breaking_newsअन्य ताजा खबरेंएप्सटेक न्यूजटेक्नोलॉजीदेशदेश की अन्य ताजा खबरें

फेसबुक, ट्विटर, वॉट्सऐप को बड़ी राहत, चाइनीज हैंडसेट कंपनियों पर कसेगा शिकंजा

ट्राई चाइनीज हैंडसेट मेकर्स पर भी  शिकंजा कसने की तैयारी, हैंडसेट कंपनियों को उपभोक्ता के डाटा की सुरक्षा करनी होगी

big-relief-for-ott-apps facebook twitter whatsapp

नई दिल्ली (समयधारा)  : TRAI ने OTT APPS जैसे की फेसबुक, ट्विटर, वॉट्सऐप आदि को बड़ी राहत दी l

वही दूसरी तरफ ट्राई चाइनीज हैंडसेट मेकर्स पर भी  शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है l 

ट्राई के मुताबिक OTT ऐप्स को रेगुलेट करने के लिए गाइडलाइंस की जरूरत नहीं है।

हालांकि इन ऐप्स को मॉनिटर करना चाहिए, ताकि जरूरत पड़ने पर इनके लिए रेगुलेशन लाया जा सके।  बाजार OTT ऐप्स का रेगुलेशन तय करेगा।

ट्राई के मुताबिक OTT ऐप्स को दायरे में लाने से इंडस्ट्री पर बुरा असर पड़ेगा। इन ऐप्स को सिर्फ मॉनिटर करने की जरूरत है। 

ट्राई का कहना है कि सिर्फ जरूरत पड़ने पर ही ऐप्स पर कार्रवाई होनी चाहिए।

OTT ऐप्स की प्राइवेसी, सिक्योरिटी पर भी दखल नहीं दिया जाएगा। ITU की रिसर्च पूरी होने के बाद ही इनका रेगुलेशन संभव है।

चाइनीज हैंडसेट कंपनियों पर शिकंजा (big-relief-for-ott-apps facebook twitter whatsapp)

चाइनीज ऐप्स पर करवाई करने के बाद सरकार अब चाइनीज हैंडसेट मेकर्स पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है।

सूत्रों के मुताबिक डिजिटल कम्यूनिकेशन कमीशन 19 सितंबर को होने वाली बैठक में डाटा की प्राइवेसी और सिक्योरिटी की सिफारिशों को हरी झंडी दे सकता है।

ट्राई की सिफारिशों के मुताबिक हैंडसेट कंपनियों को उपभोक्ता के डाटा की सुरक्षा करनी होगी।  ट्राई ने 2018 में ये सिफारिशें की थीं।

ट्राई की तरफ से डाटा की निजता, सिक्योरिटी, मिल्कियत को लेकर सिफारिश की गई थी। ICA ने ट्राई की सिफारिशों का विरोध किया था।

इस सिफारिश में कहा गया था कि ऐप्स, ऑपरेटिंग सिस्टम, मोबाइल हैंडसेट को उपभोक्ताओं के डाटा की सुरक्षा करनी होगी।

कंपनियों को अपने सर्वर भारत में लगाने होंगे। बता दें कि भारत के 74 फीसदी बाजार पर चाइनीज हैंडसेट का कब्जा है।

big-relief-for-ott-apps facebook twitter whatsapp

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 + three =

Back to top button