Trending

Income Tax-आयकर सीमा 5 लाख से बढ़ाकर 7 लाख 

वेतन भोगियों को आयकर में छूट, अब 5 लाख की जगह आप पर 7 लाख तक की कमी यानी इनकम पर कोई भी इनकम टैक्स नहीं लगेगा l 

Live Union Budget 2023 income tax exemption for salaried
Increase in income tax limit from 5 lakh to 7 lakh

नयी दिल्ली (समयधारा) : Live Budget Income Tax की सीमा 7 लाख रुपये तक कर दी है l

यानी अब 5 लाख की जगह आप पर 7 लाख तक की कमी यानी इनकम पर कोई भी इनकम टैक्स नहीं लगेगा l 

 

  • वेतन भोगियों को आयकर में छूट 
  • आयकर सीमा 5 लाख से बढ़ाकर 7 लाख 

वित्तमंत्री ने नए टैक्स रीजीम के लिए बड़ा ऐलान किया है। इसके तहत टैक्स रिबेट को बढ़ाकर 7 लाख रुपये कर दिया गया है यानी 7 लाख रुपये तक इनकम पर कोई टैक्स नहीं देना होगा।

इसके अलावा, उन्होंने कहा कि 2020 में 2.5 लाख रुपये शुरुआती इनकम के साथ 6 इनकम स्लैब्स वाली नई पर्सनल इनकम टैक्स रीजीम पेश की गई थी।

अब इस बजट में स्लैब घटाकर पांच कर दी गई हैं और साथ ही टैक्स एग्जम्प्शन लिमिट बढ़ाकर 3 लाख रुपये कर दी गई है।

  1. 6-9 लाख-10 फीसदी टैक्स
  2. 9-12 लाख-15 फीसदी टैक्स
  3. 12-15 लाख-20 फीसदी टैक्स
  4. 15 लाख से ऊपर 30 फीसदी टैक्स

वित्तमंत्री ने नए टैक्स रीजीम के लिए बड़ा ऐलान किया है। इसके तहत टैक्स रिबेट को बढ़ाकर 7 लाख रुपये कर दिया गया है यानी 7 लाख रुपये तक इनकम पर कोई टैक्स नहीं देना होगा।

इसके अलावा, उन्होंने कहा कि 2020 में 2.5 लाख रुपये शुरुआती इनकम के साथ 6 इनकम स्लैब्स वाली नई पर्सनल इनकम टैक्स रीजीम पेश की गई थी।

अब इस बजट में स्लैब घटाकर पांच कर दी गई हैं और साथ ही टैक्स एग्जम्प्शन लिमिट बढ़ाकर 3 लाख रुपये कर दी गई है।”

Live UnionBudget2023  FM NirmalaSitharaman Saptrishi dekho apna desh pmvishvkarmasamman PMGaribKalyanAnnYojana

इससे पहले,

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में बजट(UnionBudget 2023-24) पेश कर दिया l

उन्होंने अपनी बात जारी रखते हुए कहा :

EPFO की बढ़ती सदस्यता के आधार पर सीतारमण ने दावा किया कि फॉर्मल इकोनॉमी का दायरा बढ़ा है। यह बहुत रोचक है।

अब तक सरकार EPFO के आंकड़ों के आधार पर यह कहती थी कि रोजगार बढ़ा है।

लेकिन इस बार सरकार ने इसे रोजगार की जगह अर्थव्यवस्था के संगठित होने की ओर बढ़ने का संकेत बताया है।

सरकार ने एग्रीटेक स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए एक एसीलेटर फंड का ऐलान किया है,

जिससे ग्रामीण क्षेत्रों के आंत्रप्रेन्योर्स को खासा फायदा होगा। फंड में किसानों की चुनौतियों से जुड़े नए समाधानों को आगे लाने पर जोर दिया जाएगा।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत घरेलू के साथ विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर खासा आकर्षित कर रहा है।

देश में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। इस क्षेत्र में विशेष रूप से युवाओं के लिए नौकरियों और उद्यमिता के बड़े अवसर हैं।

डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर फॉर एग्रीकल्चर के तहत किसानों को ध्यान में रखन सेवाएं शुरू की जाएगी। यह फसल सुरक्षा के लिए काफी अहम होंगे।

