breaking_newsअन्य ताजा खबरेंटेक न्यूजटेक्नोलॉजीविभिन्न खबरेंविश्वसोशल मीडिया
Trending

लाखों कंपनियों की कुल पूंजी के बराबर Facebook पर लगा जुर्माना

चुकाने होंगे 3,50,00,00,00,000 (35 हजार करोड़ रुपये) यूएस फेडरल ट्रेड कमिशन (FTC) को, क्या है मामला जानियें

Facebook Faces 5 Billion fine largest ever

नई दिल्ली, 13 जुलाई (समयधारा) :  किसी कंपनी पर कितना जुर्माना लग सकता है l

एक करोड़ – दो करोड़ चलो भाई 100 करोड़ बस नहीं 1000 करोड़ बस यार इससे ज्यादा क्या जुर्माना लगेगा l

नहीं दोस्तों नहीं l यहाँ 1000 करोड़ से भी ज्यादा जुर्माना लगा है फेसबुक पर l

पूरे 35000 करोड़ रुपये का जुर्माना l वो भी सिर्फ डाटा चोरी पर l 

यूएस फेडरल ट्रेड कमिशन (FTC), टेक्नॉलजी कंपनी फेसबुक से 5 बिलियन डॉलर यानी 35 हजार करोड़ रुपये वसूलने वाला है।

यह जुर्माना किसी टेक कंपनी पर अब तक का लगने वाला सबसे बड़ा जुर्माना है।

इससे पहले साल 2012 में गूगल पर भी 22 मिलियन डॉलर (154 करोड़ रुपये) का जुर्माना लग चुका है।

हालांकि फेसबुक इस जुर्माने के लिए पहले से ही तैयार था और इसका कंपनी पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा।

एफटीसी ने निजता का उल्लंघन और यूजर्स के डेटा का गलत इस्तेमाल करने के लिए फेसबुक पर जुर्माना लगाने जा रहा है।

हालांकि फेसबुक और एफटीसी दोनों ने ही इस मामले में किसी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

रिपोर्टों के अनुसार 3-2 वोटों के साथ इस जुर्माने को मंजूरी दी गई है।

फिलहाल यह मामला जस्टिस डिपार्टमेंट के सिविल डिविजन के पास समीक्षा के लिए चला गया है।

यह स्पष्ट नहीं है कि इस प्रक्रिया में कितना समय लगेगा, हालांकि इसे मंजूरी मिलने की पूरी संभावना है।

पूरी दुनिया में ऐसी बहुत सी कंपनी होगी जिनका सालाना टर्न ओवर भी इस जुर्माने जितना नहीं होगा l

गौरतलब है कि बता दें साल 2016 में डॉनल्ड ट्रंप के चुनावी अभियान के लिए राजनीतिक सलाहकार कंपनी

कैम्ब्रिज एनालिटिका ने ही काम किया था और कैंब्रिज एनालिटिका द्वारा,

फेसबुक के करीब 8.7 करोड़ यूजर्स का डेटा चोरी करने का मामला सामने आया था।

इसलिए पिछले साल एफटीसी ने यह घोषणा की थी कि उसने कैम्ब्रिज एनालिटिका द्वारा करोड़ों यूजर्स का

निजी डेटा चुराने के मामले में फेसबुक के खिलाफ जांच फिर से शुरू कर दी है। 

Facebook Faces 5 Billion fine largest ever

Tags

dharmesh Jain

धर्मेश जैन एक स्वतंत्र लेखक है और साथ ही समयधारा के को-फाउंडर व सीईओ है। लेखन के प्रति गहन रुचि ने धर्मेश जैन को बिजनेस के साथ-साथ लेख लिखने की ओर प्रोत्साहित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: