breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशबिजनेसबिजनेस न्यूज
Trending

देश के MDH मसाला किंग महाशय धर्मपाल का दिल का दौरा पड़ने से निधन

महाशय धर्मपाल जी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बीते वर्ष ही व्यापार और उद्योग में उल्लेखनीय योगदान देने के लिए पद्मभूषण से नवाजा था।

MDH masala brand owner ‘mahashay’ dharampal gulati dies 

नई दिल्ली: एमडीएच मसाला (MDH masala) उर्फ महाशिया दी हट्टी कंपनी के मालिक महाशय धर्मपाल जी का आज सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो (mahashaydharampal gulati dies) गया है।

98 वर्षीय महाशय धर्मपाल जी ने आज सुबह 5.38 पर इस दुनिया को अलविदा कहा। 

गौरतलब है कि MDH मसाला (MDH Spice)ऑनर महाशय धर्मपाल जी को भी थोड़े समय पहले कोरोनावायरस हुआ था लेकिन फिर वह ठीक हो गए थे। गुरुवार,3 दिसंबर उनका हार्ट अटैक से देहांत हो गया।

देश में एमडीएच के मसाले सर्वोपरि है और इसके स्वाद देश की खास पहचान है।

महाशय धर्मपाल जी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बीते वर्ष ही व्यापार और उद्योग में उल्लेखनीय योगदान देने के लिए पद्मभूषण से नवाजा था।

 

महाशिया दी हट्टी कंपनी के मालिक महाशय धर्मपाल जी का जन्म और जीवन

धर्मपाल  गुलाटी जी का जन्म 27 मार्च, 1923 को सियालकोट (पाकिस्तान) में हुआ था। 1947 में देश विभाजन के बाद वह भारत आ गए।

तब उनके पास महज 1,500 रुपये थे।

भारत आकर उन्होंने परिवार के भरण-पोषण के लिए तांगा चलाना शुरू किया। फिर जल्द ही उनके परिवार के पास इतनी संपत्ति जमा हो गई कि दिल्ली के करोल बाग स्थित अजमल खां रोड पर मसाले की एक दुकान खोली जा सके।

 

MDH masala brand owner ‘mahashay’ dharampal gulati dies 

अपनी MDH के ऐड का खुद फेस थे धर्मपाल जी

धर्मपाल जी की मसालों की दुकान का व्यापार इतना फलने-फूलने लगा कि आज  उनकी भारत और दुबई में मसाले की 18 फैक्ट्रियां हैं। इन फैक्ट्रियों में तैयार एमडीएच मसाले(MDH Masala) दुनियाभर में पहुंचते हैं।

एमडीएच के 62 प्रॉडक्ट्स हैं। कंपनी उत्तरी भारत के 80 प्रतिशत बाजार पर कब्जे का दावा करती है। धरमपाल गुलाटी अपने उत्पादों का ऐड खुद ही करते थे। अक्सर आपने उन्हें टीवी पर अपने मसालों के बारे में बताते देखा होगा।

उन्हें दुनिया का सबसे उम्रदराज ऐड स्टार माना जाता था।

धर्मपाल  गुलाटी कक्षा पांचवीं तक पढ़े थे। आगे की पढ़ाई के लिए वह स्कूल नहीं गए। उन्होंने भले ही किताबी शिक्षा अधिक ना ली हो, लेकिन कारोबार में बड़े-बड़े दिग्गज उनका लोहा मानते थे।

यूरोमॉनिटर के मुताबिक, धर्मपाल गुलाटी एफएमसीजी सेक्टर के सबसे ज्यादा कमाई वाले सीईओ थे। सूत्रों ने बताया कि 2018 में 25 करोड़ रुपये इन-हैंड सैलरी मिली थी।

गुलाटी अपनी सैलरी का करीब 90 फीसदी हिस्सा दान कर देते थे। वह 20 स्कूल और 1 हॉस्पिटल भी चला रहे थे।

MDH masala brand owner ‘mahashay’ dharampal gulati dies 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 1 =

Back to top button