Trending

RBI ने Repo Rate में नहीं किया कोई बदलाव, UPI को लेकर बड़ा ऐलान

RBI MPC Policy Live Updates - RBI गवर्नर ने ब्‍याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। रेपो रेट 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है।

 RBI Monetary Policy No Change In Repo Rate UPI Limit Increase 

मुंबई (समयधारा): RBI MPC Policy Live Updates: रिजर्व बैंक (RBI) गवर्नर शक्तिकांत दास आज (8 दिसंबर) को मॉनेटरी पॉलिसी का ऐलान कर दिया है।

RBI गवर्नर ने ब्‍याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। रेपो रेट 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है।

RBI ने लगातार पांचवीं बार ब्‍याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। दूसरी तिमाही (Q2FY24) में उम्‍मीद से बेहतर GDP आंकड़े रहे हैं।

भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि लिक्विडिटी फैसिलिटी के रिवर्सल की सुविधा वीकेंड यानी शनिवार और रविवार और छुट्टियों के दिन भी मिलती रहेगी।

ये सुविधा 30 दिसंबर 2023 से शुरू हो जाएगी। अगले 6 महीने के बाद आरबीआई की ओर से इसकी समीक्षा की जाएगी।

कैंसर से जूझ रहे जूनियर महमूद का निधन, आज दोपहर को होगा अंतिम संस्कार

आरबीआई गवर्नर ने कहा कि घरेलू मांग के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी जारी है।

लागत खर्च में कमी से मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में मजबूती आई है। सरकारी खर्च से निवेश के रफ्तार में तेजी आई है।

एग्रो क्रेडिट में ग्रोथ से रिकवरी बेहतर होने का अनुमान है

RBI का कहना है कि क्लाउड फैसिलिटी से डाटा सुरक्षा पर फोकस बढ़ाया जाएगा।

जरूरी सेवाओं पर UPI पेमेंट लिमिट 5 लाख तक की जा रही है।

हॉस्पिटल, एजुकेशन के लिए UPI पेमेंट की लिमिट 1 लाख से बढ़ाकर 5 लाख तक कर दी गई है।

आरबीआई ने अप्रैल 2024 तक FINTECH REPOSITORY के गठन का प्रस्ताव रखा है।

अक्टूबर से दिसंबर 2023 के लिए कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) का पूर्वानुमान 5.6 फीसदी पर बरकरार रखा गया है।

RBI मॉनेटरी पॉलिसी से पहले बाजार में तेजी

जनवरी-मार्च 2024 के लिए CPI मुद्रास्फीति का पूर्वानुमान 5.2 फीसदी पर बरकरार रखा गया।

वहीं अप्रैल-जून 2024 के लिए CPI मुद्रास्फीति का पूर्वानुमान 5.2 फीसदी पर बनाए रखा गया है।

 RBI Monetary Policy No Change In Repo Rate UPI Limit Increase 

जुलाई-सितंबर 2024 के लिए CPI मुद्रास्फीति का पूर्वानुमान 4.0 फीसदी आंका गया है।

आरबीआई का कहना है कि मैन्युफैक्चरिंग में कैपेसिटी यूटिलाइजेशन बढ़ा है। प्राइवेट कंजम्प्शन लगातार बेहतर हो रहा है।

कोर महंगाई घटने के संकेत दिख रहे हैं। FY24 GDP ग्रोथ 7% का अनुमान है।

FY24 GDP ग्रोथ अनुमान 6.5% से बढ़ाकर 7% हो सकता है। FY24 रिटेल GDP ग्रोथ 7% का अनुमान है।

आरबाई ने आगे कहा कि भारत में आर्थिक गतिविधियों में जुलाई-सितंबर महीने में उछाल देखने को मिला है। सरकारी खर्च से निवेश में तेजी देखी गई है।

आरबीआई ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। रेपो रेट 6.5फीसदी पर बरकरार रखा है। MPC के 6 में से 5 सदस्य इस फैसले के पक्ष में रहे हैं।

इसके साथ ही स्थायी जमा सुविधा (Standing Deposit Facility) और सीमांत स्थायी सुविधा (Marginal Standing Facility) दरें भी क्रमशः 6.25 फीसदी और 6.75 फीसदी पर बरकरार रखी गई हैं।

RBI withdrawal of accommodation पर कायम है। RBI गर्वनर ने कहा कि नवंबर पीएम आई बढ़ा है।

जीएसटी कलेक्शन में भी ग्रोथ देखने को मिली है।

सुविचार – जीवन में तीन बातों का हमेशा ध्यान रखें…

वित्त वर्ष 2024 के लिए आरबीआई का मंहगाई का अनुमान बिना किसी बदलाव के 4.5 फीसदी रह सकता है।