इससे देश में एग्रीटेक स्टार्टअप को बढ़ावा मिलेगा। एकलव्य विद्यालयों के लिए 38000 से ज्यादा शिक्षकों की नियुक्ति होगी।

वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में बताया कि बच्चों और किशोरों के लिए राष्ट्रीय डिजिटल पुस्तकालय स्थापित किया जाएगा।

Live Union Budget 2023 income tax exemption for salaried
Increase in income tax limit from 5 lakh to 7 lakh

कर्नाटक के सूखा ग्रस्त क्षेत्रों के लिए 5300 करोड़ की सहायता दी जाएगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि बजट में 7 मुख्य प्राथमिकताओं पर जोर दिया है।

उन्होंने इन 7 प्राथमिकताओं को ‘सप्तर्षि’ का नाम दिया और कहा कि अमृतकाल में ये सप्तर्षि हमें रास्ता दिखाएंगे। ये 7 प्राथमिकताएं हैं : 

  1. समावेशी विकास
  2. आखिरी पायदान पर खड़े लोगों तक पहुंचना
  3. इंफ्रास्ट्रक्चर और निवेश
  4. क्षमता को उजागर करना
  5. हरित विकास
  6. युवा शक्ति
  7. फाइनेंशियल सेक्टर

वित्तमंत्री ने मुख्य खाद्यान्न योजना पर बड़ा ऐलान किया है।

उन्होंने कहा कि फूड सिक्योरिटी के लिए अपनी प्रतिबद्धता जारी रखते हुए सरकार 1 जनवरी, 2023 से एक साल के लिए

सभी अंत्योदय और प्राथमिकता वाले परिवारों को पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना (PM Garib Kalyan Ann Yojana) के तहत मुफ्त खाद्यान्न की आपूर्ति करने की योजना को लागू कर रही है।

वित्त मंत्री ने कहा कि ईपीएफओ सदस्यता दोगुनी होने से अर्थव्यवस्था बहुत अधिक फॉर्मल हो गई है।

फॉर्म क्रेडिट के लिए अगले वित्त वर्ष में 20 लाख करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है।

Live Union Budget 2023 income tax exemption for salaried
Increase in income tax limit from 5 lakh to 7 lakh

बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया है कि देश में 109 नए नर्सिंग कॉलेज बनाए जाएंगे।

ICMR प्रयोगशाला की सुविधाएं प्राइवेट सेक्टर के लिए उपलब्ध कराई जाएंगी।

वित्त मंत्री ने ये भी बताया कि 2014 से 157 मेडिकल कॉलेज बनाए गए हैं। चिकित्सा क्षेत्र में निजी निवेश को बढ़ावा दिया जाएगा।

ICMR लैब की संख्या देशभर में बढ़ाई जाएगी। 2047 तक एनीमिया उन्मूलन का लक्ष्य।

रोजगार के मौके शुरू करने, अर्थव्यवस्था की स्थिरता और युवाओं पर फोकस के साथ निर्मला सीतारमण का यह बजट कुल मिलाकर विकास का बजट होने का दावा करता है।

वास्तव में ये दावा कितना वास्तविक है, ये तो बजट के प्रावधानों के सामने आने के बाद ही पता चलेगा।

भारत मिलेट को लोकप्रिय बनाने में सबसे आगे हैं। इसे पोषण को बढ़ावा मिलता है।

हम अन्न के उत्पादन में दूसरे देशों से बहुत आगे हैं। हम कई तरह के अनाजों का उत्पादन करते हैं।

हम ऐसे कई अनाजों का उत्पादन करते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद हैं।

अब भारत को अन्न का वैश्विक केंद्र बनाने के लिए हैदराबाद के केंद्र को उत्कृष्टता का केंद्र बनाया जाएगा।

इसके अलावा कृषि में स्टार्टअप को बढ़ावा दिया जाएगा। स्टार्टअप के लिए कृषि निधि बनाई जाएगी।

एग्रीकल्चर एक्सेलेरेटर फंड बनाया जाएगा। बागवानी योजनाओं के लिए 2200 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

Live Union Budget 2023 income tax exemption for salaried
Increase in income tax limit from 5 lakh to 7 lakh

#Budget-अमृतकाल के पहले बजट की पल-पल की ख़बरें 

इससे पहले, 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में बजट(UnionBudget 2023-24) पढ़ना शुरू कर दिया है l

उन्होंने कहा अमृतकाल का यह पहला बजट है, यह आजादी के 100 साल बाद भारत की परिकल्पना का बजट है।

इस बजट में किसान, मध्य वर्ग, महिला से लेकर समाज के सभी वर्ग के विकास की रूपरेखा है।

वित्त मंत्री ने कहा, ‘2014 से सरकार के प्रयासों ने सभी नागरिकों के जीवन की बेहतर गुणवत्ता और गरिमापूर्ण जीवन सुनिश्चित किया है।

प्रति व्यक्ति आय दोगुनी से अधिक बढ़कर 1.97 लाख रुपये हो गई है।

इन 9 वर्षों में, भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में बढ़ी है।’

सरकार के आर्थिक एजेंडे का जोर तीन मुख्य बातों पर है। पहला नागरिकों विशेष रूप से युवाओं के लिए पर्याप्त अवसर प्रदान करना,

live Union Finance Minister Nirmala Sitharaman presented UnionBudget2023 in the Parliament , union budget 2023-24 f
Live Budget 2023 : अमृतकाल का यह पहला बजट

दूसरा विकास और रोजगार सृजन के लिए प्रोत्साहन देना और तीसरा मैक्रो इकोनॉमी में स्थिरता लाना।

दुनिया ने भारत को एक चमकते के रूप में मान्यता दी है। चालू वर्ष के लिए भारत ग्रोथ 7.0 फीसदी रहने का अनुमान है।

खास बात यह है कि ग्रोथ महामारी और युद्ध के कारण बड़े पैमाने पर वैश्विक मंदी के बावजूद सभी प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में सबसे ज्यादा है।

“सबका साथ सबका विकास के तहत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों और महिलाओं पर फोकस करते हुए विकास करने की कोशिश की है।

Live UnionBudget2023  FM NirmalaSitharaman Saptrishi dekho apna desh pmvishvkarmasamman PMGaribKalyanAnnYojana

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट भाषण में एग्रीकल्चर एक्सीलेटर फंड का ऐलान किया।

इस नीधि से किसानों के इनोवेशन के लिए फंड दिया जाएगा। लंबे रेशेदार कपास का उत्पादन बढ़ाने के लिए PPP मॉडल के तहत कोशिश की जाएगी।

Budget-2023 Jokes-बजट आने से पहले कोई बाथरूम में फ़िल्मी गाने गा रहा है  तो समझ लो वह बजट आने से पहले

इसके साथ ही वित्तमंत्री ने कलाकारों के लिए पीएम विश्वकर्मा सम्मान का ऐलान किया।

47.8 करोड़ जनधन खाते खोल गए हैं। पीएम सुरक्षा के तहत 44 करोड़ किसानों को बीमा का लाभ मिला है।

1.24 लाख करोड़ रुपये मूल्य के UPI ट्रांजेक्शन हुए हैं। 2014 से सरकार के प्रयासों ने सभी नागरिकों के जीवन की बेहतर गुणवत्ता और गरिमापूर्ण जीवन सुनिश्चित किया है।

प्रति व्यक्ति आय दोगुनी से अधिक बढ़कर 1.97 लाख रुपये हो गई है।

इन 9 वर्षों में, भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में बढ़ी है।

47.8 करोड़ जनधन खाते खोल गए हैं। पीएम सुरक्षा के तहत 44 करोड़ किसानों को बीमा का लाभ मिला है।

1.24 लाख करोड़ रुपये मूल्य के UPI ट्रांजेक्शन हुए हैं। 2014 से सरकार के प्रयासों ने सभी नागरिकों के जीवन की बेहतर गुणवत्ता और गरिमापूर्ण जीवन सुनिश्चित किया है।

Live UnionBudget2023  FM NirmalaSitharaman Saptrishi dekho apna desh pmvishvkarmasamman PMGaribKalyanAnnYojana

बजट से पहले शेयर मार्केट में शानदार तेजी

प्रति व्यक्ति आय दोगुनी से अधिक बढ़कर 1.97 लाख रुपये हो गई है। इन 9 वर्षों में, भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में बढ़ी है।

कोविड महामारी के दौरान हमने 80 करोड़ लोगों के लिए मुफ्त खाद्यान योजना का ऐलान किया।

