breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीति
Trending

मोदी सरकार ने दिल्ली के प्रवासी भारतीय केंद्र, विदेश सेवा संस्थान को दिया ‘सुषमा स्वराज’ का नाम

पूर्व विदेश मंत्री व भाजपा की दिवंगत नेता सुषमा स्वराज की जयंती (14 फरवरी 1952) है

नई दिल्ली: Modi govt renamed Pravasi Bhartiya Kendra Delhi, Foreign Service Institute on SushmaSwaraj name- मोदी सरकार (Modi govt) ने पूर्व विदेश मंत्री व भाजपा की दिवंगत नेता सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) की जयंती (14 फरवरी 1952) के अवसर पर उन्हें सम्मानित करने

और विदेश मंत्रालय (Foreign ministry) में उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए नई दिल्ली स्थित प्रवासी भारतीय केंद्र (Pravasi Bhartiya Kendra Delhi)और विदेश सेवा संस्थान (Foreign Service Institute) का नाम बदलकर दिवंगत सुषमा स्वराज के नाम पर रखने की घोषणा की है।

गौरतलब है कि नई दिल्ली में स्थित प्रवासी भारतीय केंद्र का नाम अब बदलकर सुषमा स्वराज भवन (SushmaSwaraj Bhawan)और विदेश सेवा संस्थान का नाम बदलकर सुषमा स्वराज विदेश सेवा संस्थान  (Sushma Swaraj Institute of Foreign Service) रखा गया है।

केंद्र की मोदी सरकार ने स्वर्गीय सुषमा स्वराज के बतौर विदेश मंत्री रहते हुए उनके योगदान को देखते हुए इस फैसले को लिया है।

गुरुवार को विदेश मंत्रालय की ओर से एक आधिकारिक बयान जारी कर कहा है कि ‘पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अभूतपूर्व योगदान के लिए प्रवासी भारतीय केंद्र, दिल्ली का नाम सुषमा स्वराज भवन और विदेश सेवा संस्थान, दिल्ली का नाम सुषमा स्वराज इंस्टिट्यूट ऑफ फॉरेन सर्विस रखने का फैसला किया गया (Modi govt renamed Pravasi Bhartiya Kendra Delhi, Foreign Service Institute on SushmaSwaraj name) है।’

विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में आगे कहा है कि ‘पूर्व विदेश मंत्री के दशकों तक पब्लिक सर्विस और उनकी विरासत को सम्मान देते हुए 14 फरवरी को उनकी पहली जयंती के अवसर पर यह घोषणा की जा रही है।’

https://twitter.com/barkhatrehan16/status/1227939229486895110?s=20

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) के प्रथम कार्यकाल में दिवंगत सुषमा स्वराज ने विदेश मंत्री का कार्यभार संभाला था।

वे उस वक्त सुर्खियों में आ गई थी जब विदेश में रह रहे प्रवासी भारतीयों के लिए वे ट्विटर पर ही उपलब्ध हो जाती थी और और महज ट्वीट के माध्यम से ही उनकी मदद के लिए हमेशा प्रयासरत रहती थी

इसलिए विदेशों में परेशानियों में फंसे भारतीयो की मदद के लिए किए गए उनके कामों के कारण आज भी सुषमा स्वराज को याद किया जाता है।

भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का देहांत 6 अगस्त 2019 को हो गया था।

 
 

 

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve − 8 =

Back to top button