सिर्फ 10 फीसदी लोगों का मानना है कि इसमें हल्की बढ़त हो सकती है।

जीडीपी के आंकड़ों पर अधिकांश लोगों का अनुमान है कि 2024 के लिए आरबीआई का जीडीपी का अनुमान 6.6 से 6.9 फीसदी के बीच रह सकता है।

 RBI Monetary Policy No Change In Repo Rate UPI Limit Increase 

दूसरी तिमाही में जोरदार ग्रोथ के कारण आरबीआई जीडीपी अनुमानों में बढ़ोतरी कर सकता है।

इससे पहले,

RBI ने अपनी पिछली चार मौद्रिक नीतियों में रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया था।

केंद्रीय बैंक ने आखिरी बार फरवरी में रेपो दर को बढ़ाकर 6.5 फीसदी कर दिया था।

मई 2022 से फरवरी 2023 के बीच रेपो रेट में 2.5 फीसदी की बढ़ोतरी की गई थी।

Live Stock Market रिकॉर्ड तूफानी तेजी के बाद बाजार फिसला

इसके साथ रूस-यूक्रेन युद्ध और उसके कारण ग्‍लोबल सप्‍लाई चेन में रुकावट आने,

महंगाई बढ़ने के कारण मई, 2022 से शुरू हुआ नीतिगत दरों में बढ़ोतरी का सिलसिला एक तरह से थम गया है।

देश के शेयर बाजार में आज बढ़त के साथ कारोबार हो रहा हैl

सेंसेक्स 167 अंक निफ्टी 59 अंक बैंकनिफ्टी 98 अंक ऊपर चढ़कर कर रहा है कारोबार l 

आज सुबह शेयर बाजार (9.19am)

बाजार की शुरुआत बढ़त के साथ हुई है। सेंसेक्स 99.52 अंक यानी 0.14 फीसदी बढ़त के साथ 69,621.21 के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

वहीं निफ्टी 42.10 अंक यानी 0.20 फीसदी बढ़त के साथ 20,943.70 के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

07 दिसंबर को भारतीय बाजारों में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 1,564.03 करोड़ रुपए की बीकवाली की।

इस दिन घरेलू संस्थागत निवेशकों ने भी 9.66 करोड़ रुपए की बिकवाली की।

 RBI Monetary Policy No Change In Repo Rate UPI Limit Increase 

मॉनेटरी पॉलिसी यानी मौद्रिक नीति की मीटिंग हर दो महीने में होती है।

चालू वित्त वर्ष 2023-24 की पहली मीटिंग अप्रैल महीने में हुई थी।FY23 में रेपो रेट 6 बार में 2.50 फीसदी बढ़ाई गई थी। RBI की MPC में छह सदस्य होते हैं।

क्या है 5 राज्यों के चुनाव नतीजों के मायने,पक्ष-विपक्ष की कौन सी चाल हुई कारागार

प्री-ओपनिंग में शेयर मार्केट (9.01am)

प्री-ओपनिंग में बाजार की शुरुआत मजबूती के साथ हुई। सेंसेक्स 192.85 अंक यानी 0.28 फीसदी बढ़त के साथ 69,714.54 के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

 RBI Monetary Policy No Change In Repo Rate UPI Limit Increase 

ग्लोबल बाजारों से मिले-जुले संकेत मिल रहे है। एशिया और डाओ फ्यूचर्स में सुस्ती देखने को मिल रही है। लेकिन गिफ्ट निफ्टी में हल्की बढ़त दिख रही है। अमेरिकी बाजारों में कल रौनक रही जबकि नैस्डैक में करीब डेढ़ परसेंट का उछाल देखने को मिल रही है।

कल कैसे रही थी बाजार की चाल सेंसेक्स 132.04 अंक या 0.19 फीसदी गिरकर 69,521.69 पर और निफ्टी 36.50 अंक या 0.17 फीसदी गिरकर 20,901.20 पर बंद हुआ है।

कमजोर ग्लोबल संकेतों के बीच निफ्टी ने गिरावट के साथ 20,900 से नीचे शुरुआत की थी।8 दिसंबर को होने वाली आरबीआई की मौद्रिक नीति बैठक से पहले पूरे कारोबारी सत्र में इसमें कंसोलीडेशन देखने को मिला।

हालांकि, अंतिम घंटे की खरीदारी से निफ्टी को 20,900 पर बंद होने में मदद मिली।

 RBI Monetary Policy No Change In Repo Rate UPI Limit Increase

Live Stock Market – बाजार में जोश पर बैंक निफ्टी बेहोश

Show More

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन www.samaydhara.com के को-फाउंडर और बिजनेस हेड है। लेखन के प्रति गहन जुनून के चलते उन्होंने समयधारा की नींव रखने में सहायक भूमिका अदा की है। एक और बिजनेसमैन और दूसरी ओर लेखक व कवि का अदम्य मिश्रण धर्मेश जैन के व्यक्तित्व की पहचान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button