breaking_newsHome sliderचटपट चुटकले और शायरीदिल की बात

शायरी : न चादर बड़ी कीजिये, न ख्वाहिशे दफन कीजिये…!

(A)  दिल कर रहा है किसी को परेशान करूँ

लेकिन शांति से जी कौन रहा है ये पता नहीं लग रहा

(B) न चादर बड़ी कीजिये,
न ख्वाहिशे दफन कीजिये,
चार दिन की ज़िन्दगी है,
बस चैन से बसर कीजिये।।।।

न परेशान किसी को कीजिये,
न हैरान किसी को कीजिये,
कोई लाख गलत भी बोले,
बस मुस्कुरा कर छोड़ दीजिये।।।।

न रूठा किसी से कीजिये,
न झूठा वादा किसी से कीजिये,
कुछ फुर्सत के पल निकालिये,
कभी खुद से भी मिला कीजिये।।।।

(इनपुट सोशल मीडिया से)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 + 20 =

Back to top button