breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

CAA: भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद दोबारा पुलिस हिरासत में, दरियागंज में आग

दिल्ली के दरियागंज इलाके में CAA का विरोध कर रहे लोगों ने जहां पुलिस स्टेशन के बाहर खड़ी एक कार में आग लगा दी

नई दिल्ली:CAA protest:Bhim Army chief Chandrashekhar Azad in police custody- देश नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill)  की खिलाफत की आग में पूरी तरह सुलग रहा है। भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया (CAA protest:Bhim Army chief Chandrashekhar Azad in police custody) है।

शुक्रवार को दिल्ली के दरियागंज इलाके में सीएए (Daryaganj CAA Protest)  का विरोध कर रहे लोगों ने जहां पुलिस स्टेशन के बाहर खड़ी एक कार में आग लगा दी तो वहीं पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठी चार्ज और वॉटर कैनन का प्रयोग किया।

इस दौरान नागरिकता संशोधन बिल का विरोध (Citizenship Amendment bill protest) कर रहे 40 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया और साथ ही शुक्रवार को लापता हुए भीम आर्मी (Bhim Army)  चीफ चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad)  को भी शनिवार सुबह पुलिस ने फिर से अपनी हिरासत में ले लिया (Bhim Army chief Chandrashekhar Azad in police custody) है।

क्यों लिया गया चंद्रशेखर को हिरासत में?

CAAprotestupdate-BhimArmychiefChandrashekharAzad_optimized

दरअसल, शुक्रवार को भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद (Bhim Army chief Chandrashekhar Azad) दिल्ली की जामा मस्जिद इलाके में अपने सैकडों कार्यकर्ताओं के साथ पहुंच गए जबकि वहां पुलिस ने धारा 144  लगाई हुई थी।

साथ ही कई मुस्लिम संगठनों से जुड़े लोग भी पहुंचे। सभी जामा मस्जिद से लेकर जंतर-मंतर तक सिटिजन अमेंडमेंट एक्ट (CAA) के विरोध में मार्च करने की तैयारी कर रहे थे।

चूंकि दिल्ली पुलिस (Delhi Police)ने किसी भी प्रकार के मार्च की इजाजत नहीं दी थी इसलिए तनाव की आशंका को देख पुलिस ने सैकड़ों लोगों की भीड़ देखकर चंद्रशेखर आजाद को हिरासत में ले लिया था

लेकिन फिर खबर आई कि भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद पुलिस कस्टडी से गायब हो गए है और अब शनिवार सुबह दिल्ली पुलिस ने भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर को दोबारा हिरासत में ले लिया ((Bhim Army chief Chandrashekhar Azad in police custody) है।

गौरतलब है कि दरियागंज (Daryaganj) में कार को आग लगाने के मामले में पुलिस ने जिन 40 लोगों को अपनी हिरासत में लिया है उनमें से आठ लोग नाबालिग है।

लाठीचार्ज में घायल लोगों का इलाज लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल में चल रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ज्यादातर घायल लोगों के हाथों में चोट और सूजन आई है।

एक बच्चे के सिर में गंभीर चोट है। इतना ही नहीं, प्रदर्शनकारियों में कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए है।

पुलिस कस्टडी में लिए गए लोगों की रिहाई की मांग करते हुए लोग शुक्रवार देर रात दिल्ली पुलिस के हेडक्वार्टर पहुंचे।

ऐसे ही जामिया मिल्लिया इस्लामिया मामले में भी पुलिस ने 50 लोगों से अधिक छात्रों को कस्टडी में लिया था। तब छात्रों ने देर रात तक पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर प्रदर्शन किया था

और उनकी रिहाई की मांग के बाद पुलिस ने हिरासत में लिए गए छात्रों को रिहा किया था।

CAA protest:Bhim Army chief Chandrashekhar Azad in police custody

Show More

Reena Arya

रीना आर्य www.samaydhara.com की फाउंडर और एडिटर-इन-चीफ है। रीना आर्य ने पत्रकारिता के महज 6-7 साल के भीतर ही अपने काम के दम पर न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपनी पहचान बनाई बल्कि तमाम चुनौतियों और पारिवारिक जिम्मेदारियों को निभाते हुए समयधारा.कॉम की नींंव रखी। हर मुद्दे पर अपनी ज्वलंत और बेबाक राय रखने वाली रीना आर्य एक पत्रकार, कंटेंट राइटर,एंकर और एडिटर की भूमिका निभा चुकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − seventeen =

Back to top button