breaking_news Home slider Uncategorized अन्य ताजा खबरें देश राज्यो की खबरें

डीयर पार्क में 6 और पक्षियों की मौत, संख्या 64 पहुंची : दिल्ली

bird flu

नई दिल्ली, 24 अक्टूबर (आईएएनएस)| दक्षिणी दिल्ली में स्थित डीयर पार्क में सोमवार को बर्ड फ्लू के कारण छह और पक्षियों की मौत हो गई। इसके साथ ही डीयर पार्क में फ्लू से मरने वाले पक्षियों की संख्या 64 हो गई। दिल्ली के पशुपालन मंत्री गोपाल राय ने यह जानकारी दी। राय का हालांकि कहना है कि डीयर पार्क में चलाए जा रहे एंटी-वायरस कार्यक्रम का असर दिखने लगा है और सोमवार को सिर्फ दो पक्षियों के मरने की पुष्टि हुई है।

शनिवार को डीयर पार्क में 17 पक्षियों की मौत हुई, जबकि रविवार को 10 पक्षी मृत पाए गए। पहले पक्षी की मौत दिल्ली चिड़ियाखाना में हुई थी। डीयर पार्क की तरह वह भी तभी से बंद है।

राय ने कहा कि सोमवार को चार अन्य पक्षी राजघाट के नजदीक शक्ति स्थल के पीछे झील में मृत पाए गए।

राय ने कहा, “हमने झील और आस-पास के इलाकों पर नजर बनाई हुई है।”

राय ने कहा कि भोपाल स्थित केंद्रीय प्रयोगशाला को खून के नमूने भेजे गए थे, वहां से दूसरी रिपोर्ट आ गई है।

राय ने बताया, “दो नमूनों में एच5एन8 इन्फ्लुएंजा वायरस की पुष्टि हुई है। ये नमूने पिछले हफ्ते डीयर पार्क और चिड़ियाखाना के पास सुंदर नगर में मरे पाए गए पक्षियों से लिए गए थे।”

इससे पहले इस प्रयोगशाला ने दिल्ली चिड़ियाखाना से लिए गए नमूने में एच5एन8 इन्फ्लुएंजा वायरस की पुष्टि की थी। उन्होंने कहा कि चूंकि पक्षियों की मौत की खबर अन्य जगहों से भी आई है, तो हमें निगरानी बढ़ाने की जरूरत है।

राय ने दिल्लीवासियों के लिए विस्तृत स्वास्थ्य निर्देशिका जारी की है, जिसमें क्या करें और क्या न करें बताया गया है।

निर्देश में आधे उबले अंडे और मांस खाने से बचने की सलाह भी दी गई है।

राय ने सोमवार को दिल्ली सचिवालय में समन्वय समिति की बैठक बुलाई, जिसमें एच5एन8 वायरस के फैलने की जांच के लिए आगे की कार्रवाई पर चर्चा की गई।

उन्होंने सभी सरकारी विभागों को हर तरह के जलाशयों के इर्द-गिर्द चूना छिड़कने के लिए भी कहा है।

इसके अलावा ऐसे सभी जलाशयों के चारों ओर ब्लीचिंग पाउडर (सोडियम हाइपोक्लोराइट) का छिड़काव करने के लिए भी कहा गया है, जहां पक्षी पानी पीते आते हों।

राय ने कहा कि वह मंगलवार की शाम केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह से मुलाकात करेंगे।

उन्होंने कहा, “हमलोग पक्षियों और पानी के नमूनों को नियमित रूप से भोपाल स्थित केंद्रीय प्रयोगशाला को भेज रहे हैं लेकिन रिपोर्ट पहुंचने में बहुत अधिक समय लग रहा है।”

राय ने कहा, “मैं केंद्रीय मंत्री से आग्रह करूंगा कि वह प्रयोगशाला के अधिकारियों को निर्देश दें कि जल्दी से जल्दी रिपोर्ट भेजें।”

–आईएएनएस

About the author

समय धारा

Add Comment

Click here to post a comment

अन्य ताजा खबरें