breaking_newsएप्सटेक्नोलॉजीसोशल मीडिया
Trending

Oh Nahi..! WhatsApp जल्द हो जायेंगा भारत में बंद…!!!

भारत में व्हाट्सएप के 20 करोड़ मासिक यूजर्स हैं और यह कंपनी के लिए दुनिया का सबसे बड़ा बाजार है।

नई दिल्ली,7फरवरी :#Whatsapp says we may cease to exist in India- रोज सुबह उठते है ही क्या आप भी व्हाट्सएप (#Whatsapp) चेक करते है? अगर आपका जवाब ‘हां’ है, तो सोचिए कैसा हो अगर किसी दिन आपको पता चले कि व्हाट्सएप (#Whatsapp) की सर्विस अब भारत में बंद हो चुकी है! यकीनन ये ख्याल ही आपको परेशान कर डालेगा,लेकिन हम ये बात सिर्फ यूं ही नहीं कह रहे बल्कि ऐसा संभवत: हो भी सकता है।

दरअसल, भारत में कारोबार कर रहीं सोशल मीडिया कंपनियों के लिए सरकार द्वारा प्रस्तावित कुछ नियम अगर लागू हो जाते हैं तो इससे व्हाट्सएप (#Whatsapp) के वर्तमान रूप के अस्तित्व पर भारत में खतरा आ जाएगा (cease to exist in India)। कंपनी के एक शीर्ष कार्यकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।

भारत में Whatsapp के 20 करोड़ मासिक यूजर्स हैं और यह कंपनी के लिए दुनिया का सबसे बड़ा बाजार है। कंपनी के दुनिया भर में कुल 1.5 अरब यूजर्स हैं।

यहां एक मीडिया कार्यशाला से इतर व्हाट्सएप (#Whatsapp) के कम्यूनिकेशन प्रमुख कार्ल वूग ने आईएएनएस को बताया, “प्रस्तावित नियमों में से जो सबसे ज्यादा चिंता का विषय है, वह मैसेजेज का पता लगाने पर जोर देना है।”

फेसबुक के स्वामित्व वाली व्हाट्सएप (#Whatsapp) डिफाल्ट रूप से एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन की पेशकश करता है, जिसका मतलब यह है कि केवल भेजनेवाला और प्राप्त करनेवाला ही संदेश को पढ़ सकता है और यहां तक कि व्हाट्सएप भी अगर चाहे तो भेजे गए संदेशों को पढ़ नहीं सकता है। वूग का कहना है कि इस फीचर के बिना व्हाट्सएप (#Whatsapp)बिल्कुल नया उत्पाद बन जाएगा।

वूग अमेरिका में बराक ओबामा के राष्ट्रपति कार्यकाल में उनके प्रवक्ता के रूप में भी सेवाएं दे चुके हैं। उन्होंने कहा, “प्रस्तावित बदलाव जो लागू होने जा रहे हैं, वह मजबूत गोपनीयता सुरक्षा के अनुरूप नहीं हैं, जिसे दुनिया भर के लोग चाहते हैं।”

उन्होंने कहा, “हम एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन मुहैया कराते हैं, लेकिन नए नियमों के तहत हमें हमारे उत्पाद को दोबारा से गढ़ने की जरूरत पड़ेगी।” उन्होंने आगे कहा कि ऐसी स्थिति में मैसेजिंग सेवा अपने मौजूदा स्वरूप में मौजूद नहीं रहेगी।

वूग ने नए नियम लागू होने के बाद भारतीय बाजार से बाहर निकल जाने की संभावना को खारिज नहीं करते हुए आईएएनएस से कहा, “इस पर अनुमान लगाने से कोई मदद नहीं मिलेगी कि आगे क्या होगा। इस मुद्दे पर भारत में चर्चा करने के लिए एक प्रक्रिया पहले से ही है।”

एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन फीचर से कानून प्रवर्तन एजेंसियों के लिए अफवाह फैलानेवाले अभियुक्तों तक पहुंचना मुश्किल होता है।

लेकिन सोशल मीडिया प्लेटफार्म्स के लिए सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा प्रस्तावित नियमों के तहत उनके अपनी सेवाओं के दुरुपयोग और हिंसा फैलाने से रोकने के लिए एक उचित प्रक्रिया का पालन करना होगा।

–आईएएनएस

यह भी पढ़े: किसी को भी विश करना नहीं भूलेंगे आप, अपने WhatsApp मैसेज को ऐसे करें शेड्यूल

यह भी पढ़े: WhatsApp ने अपने यूजर्स के लिए लांच किये दो नए फाडू फीचर

यह भी पढ़े: Video: सुना आपने? अब एंड्रायड में आ गया WhatsApp Swipe-to-reply फीचर, नए स्टीकर्स 

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: