breaking_newsHome sliderब्लॉग्सविचारों का झरोखा

Cycle के इस्तेमाल से भारत जैसे कई देशों में प्रदूषण से लड़ने में मदद मिलेगी

नई दिल्ली, 16 मार्च : जर्मनी के साइकिलिंग स्टार जेन्स वोइट ने गुरुवार को भारतीयों से आग्रह किया है कि वे अपनी सभी गतिविधियों के लिए साइकिल का इस्तेमाल करें।

वोइट का कहना है कि इससे देश को प्रदूषण से लड़ने में मदद मिलेगी और इससे शहरी इलाकों में यातायात की समस्या भी कम होंगी।

साल 2001 और 2006 में साइकिलिंग की सबसे बड़ी प्रतियोगिता टूर दे फ्रांस के एकल वर्ग में दो बार पीली जर्सी जीतने वाले वोइट ने कहा कि देश में फिटनेस को लेकर संवेदनशील लोगों में साइकिलिंग के प्रति उत्सुकता बढ़ रही है, लेकिन उन्होंने अभिभावकों से अपने बच्चों को जितनी जल्दी हो सके साइकिलिंग से जोड़ने का आग्रह किया है।

भारत में पहली बार ट्रैक साइकिल के लांच पर शामिल 46 वर्षीय वोइट ने आईएएनएस के साथ एक साक्षात्कार में कहा, “हम चाहते हैं कि अधिक से अधिक बच्चे साइकिलिंग से जुड़ें, क्योंकि इसके साथ देर से जुड़ने वाले बच्चों में विकास देरी से होता है।”

वोइट ने कहा, “हम स्कूल जाने, यूनिवर्सिटी और काम पर जाने के लिए साइकिल का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह पर्यावरण के लिए भी अच्छा है। लोगों के मस्तिष्क के लिए अच्छा है। इससे सड़कों पर यातायात की समस्या का भी हल हो सकता है। ऐसे में देखा जाए, तो साइकिल के इस्तेमाल से लाखों फायदे हैं और इसी पर ही ट्रेक का मुख्य ध्यान है।”

भारत में साइकिलिंग का प्रचलन अभी प्रारंभिक अवस्था में है, लेकिन वोइट को उम्मीद है कि देश में इसकी अवस्था में जल्द ही परिवर्तन होगा।

वोइट ने कहा, “मेरे दिमाग में सबसे पहली चीज आई और वह है क्षमता। जब 2006 में ट्रेक पहली बार भारत में आया था, जो एक साल में इसकी 2300 साइकिल बिकीं थी।”

उन्होंने कहा, “अब हम एक साल में 25,000 साइकिल बेचते हैं। इसलिए, निश्चित तौर पर भारतीय बाजारों में इसकी बिक्री के संदर्भ में काफी क्षमता है। एक उदाहरण के लिए देखा जाए, तो सभी कंपनियां कहीं न कहीं एक साथ काम कर रही हैं। हम साइकिल समुदाय का विकास कर सकते हैं और इसकी स्ेिथति में सुधार ला सकते हैं।”

भारतीय साइकिल एथलीटों की क्षमता के बारे में पूछे जाने पर जेंस ने कहा, “निश्चित तौर पर में इन एथलीटों में क्षमता है। मुझे यहां की सड़कों की गुणवत्ता अच्छी लगी है, तो भारतीय साइकिल एथलीट आसानी से इन सड़कों पर साइकिल चला सकते हैं।”

वोइट ने अपने करियर के दौरान 8,50,000 किलोमीटर का रास्ता तय किया है और वह कोर्स के भीतर और बाहर नियमित रूप से नई चुनौतियां लेने के लिए तैयार रहते हैं।

साइकिल निर्माण के क्षेत्र में विश्व की अग्रणी कम्पनियों में से एक-ट्रेक ने 34 मॉडलों के साथ गुरुवार को भारतीय बाजार में प्रवेश की घोषणा की।

इस दौरान ट्रेक इंडिया के कंट्री मैनेजर, नवनीत बांका और पूर्व जर्मन पेशेवर रोड साइकिल वोइट भी मौजूद थे। वोइट ट्रेक के ग्लोबल ब्रांड एम्बेसेडर हैं।

–आईएएनएस

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − 2 =

Back to top button