breaking_news Home slider अन्य ताजा खबरें क्रिकेट खेल

विशाल अंतर से जीत,कोहली ने बल्लेबाजो को दिया श्रेय, बने मेन ऑफ़ द मैच

ians

विशाखापट्नम, 21 नवंबर:  भारती क्रिकेट टीम ने डॉ. वाई. एस. राजशेखर रेड्डी एसीए-वीसीए क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के पांचवें दिन सोमवार को इंग्लैंड को 246 रनों के बड़े अंतर से हराकर पांच मैचों सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है। राजकोट में मेजबानों के साथ ड्रॉ खेलने वाली इंग्लिश टीम ने चौथे दिन की समाप्ति तक 405 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए 87 रनों पर दो विकेट गंवा दिए थे। पांचवें दिन के पहले सत्र में उसने पांच विकेट गंवाए और फिर दूसरे सत्र में बाकी के तीन विकेट गंवा दिए। मेहमान टीम 97.3 ओवरों का सामना करते हुए 158 रन ही बना सकी। उसकी ओर से जॉनी बेयर्सटो 34 रनों पर नाबाद लौटे। भारत की कसी गेंदबाजी के आगे इंग्लिश टीम के सात बल्लेबाज दहाई तक नहीं पहुंच सके। भारत की ओर से रविचंद्रन अश्विन और जयंत यादव ने तीन-तीन सफलता हासिल की जबकि रवींद्र जडेजा और मोहम्मद समी को दो-दो सफलता मिली। अपना पहला टेस्ट खेल रहे यादव ने इस मैच में सराहनीय प्रदर्शन करते हुए चयन को सही साबित किया। अंतिम दिन भोजनकाल तक मेहमान टीम ने सात विकेकट गंवाए थे। जॉनी बेयरस्टो 23 रन बनाकर क्रीज पर जमे हुए थे। उनके साथ क्रीज पर नाबाद मौजूद जफर अंसारी ने खाता नहीं खोला था। भोजनकाल के बाद अंसारी खाता खोले बगैर अश्विन का शिकार हुए जबकि स्टुअर्ट ब्रॉड (5) तथा जिमी एंडरसन (0) को यादव ने चलता किया। कप्तान एलिस्टर कुक (54) के विकेट गिरने के साथ चौथे दिन का खेल समाप्त हो गया था। दो विकेट पर 83 रन के स्कोर से आगे खेलने उतरी इंग्लैंड के लिए रविवार को नाबाद लौटे जोए रूट (25) के साथ बेन डकेट पारी को आगे बढ़ाने उतरे। डकेट ने धैयपूर्वक खेलना शुरू किया हालांकि 16 गेंदों का सामना करने के बाद बगैर खाता खोले वह रविचंद्रन अश्विन का शिकार हुए। इसके बाद बेन स्टोक्स (2) और मोइन अली (6) के विकेट भी जल्दी जल्दी गिर गए। रूट भी 107 गेंदों की अपनी संघर्षभरी पारी को और आगे नहीं ले जा सके और मोहम्मद समी की गेंद पर पगबाधा करार दिए गए। कुक और रूट के अलावा हसीब हमीद ने 25 रनों का योगदान दिया। भारत ने कोहली (81), अजिंक्य रहाणे (26) और जयंत यादव (नाबाद 27) की बदौलत दूसरी पारी में 204 रन बनाते हुए इंग्लैंड के सामने चौथी पारी में 405 रनों की चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा। इससे पहले भारत ने मैन ऑफ द मैच चुने गए कप्तान कोहली (167) और चेतेश्वर पुजारा (119) की बदौलत पहली पारी में 455 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था, जवाब में इंग्लैंड की पहली पारी महज 255 रनों पर सिमट गई। इंग्लैंड की पहली पारी समेटने में रविचंद्रन अश्विन का विशेष योगदान रहा। अश्विन ने इंग्लैंड के पांच बल्लेबाजों को चलता किया। अश्विन ने इससे पहले बल्ले से भी अहम योगदान देते हुए 58 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली थी। भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने सोमवार को इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट में जीत हासिल करने के बाद कहा कि जीत का श्रेय भारतीय बल्लेबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन को जाता है। भारत ने डॉ. वाई. एस. राजशेखर रेड्डी एसीए-वीसीए क्रिकेट स्टेडियम में हुए दूसरे टेस्ट मैच के पांचवें दिन सोमवार को चौथी पारी में 405 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही इंग्लैंड की पारी भोजनकाल के थोड़ी ही देर बाद 158 रनों पर समेट दी और मैच 246 रनों से मैच जीत लिया। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनते हुए पहली पारी में कोहली (167) और चेतेश्वर पुजारा (119) से शतकों की बदौलत 455 रन बनाए थे। मैच के बाद कोहली ने कहा, “हम यह सुनिश्चित करना चाहते थे कि हम अधिक से अधिक समय तक बल्लेबाजी करें, कम से कम पांच सत्र तक। हमें प्रतिद्वंद्वी टीम पर दबाव बनाने के लिए 450 से बड़ा स्कोर खड़ा करने की जरूरत थी। भारतीय बल्लेबाजों ने दूसरी पारी में भी अच्छा प्रदर्शन किया और कठिन परिस्थितियों में अच्छा स्कोर हासिल किया।” कोहली ने दूसरी पारी में भी 81 रनों का अहम योगदान दिया जिसकी बदौलत भारत ने 204 रनों का स्कोर खड़ा किया। कोहली ने कहा, “टेस्ट क्रिकेट में यदि आप बड़ा स्कोर करते हैं तो यह वास्तव में दबाव बनाने में मददगार होता है। इसे आप देख सकते हैं कि पिच से गेंदबाजों को खास मदद न मिल पाने के बावजूद यह बड़े स्कोर का ही दबाव था कि बल्लेबाज विकेट गंवाते रहे। उन्हें पता था कि जरा सी गलती भारी पड़ सकती है। दूसरी पारी में यह और कठिन हो जाता है।” कोहली ने दूसरे टेस्ट से पदार्पण करने वाले ऑफ स्पिन गेंदबाज जयंत यादव की भी सराहना की। हरियाणा के रहने वाले जयंत ने दूसरी पारी में तीन विकेट चटकाए और मैच में कुल चार विकेट उनके नाम रहे। बल्ले से भी जयंत ने 35 और 27 रनों की उपयोगी पारियां खेलीं। कोहली ने कहा, “सबसे अच्छी बात तेज गेंदबाजों का प्रदर्शन और जयंत की गेंदबाजी रही। हम टेस्ट में इसी तरह का पदार्पण चाहते हैं। पहली पारी में एक विकेट और दूसरी पारी में तीन। बल्ले से भी बेहतरीन प्रदर्शन। जयंत ने बेहतरीन रवैया दिखाया है। वह अंत तक क्रीज पर टिका भी रहा। आखिरी विकेट के लिए जयंत ने मोहम्मद समी के साथ 42 रनों की अच्छी साझेदारी भी की। इस तरह के योगदान अमूल्य साबित हुए।” कोहली ने कहा, “मेरे खयाल से हमने शुरुआती दो टेस्ट मैचों से जीत की लय हासिल कर ली है। हम कठिन परिस्थितियों से निकल आए हैं। हालांकि हम इंग्लैंड का सम्मान करते हैं। वे मोहाली में होने वाले अगले टेस्ट में भी गुणवत्तापूर्ण क्रिकेट खेलने वाले हैं।” –आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment

अन्य ताजा खबरें