इसका मकसद यह था कि कोई भूखा नहीं रहे। वैश्किव चुनौतियों के दौर में हमें G20 की अध्यक्षता करने का मौका मिला है।

हम एक महत्वाकांक्षी लोक कल्याणकारी एजेंडा पर चल रहे हैं।

वर्तमान वर्ष के लिए हमारी अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 7% रहने का अनुमान है, यह विश्व की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे अधिक है।

भारतीय अर्थव्यवस्था सही रास्ते पर है और उज्ज्वल भविष्य की ओर बढ़ रही है।

“चालू वित्त वर्ष में हमारी विकास दर 7 फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया है।

यह बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे ज्यादा है। यह कोरोना की महामारी के बावजूद है।

Union Budget 23-24:निर्मला सीतारमण आज पेश करेंगी आम बजट 2023,चुनावी राहत के आसार

दुनिया हमारी तरफ देख रही है। हमने सबसे प्रयास के माध्यम से जननीतियों पर ध्यान केंद्रित किया है।

दुनिया में भारत का कद कई उपलब्धियों की वजह से बढ़ा है।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में अपना बजट भाषण शुरू कर दिया है।

उन्होंने कहा, “अमृत काल (Amrit Kaal) में यह पहला बजट है।”

संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि यह अब तक का सबसे अच्छा बजट होगा।

यह गरीब और मिडिल क्लास को फायदा पहुंचाने वाला बजट होगा। Live UnionBudget2023  FM NirmalaSitharaman Saptrishi dekho apna desh pmvishvkarmasamman PMGaribKalyanAnnYojana

इससे पहले पीएम नरेन्द्र मोदी की अगुआई में हुई कैबिनेट मीटिंग में यूनियन बजट को मंजूरी दे दी गई थी।

बजट की कॉपियां संसद भवन पहुंच गई हैं। बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार सुबह पहले राष्ट्रपति भवन पहुंच कर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की और बजट पेश करने की मंजूरी ली।

इस दौरान उनके साथ केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री डॉ. भागवत किशनराव कराड, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी और वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।”

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ‘बजट देखने के बाद हम अपनी प्रतिक्रिया देंगे।

बिना बजट देखे अंदाज़े पर बोलना गलत होगा। बजट रिपोर्ट देखने के बाद, बजट कैसा होना चाहिए था और कैसा है इसपर बात करेंगे।

राष्ट्रपति के अभिभाषण में तो कुछ नहीं दिखा अब बजट में उनका जलवा देखेंगे।’

वहीं, लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा,

‘हिंदुस्तान में गरीबी, बेरोजगारी-महंगाई बढ़ रही है। इसे ध्यान में रखते हुए बजट पेश किया जाना चाहिए।

बजट पेश होने के बाद पता चलेगा कि सरकार हमारी उम्मीदों पर खरी उतरती है या नहीं।’

वैसे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेपरलेस बजट (Paperless Budget) पेश करेंगी।

यानी, वह अपना बजट भाषण (Budget Speech) कागज से नहीं, टैब से पढ़ेंगी। हालांकि, सांसदों को कागज में प्रकाशित बजट की कॉपियां ही मिलेंगी।

ध्यान रहे कि 2019 के बाद से बही-खाते के रूप में बजट को सूटकेश में लाने की प्रथा खत्म हो गई है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपना पहला बजट पेश करते हुए सूटकेश की परंपरा खत्म कर दी थी।

अब टैब को लाल कपड़े में बांधकर लाती हैं वित्त मंत्री।

केंद्रीय मंत्रिमंडल की मीटिंग संसद भवन में चल रही है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार 2.0 के आखिरी बजट पर कैबिनेट की मंजूरी का प्रस्ताव रखा है।

नियम के मुताबिक मंत्रिमंडल बजट का अनुमोदन करेगा, उसके बाद वित्त मंत्री संसद में बजट पेश करेंगी।

इस बार बजट से काफी उम्मीदें हैं क्योंकि अगले वर्ष 2024 में लोकसभा चुनाव होने वाला है।

वैसे भी डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन के मोर्चे पर खुशखबरी मिली है। जनवरी महीने में जीएसटी कलेक्शन दूसरा सर्वोच्च स्तर पर पहुंच गया है।

live Union Finance Minister Nirmala Sitharaman presented UnionBudget2023 in the Parliament 

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button