था। तब से वह देश भर में हर जनसभा में इस पर बात रखते आ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय को इस मामले में स्वत: संज्ञान लेना चाहिए और एक ऐसे विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन करना चाहिए जिसे मोदी के खिलाफ लगे आरोपों की जांच करने का पूरा अधिकार हो।

केजरीवाल ने कुछ दस्तावेज दिखाए जिसे उन्होंने आयकर विभाग का बताया। इसमें चार भागों वाली मूल्यांकन रिपोर्ट भी शामिल थी। इसे दिखाते हुए केजरीवाल ने कहा कि इन कॉरपोरेट घरानों में से एक ने मोदी को 40 करोड़ रुपये किस्तों में दिए।

केजरीवाल ने दावा किया कि एक अन्य कॉरपोरेट घराने के परिसर से जब्त दस्तावेजों से पता चलता है कि मोदी को 25 करोड़ रुपये बतौर रिश्वत दिए गए।

राहुल गांधी के गुजरात में दिए गए भाषण के बाद भाजपा ने मोदी पर लगाए गए आरोपों से इनकार किया है। पार्टी ने कहा है कि प्रधानमंत्री ‘गंगा के समान ही पवित्र’ हैं।

केजरीवाल ने राहुल गांधी को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को वह लंबे समय से उठा रहे हैं, अब राहुल गांधी के पास इसे उठाने के अलावा और कोई चारा नहीं था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर आम आदमी को लूटने का आरोप लगाते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को मोदी और भाजपा के खिलाफ जांच बिठाए जाने की मांग की। ईस्ट मिदनापुर के कोलाघाट में एक जनसभा के दौरान ममता ने कहा, “उन्होंने आज आपके पैसे लूटे हैं, कल वे आपके गहने लूट लेंगे और उसके बाद वे आपकी जमीनें छीन लेंगे। भारत में एक लुटेरी पार्टी आई है जो आम लोगों के अधिकार लूटने में लगी हुई है।”

ममता ने कहा, “नोटबंदी बहुत बड़ा घोटाला है। हम मोदी, मोदी की सरकार और आपकी पार्टी के खिलाफ जांच की मांग करते हैं। लोगों को आखिर पता लगना चाहिए कि नोटबंदी के पीछे क्या सौदा हुआ है। सारा राज खुल चुका है।”

ममता ने हाल ही में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा मोदी पर गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए औद्योगिक घरानों द्वारा 40 करोड़ रुपये का रिश्वत लेने के आरोपों का हवाला देते हुए जांच की मांग की है। भाजपा ने हालांकि राहुल द्वारा लगाए गए आरोपों से इनकार किया है।

तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता ने भाजपा पर अज्ञात स्रोतों से सर्वाधिक धनराशि पाने का आरोप लगाया और पूछा कि उनके खिलाफ आखिर कार्यवाही क्यों नहीं की जा रही।

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment

अन्य ताजा खबरें