breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

गलवान घाटी चीनी हिस्से में है,भारतीय सैनिकों ने सीमा पार, किया हमला: चीन का दावा

चीन ने दावा किया कि 15 जून की शाम भारतीय सैनिकों ने कमांडर लेवल की बातचीत में तय हुए एग्रीमेंट को तोड़ा और चीन की सीमा में घुस गए...

नई दिल्ली:China claim on Galwan Valley-चालाक चीन ने अब एक नया दावा किया है कि गलवान घाटी चीन का ही हिस्सा है।

लद्दाख(Ladakh) की गलवान घाटी(Galwan Valley)में ही भारतीय सैनिकों (Indian army)और चीनी सैनिकों (Chinese troops) के बीच हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें हमारे 20 जवान शहीद हो गए और

सूत्रों ने बताया कि चीन ने हमारे 10 सैनिकों को बंदी बना लिया था जिन्हें उच्चस्तर के अधिकारियों की बातचीत के बाद रिहा कर दिया गया।

अब चीन ने अपने नए दावे में न सिर्फ गलवान घाटी(China claim on Galwan Valley)को एलएसी(LAC) के अपने हिस्से में बताया है

बल्कि यह भी कहा है कि वह कई सालों से वहां चीनी सुरक्षा गार्ड गश्त लगा रहे है और अपनी ड्यूटी निभाते आ रहे है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को चीन के विदेश मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर एक प्रेस नोट जारी किया और दावा कि गलवान घाटी वास्तविक नियंत्रण रेखा(LAC)के चीन की तरफ है।

इस प्रेस नोट में कमांडर स्तर की दूसरी बैठक दोनों देशों के बीच जल्द से जल्द करवाने की बात कही गई है।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता (China’s Foreign Ministry Spokesperson)झाओ लिजियान ने 15 जून को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हुए खूनी संघर्ष का दोष फिर से भारत पर मढ़ा है और दावा किया है

कि 15 जून की शाम को भारतीय सैनिकों ने समझौता तोड़ा था और LAC को पार करके चीन के सैनिकों पर हमला किया था।

इतना ही नहीं, चीन ने यह भी दावा किया कि गलवान घाटी (Galwan Valley) वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control)  के चीन के हिस्से में आता (China claim on Galwan Valley)है।

चीन ने दावा किया कि 15 जून की शाम भारतीय सैनिकों ने कमांडर लेवल की बातचीत में तय हुए एग्रीमेंट को तोड़ा और चीन की सीमा में घुस (China accuse Indian soldiers to cross LAC attack) गए।

भारतीय सैनिकों ने जान-बूझकर दोनों देशों के बीच के हालात को खराब किया। जब चीनी सेना और अधिकारी वर्ग उनसे बात करने गया तो भारतीय सैनिकों ने उनपर हिंसक हमला कर दिया।

इसके बाद दोनों देशों के जवानों के बीच शारीरिक संघर्ष हुआ और जान-माल का नुकसान हुआ।

चीन (China) ने आगे यह भी कहा कि भारतीय सैनिकों ने हमें सीमा पर कम आंकते हुए एडवेंचर्स एक्ट किया, चीन के सैनिकों की जान को खतरे में डाला,

साथ ही दोनों देशों के बीच हुए सीमा समझौते का उल्लंघन (border violation) भी किया जोकि सीधा-सीधा इंटरनेशनल रिलेशनशिप का उल्लंघन है।

चीन के विदेश मंत्रालय ने अपनी ओर से जारी प्रेस नोट में कहा कि भारत(India) एलएसी (LAC) के पास गलवान घाटी (Galwan Valley) में निरंतर अप्रैल 2020 से सड़क निर्माण, पुल निर्माण और अन्य गतिविधियां कर रहा है।

चीन ने इन सब बातों पर भारत सरकार के सामने अपना विरोध जताया है लेकिन फिर भी भारतीय सेना बार-बार सीमा को पार करके हमें भड़काने का प्रयास करती रही।

चीन ने यह भी दावा किया कि भारतीय सीमा सैनिकों ने 6 मई की सुबह तक, रातों रात चीन की सीमा में घुसकर बंकर और बैरिकेड्स बना लिए थे।

ताकि चीनी सैनिकों को पेट्रोलिंग करने से रोका जा सके।

आगे उन्होंने यह भी कहा कि दोनों देश राजनयिक और सैन्य जरिए से तनाव को कम करने के लिए संवाद कर रहे हैं।

तनावपूर्ण हालात (India-china face off) से निपटने के लिए कमांडर स्तर की दूसरी बैठक जल्द से जल्द होनी चाहिए।

 

भारत ने गलवान घाटी पर खारिज किया था चीन का दावाChina claim on Galwan Valley

गौरतलब है कि भारत ने चीन के दावे से एक दिन पहले ही गलवान घाटी पर चीन की सेना के संप्रभुता के दावे को खारिज कर दिया था और बीजिंग से कहा था कि वह अपनी गतिविधियां LAC के उस तरफ तक ही सीमित रखे।

भारत का कहना है कि इस तरह का ‘बढा चढ़ाकर’ किया गया दावा 6 जून को उच्च स्तरीय सैन्य वार्ता में बनी सहमति के खिलाफ है।

 

 

China claim on Galwan Valley

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 5 =

Back to top button