breaking_news Home slider Uncategorized अन्य खेल खबरें खेल

कबड्डी विश्व कप : भारत ने ईरान पर कायम रखी बादशाहत, जीता खिताब

कब्बडी वर्ल्ड कप - 2016

अहमदाबाद, 22 अक्टूबर :  द एरेना बाय ट्रांसस्टेडिया में खेले गए कबड्डी विश्व कप में शनिवार को वही हुआ जिसकी करोड़ों भारतवासियों को उम्मीद थी। मौजूदा विश्व विजेता भारत ने फाइनल में अपने कड़े प्रतिद्वंद्वी ईरान पर अपनी बादशाहत कायम रखते हुए उसे नौ अंकों से हरा दिया। भारत ने लगातार तीसरी बार ईरान को विश्व कप के फाइनल में मात दी है।

मौजूदा विश्व विजेता और एशियन चैम्पियन भारत ने ईरान को खिताबी मुकाबले में 38-29 से मात दी, हालांकि यह खिताबी मुकाबला कई मौकों पर सांस रोकने वाला रहा।

विश्व कप में सर्वाधिक 64 रेड अंक हासिल करने वाले अजय ठाकुर फाइनल मैच में भी भारत की जीत के नायक रहे। उन्होंने इस मैच से 12 रेड अंक हासिल किए।

अजय ने पहले हाफ तक पीछे चल रही भारत को लगातार सफल रेड डालते हुए न सिर्फ बारबरी दिलाई बल्कि अहम समय पर भारत को मजबूत किया। उन्होंने कुल 12 अंक हासिल किए। कुल अंकों के मामले में भी अजय सबसे आगे रहे। उन्होंने कुल 68 अंक हासिल किए।

डिफेंस के मामले में ईरान सर्वश्रेष्ठ टीम मानी जाती है, लेकिन भारत के सुरजीत ने टैकल अंक जुटाने में सबको मात दे दी। उन्होंने विश्व कप में कुल 23 टैकल अंक हासिल किए और ईरान के फजल अतराचली से एक अंक आगे रहे।

सुरजीत ने फाइनल मैच में टैकल से तीन ही अंक हासिल किए, लेकिन ये तीन अंक बेहद अहम मौके पर आए।

स्टेडियम में जुटे 3000 जुनूनी दर्शक भारत को हर हाल में जीतता देखना चाहते थे, लेकिन शुरुआती 20 मिनट में जो हुआ वह उनकी अपेक्षा और समझ से परे था। पहले हाफ में ईरान भारत पर हावी रहा और लग रहा था कि एशियाई चैम्पियन ईरान से मात खा जाएगा।

मैच की पहली रेड डालने निकले भारतीय कप्तान अनूप कुमार खाली हाथ लौटे। अजय ठाकुर भारत का खाता खोलने में तो सफल रहे, लेकिन ईरान के कप्तान मिराज शेख ने बोनस अंक हासिल करते हुए अपनी टीम को 2-2 से बराबरी दिला दी।

यहां से कभी भारत आगे होता तो कभी ईरान। ईरान एक समय 9-7 से आगे चल रहा था। यहां भारत ने सुपर टैकल कर स्कोर 10-9 कर लिया। हालांकि ईरान ने बढ़त को कायम रखते हुए हाफ टाइम तक मेजबानों पर 18-13 की बढ़त ले ली थी।

दर्शक दुविधा में थे और भारत के पिछड़ने के साथ स्टेडियम में सन्नाटा सा पसर गया था।

पहले हाफ में भारत का डिफेंस उस आक्रामकता के साथ नहीं खेल रहा था जिसके लिए वह जानी जाती है। वहीं ईरान ने मजबूत डिफेंस के दम पर भारत को पहले हाफ में पछाड़ दिया था।

दूसरे हाफ में भारतीय टीम ने अपनी रणनीति में बदलाव किया। अजय ठाकुर को नितिन तोमर की जगह मैट पर बुलाया गया, लेकिन अगले दो रेड अनूप और संदीप नरवाल लगाने गए और खाली हाथ ही लौटे।

इस बीच ईरानी कप्तान मेराज लगातार अपनी टीम के लिए अंक जुटा रहे थे, जिसकी बदौलत ईरान 19-14 की बढ़त ले चुका था। लेकिन इसके बाद अजय ठाकुर ने लगातार दो सफल रेड से तीन अंक लेते हुए भारत का स्कोर 17-19 कर लिया। अजय ने ही अगले दो सफल रेड के जरिए भारत को 20-20 की बराबरी पर ला खड़ा किया।

अजय के ओजस्वी खेल ने भारतीय टीम में ऊर्जा का संचार किया और भारतीय डिफेंस में भी निखार नजर आने लगा। अंतत: भारत ने ईरान को ऑल आउट कर स्कोर 24-21 कर लिया और भारतीय खेमे में खुशी की लहर ला दी।

यहां से भारत ने पीछे मुड़ कर नहीं देखा। ईरान ने वापसी की कोशिश की लेकिन भारतीय टीम द्वारा पैदा किए गए अंतर को वह पाट नहीं पाई। भारत ने बढ़त कायम रखते हुए 38-29 से जीत हासिल की।

भारत की तरफ से अजय के अलावा अनूप, संदीप नरवाल, सुरजीत ने तीन-तीन अंक हासिल किए। ईरान की तरफ से मिराज ने सबसे ज्यादा सात अंक कमाए।

भारतीय टीम ने अपेक्षा के मुताबिक रेड के बल पर यह मैच अपने नाम किया। उसने रेड से 22 अंक हासिल किए जबकि ईरान की टीम 16 अंक ले सकी। भारत ने टैकल से आठ अंक जुटाए, यहां ईरान भारत से एक अंक आगे रही।

दोनों टीमों ने ऑल आउट से चार-चार अंक हासिल किए। वहीं दोनों टीमों के हिस्से दो-दो अतिरिक्त अंक आए।

भारत ने जैसे ही यह मैच जीता, पूरा स्टेडियम नाचने-कूदने लगा। यहां तक कि भारतीय खिलाड़ी भी खुशी से झूम उठे। अपने कोच बलवान सिंह को कंधे पर उठाए खिलाड़ियों ने मैट का चक्कर लगाया और दर्शकों का अभिवादन स्वीकार किया।

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment

अन्य ताजा खबरें