breaking_newsHome sliderअन्य ताजा खबरेंराजनीतिक खबरेंविश्व

World News : ब्रिटेन के रक्षा मंत्री का गलत आचरण के आरोप के बाद इस्तीफा

लंदन, 2 नवंबर :  ब्रिटेन के रक्षा मंत्री माइकल फैलन ने बुधवार रात को इस्तीफा दे दिया। वह थेरेसा मे के मंत्रिमंडल के पहले बड़े नेता हैं, जिन्होंने गलत आचरण के आरोप के बाद पद से इस्तीफा दिया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, फैलन ने प्रधानमंत्री थेरेसा मे को पत्र लिखकर बताया कि वह अपने पद से इस्तीफा दे रहे हैं।

डाउनिंग स्ट्रीट ने फैलन के इस्तीफे की पुष्टि करते हुए कहा कि थेरेसा ने उनका इस्तीफा स्वीकारते हुए फैलन को पत्र लिखा है।

मे ने फैलन को लिखा, “मैं आपके इस गंभीर रुख की सराहना करती हूं, जिसके जरिए आपने अपने पद की गरिमा का ध्यान रखा और विशेष रूप से जवानों, महिलाओं एवं अन्य के समक्ष एक उदाहरण रखा।”

थेरेसा ने फैलन के रक्षा मंत्री के रूप में उनके साढ़े तीन वर्षो के दौरान देश की सेनाओं के शानदार नेतृत्व के लिए प्रशंसा की। इसके साथ ही आतंकवाद की चुनौतियों के बीच संकट के समय में रक्षा मंत्री के रूप में उनके कर्तव्यों के सही निर्वहन के लिए भी सराहना की। 

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि अपने सर्वाधिक सहयोगी और भरोसेमंद मंत्रियों में से एक, फैलन का इस्तीफा थेरेसा के लिए झटके की तरह होगा।

फैलन के इस्तीफे से कुछ घंटे पहले ही थेरेसा मे ने हाउस ऑफ कॉमंस को बताया था कि उन्होंने अगले सप्ताह पार्टी के मुख्य नेताओं की एक बैठक बुलाई है, जिसमें वेस्टमिंस्टर में नेताओं द्वारा किए जाने वाले यौन उत्पीड़न की शिकायतों से निपटने पर चर्चा की जाएगी।

इस सप्ताह की शुरुआत में फैलन ने स्वीकार किया था कि उन्होंने 15 साल पहले कंजरवेटिव पार्टी के सम्मेलन में एक रेडियो प्रस्तोता के घुटने पर अपना हाथ रखा था।

फैलन ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा, “हाल के दिनों में सांसदों के खिलाफ कई आरोप लगाए गए हैं। इसमें कुछ मेरे पिछले व्यवहार के बारे में भी हैं।”

उन्होंने लिखा, “इसमें से कई झूठे हैं, लेकिन मैं स्वीकार करता हूं कि पूर्व में मैं उन उच्च मानकों से नीचे गिर गया था, जो सशस्त्रबलों के लिए जरूरी हैं और जिसका प्रतिनिधित्व करने का सम्मान मुझे हासिल है। इसलिए मैं अपने पद से इस्तीफा देता हूं।”

उन्होंने एक बयान में कहा, “पिछले साढ़े तीन साल से रक्षा मंत्री के पद पर रहना मेरे लिए सम्मान की बात थी। मेरे पास कुछ नहीं है बल्कि उन पु और महिलाओं के पेशे, बहादुरी और सेवा की सराहना करता हूं जो हमें सुरक्षित रखते हैं।”

–आईएएनएस

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: