सावधान ! क्या आप भी अपने रोते बच्चों को चुप कराने के लिए स्मार्टफोन उन्हें देते है ?

न्यूयॉर्क, 21 अक्टूबर : अगर आपका रोता हुआ बच्चा स्मार्टफोन पाने के बाद चुप हो जाता है तो आपको यह तरीका बदलने की जरूरत है। माता-पिता को इस बात पर ध्यान देने की जरूरत है कि अपने बच्चों को चुप कराने के लिए स्मार्टफोन देना सही नहीं है। अमेरिकी बाल रोग अकादमी ने शुक्रवार को इसे लेकर नए दिशा निर्देश जारी किए हैं। दिशा-निर्देश के अनुसार, डिजिटल मीडिया का ज्यादा इस्तेमाल बच्चों की नींद की गुणवत्ता, बच्चे के विकास और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि हालांकि कई खास मौकों पर जैसे हवाईजहाज यात्रा या चिकित्सा प्रक्रियाओं के दौरान डिजिटल मीडिया उपकरण का इस्तेमाल करना सुखदायक होता है, पर माता-पिता को बच्चों को शांत कराने के लिए इस तरीके का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

अमेरिका के मिशिगन विश्वविद्यालय के सी. एस. मोट चिल्ड्रेन अस्पताल के प्रमुख लेखक जेनी रडेस्की ने कहा कि एक सामान्य सुखदायक रणनीति के तौर पर इस तरह के उपकरणों का इस्तेमाल बच्चों की भावनाओं को नियंत्रित करने की क्षमता को सीमित कर सकता है।

रडेस्की ने कहा, “डिजिटल मीडिया कई शिशुओं, छोटे बच्चों और स्कूल की शुरुआत वाले बच्चों के बचपन का अनिवार्य हिस्सा बन गया है, लेकिन यह शोध में उनके विकास पर पड़ने वाले प्रभाव पर सीमित है।”

उन्होंने कहा, “क्या हम जानते हैं कि शुरुआती बचपन तेजी से दिमाग के विकास का समय होता है। जब बच्चों की खेलने, सोने और अपने भावनाओं को संभालने और संबंध बनाने की जरूरत के लिए समय की जरूरत होती है। शोधकर्ताओं का सुझाव है कि मीडिया का ज्यादा इस्तेमाल इन गतिविधियों में रुकावट पैदा करता है।”

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error:
Close